loading...

किस्मत से मिली खूबसूरत लड़की आराध्या की चूत

      Comments Off on किस्मत से मिली खूबसूरत लड़की आराध्या की चूत
loading…


सभी फ्रेंड्स को आकाश का नमस्कार। दोंस्तों, प्यार मुहब्बत के बिना तो जिंदगी अधूरी है। इसीलिए आपको अपनी कॉलेज के दिनों की कहानी सुना रहा हूँ। मैं दिल्ली में mba कर रहा था। साथ 5 दोस्त आशुतोष, पवन, अलोक, भूपेंद्र और दीपक रहते थे। हम लोगो का कॉलेज बदरपुर बॉर्डर के इंडस्ट्रियल एरिया में था। हम लोगों ने क्लास शूरु कर दी थी।

हम पांचो दोस्त अक्सर खुलके प्यार मुहब्बत के किस्से एक दूसरे को बताते थे। हम अक्सर चुदाई की बाते भी खूब करते थे। उन दिनों ओर्कुट चलता था। mba में हम पांचो दोंस्तों को लैपटॉप भी मिल गया था। इसलिए हम सभी दिन भर सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर लड़की पटाते रहते थे। कभी कभी हम सभी दोस्त साथ में नँगे होकर मुठ मारते थे। कुछ दिनों में फ़ेसबुक बड़ा पोपुलर हो गया था। हम सभी दोस्त ओर्कुट छोड़ कर अब सारा दिन फेसबुक करते रहते थे।

मुझे किताबे पढ़ने का बड़ा शौक था। उन दिनों चेतन भगत का टू स्टेट्स नावेल आया था। मैं फ़ेसबुक पर लोगों से इस बुक के बारे में जानना चाहता था। इस दौरान मेरी मुलाकात आराध्या से हो गयी। उस बंदी ने टू स्टेट्स पढ़ रखी थी। धीरे धीरे मेरी आराध्या ने दोस्ती हो गयी। वो फैशन डिज़ईनिंग का कोर्स कर रही थी। धीरे धीरे हम दोनों की दोंस्तों हो गयी। फिर धीरे धीरे हम दोनों चुदाई की ओर बढ़ चले।

दोंस्तों आराध्य बड़ी खूबसूरत थी। अच्छी खासी गोरी चिट्टी लड़की थी। कई बार तो हम सेक्सी चैट करते। मैं उससे उसके बूब्स की फोटो भेजने को कहता तो वो भेज देती। फिर उसने मुझसे मेरे लण्ड की फोटो भेजने को कहा। मैंने अपने लण्ड को खड़ा किया, बड़ी प्यारी से फोटो खींची और उसे फ़ेसबुक पर भेज दी। दोंस्तों मेरा अकाउंट तुरन्त लॉक हो गया। फिर बड़ी मुश्किल से ठीक हुआ। तबसे मैं आराध्य से गन्दी बातें व्हाट्स ऐप पर करने लगा। धीरे धीरे हम दोनों खुलने लगे। मैं उससे नहाने की फोटो, वीडियोस भी मंगाता। वो तुरन्त भेज देती। आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी पे पढ़ रहे है.

आराध्या!! अपनी चूत में ऊँगली करके एक बढ़िया सा वीडियो भेज यार!! मैंने कहा।
शाम को उसका बड़ा बढ़िया सा वीडियो आया दोंस्तों। पहली बार मैंने उसका गोरा संगमरमरी बदन देखा। क्या चीज जी!! बिस्कुल रापचिक!! बिलकुल झकास!! फ्रेंड्स आराध्या को देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया। ये हिलोरे मारने लगा। खूब बड़ा सा चौड़ा मत्था था उसका। देखने से किसी अच्छे घर की माल लगती थी। बड़ी फ्रैंक थी, मॉडर्न थी। उसने अपने कमरे में रात में सबसे छुपकर ये वीडियो बनाया था। दोंस्तों , मैं उसकी जितनी तारीफ करुँ कम है। बस इतना ही कहूंगा कि खूबसूरत लड़की हर किसी को नही मिलती। किस्मत होनी चाहिए उसके लिए।

सायद मेरी किस्मत उन दिनों बुलंद थी। आराध्या के खूब बड़े बड़े काले बाल थे जो भारतीय औरतों की शान होते है। काली आँखे थे, सुर्ख नर्म होंठ थे। चुच्चे तो बड़े कमाल के थे मन हुआ की वीडियो में घुझ जाऊ और बस पीने लग जाऊ। वो कमरे के सामने बिलकुल नँगी बैठी थी। मुझे बार बार फ्लाइंग किस दे रही थी। अपने मम्मो को हिलाकर दिखा रही थी की ये लो मेरी दौलत देख लो। मरे जा रहे थे मेरी इस दौलत को देखने के लिए। आराध्या मुझे थोड़ा ललचा भी रही थी। किसी दिन जब बिस्तर पर मिलेगी तब इसको मैं भी ललचाऊँगा , मैं सोचा। दोंस्तों, आराध्या के बूब्स तो इनके कमाल के थे की क्या बताऊँ।

बस यही लगता था कि खुदा ने उसे बड़ी फुर्सत में बनाया होगा। उसके शरीर पर कहीं कहीं हल्के हल्के तिल थे। खूब गोल गोल संतरों की तरह बूब्स थे। निपल्स के चारों ओर गोल गोल घेरे थे। मैं वीडियो देखने में तल्लीन हो गया था। फिर मैंने उसका चिकना पेट देखा, फिर चूत देखी। अब आराध्या मुठ मारने लगी। उसने अपनी दो उंगलियाँ अपनी चूत पर सहलाई। मैंने उसकी चूत के दोनों ऊँठ देखे। क्या मस्त लाल लाल होंठ थे हल्के हल्के सिकुड़े हुए थे जैसे रबर के हो। मैं तो उसका फैन हो गया। जी हुआ की अगर पास होती तो उसकी बुर को जी भरके पीता मैं।

अब आराध्या मुठ मारने लगे। उसने अपनी दोनों उँगलियाँ अपनी बुर में गहराई तक डाल दी और उँगलियाँ अंदर बाहर करने लगी। उसने कैमरा बिलकुल अपनी चूत के सामने लगा रखा था। बुर के पूरे पुरे दर्शन हो रहे थे। आराध्या मुठ मारते हुए बड़ी हसींन लग रही थी। बुर में ऊँगली जल्दी जल्दी करती थी, शिकन उसके चेहरे पर साफ दिखती थी, हल्का मुँह पिचक जाता था या कहे उत्तेज्जित हो जाता था, फिर वो बुर से ऊँगली निकालकर मुँह में डाल लेती थी और अपना रस पी लेती थी। फिर आराध्या जल्दी जल्दी अपनी बुर में ऊँगली करने लगी।

मेरा तो लण्ड खड़ा हो गया दोंस्तों ये सीन देखकर। फिर वो और जल्दी जल्दी मुठ मारने लगी। अपनी ऊँगली को लण्ड समजकर खुद को जल्दी जल्दी चोदने लगी। उसकी उँगलियाँ इतनी पतली पतली नाजुक खूबसूरत थी की क्या बताऊँ। उसने ऊँगली में एक रिंग भी पहन रखी थी। सायद वो पुरे चुदाई के मूड में थी। वो जल्दी जल्दी मुठ मार रही थी और मैं था कि उसकी उंगलियाँ ही देख रहा था। फिर वो बड़ी जोश में आ गयी और खुद को चोदने लगी। बड़ी मेहनत की उसने। बड़ी देर तक मुठ मारती रही। फिर उसका पानी निकला।

उसका वीडियो देखने के बाद मैंने 3 बार मुठ मारी दोंस्तों। मैं करता ही क्या?? इतनी हॉट लड़की पहली बार देखी थी। अब मुझे उसकी चूत किसी भी कीमत पर चाहिए थी। मैं उसको बुक्स, लिपस्टिक, सैंडिल्स गिफ्ट करने लगा। एक दिन उसके घर में कोई नही था। उसने मुझे चोदने के लिए बुला लिया। सबसे पहले तो मैंने उसे गले से लगा लिया। हम दोनों ने एक दूसरे को पहले खूब किस किया। एक दूसरे के खूब होंठ पिये। फिर हम दोनों नगे हो गए। आज कोई वीडियो नही था, बल्कि वीडियो वाली माल प्रत्यक्ष मेरे सामने थी। पहले तो मैं उसके कातिल बूब्स पर टूट पड़ा। सीधे मुँह में लेकर पीने लगा।

उफ्फ्फ्फ़!! क्या बड़े बड़े गोल गोल मम्मे थे, 36 से जरा सा साइज भले ही कम हो। पर मुझे पूरा मजा आया फ्रेंड्स। मैंने खूब मुँह चला चलाकर उसके बूब्स पिये। वो भी बिलकुल मस्त हो गयी। मैं उसको उसी के कमरे में चोदने जा रहा था। मैंने उसको उसी के बेड पर जहाँ वो रोज सोती थी उसी पर लिटा दिया और सीधा उसके भोंसड़े पर कूद गया। सीधे मैंने अपने होंठ उसकी बुर पर लगा दिए और पीने लगा। हाय!! बुर की चमड़ी का कसैला स्वाद! मैं तो आराध्या की बुर की आराधना करने लगा।

मैंने शरारत की और बुर के होंठों को हल्के दांतों से काट लिया। वो चिहुँक उठी। मैं जीभ घुमा घुमा के पूरी बुर प्रदेश को चाटने लगा और जीभ को उसकी बुर में दाखिल करने लगा। लकड़ी चुदी हुई थी। अब किसने उसे चोदा, कैसे चोदा ये मुझे नही पता। मैं तो मजे से उसकी बुर चाटने में मश्गूल हो गया। आराध्या की चूत में हलचल होने लगी। बुर गरम होकर नरम होने लगी। थोड़ा बुर का नमकीन पानी भी बाहर आने लगा। मैं पुरे जोश से पानी चाटने लगा।

मैंने चेहरा उठाकर आराध्या की ओर देखा तो सेक्स टेंशन उसके चेहरे पर साफ दिख रही थी। जब तक किसी गर्म लड़की को कसके चोदकर पूरा ना कर दो इसी तरह की सेक्स टेंशन हर लड़की को होती है। इसे दूसरी शब्द में excitement कह सकते है। मैंने उसपर कोई रहम नही किया। उसकी बुर पीता रहा। उत्तेजना में आराध्या ने मेरा लण्ड पकड़ लिया और फेटने लगी। मुझे मजा आ गया दोंस्तों।

अब मैं उसकी बुर में अपनी बीच की दोनों उँगलियाँ पेलने लगा। खूब जल्दी जल्दी उसकी बुर मथने लगा। आराध्या की सेक्स टेंशन और बढ़ गयी। हम दोनों 69 में आ गए। मैं उसकी बुर का दीदार कर रहा था, और अपनी ऊँगली कर रहा था, वहीँ वो मेरा लुंड फेट रही थी। मैंने भी इसको टेस्ट मैच की तरह खेलने का सोचा। उसकी बुर पीता, ऊँगली करता, वो मेरा लण्ड फेटती और मेरा लण्ड पीती। हम दोनों में बढ़िया पार्टनरशिप दिखाई दी दोंस्तों। अच्छी चुदाई की यही निशानी होती है दोंस्तों।

खुले विचारों वाली जब कोई लड़की पेलने खाने को मिलती है तो जिंदगी संवर जाती है दोंस्तों। हम दोनों एक दूसरे को काफी देर तक सेक्स टेंसन देते रहे। फिर मैं उसके ऊपर आ गया। अपने लण्ड को उसके भोंसड़े में लगाया और उसे लेने लगा। मैं एक तरह ने बैठकर उसको चोदने लगा। इससे बहतर ग्रिप बन रही थी। ये पोज़ मैंने पहली बार अपनाया था। मैं आराध्या को बैठकर चोद रहा था। वो मस्ती में कभी आँखे बंद कर लेती, कभी आँखे खोल देती। लगा उसने थोड़ी शराब पी ली हो। आराध्या पर चुदाई की सुमार, चुदाई की खुमारी छाने लगी। उसकी आँखे बोझिल होने लगी तो उसे चोदने में मुझे अभूतपूर्व सुख मिलने लगा।

उसके बिस्तर पर बैठकर ही मैंने उसे काफी देर हौका। फिर कुछ देर उसके iconic बूब्स पिने लगा। मैं दावे से कह सकता हूँ की यदि दिल्ली की लडकियों का न्यूड शो हो जाता तो सायद आराध्या अपने खूबसूरत बूब्स और कमाल की फिगर के कारण मिस न्यूड प्रतियोगिता जीत जाती। इतनी सुंदर थी वो। अब मैं बिस्तर से नीचे उतर गया, आराध्या को किनारे खीच लिया। उसकी गाण्ड के नीचे 2 मुलायम तकिया लगा दिया जो उसके पापा ने उसे उसके बर्थडे पर गिफ्ट किया था। उसकी मस्त चूत अब उठ गई।

सीधे मेरे लण्ड के सामने आ गयी। मैंने आराध्या के दोनों पैरों को अपने कन्धों पर रख लिया और गचागच पेलने लगा। खूबसूरत लड़की आराध्या को देखकर मैं बड़ी जोश में आ गया था।उसे सताने के लिए मैं उसके निपल्स काट लेता था, उसके मांसल कन्धे भी काट लेता था, वो उछल पड़ती थी। काफी देर तक मैंने आराध्या की चूत घिसी। तभी मेरे लण्ड के टोपे का टंका टूट गया, मेरे लण्ड से खून निकलने लगा। अब तो मैं जोर जोर से राक्षसों की तरह उसे लेने लगा। बड़ी देर तक उसकी सुरंगों में अपनी ट्रैन चलाने के बाद मैं जड़ गया।

कुछ देर का आराम हुआ। आराध्या फ्रिज से कोको कोला ले आयी। हमने पिया। फिर पेलाई सुरु हुई।
आराध्या!! गांड़ दो बेबी!! कितने दिन से गाड़ नही ली मैंने!! मैंने उससे गुजारिश की।
हम दोनों अब बिस्तर पर आ गए। मैंने उनको कुतिया बना दिया। खूबसूरत हुस्न की मालिक आराध्या दोनों हाथों को बिस्तर पर टेककर कुतिया बन गयी। मुझे प्यार आ गया। उनकी नँगी मादक पीठ, झांघों, हाथों, हिप्स, हर जगह मैंने किस करके मुहब्बत की बारिश कर दी। पुरुष और स्त्री का मिलन कितना सुखद होता है, मैंने सोचा।

loading...

जब मैं आराध्या की गाण्ड चोदने लगा तो उस बड़ा दर्द हुआ। फिर उसने आपनी मेकअप किट से वैसलीन निकाली। मैंने ढेरसारी वैसलीन अपने लण्ड पर और उसकी गाण्ड पर मल दी। मैंने कुछ देर उसकी गाण्ड में ऊँगली करके उसको ढीला करना उचित समझा। मैंने अपनी बीच वाली सबसे लंबी उगंली उसकी गाण्ड गाण्ड में करके लगा। वो सीधी गाय सी चुप चाप खड़ी रही। उसके iconic बूब्स नीचे लटक रहे थे जैसे पेड़ में आम। हलाकि मुझे बूब्स पिने का मौका नही मिला। क्योंकि मैं बहुत बिजी था।

मेरी बीच वाली ऊँगली काफी लंबी थी। बस जरा सी मेरे लण्ड से छोटी थी। मैंने देखा की अपनी ऊँगली से आराध्या की गांड़ चोदने पर भी उसे अच्छा खासा सहवास सुख प्राप्त हो रहा था। मुझे सन्तोष हुआ ये देखकर। मैं लगन से अपनी बीच वाली ऊँगली से अंदर गहराई तक उसकी गाण्ड चोदने लगा। सरारत से जल्दी जल्दी ऊँगली चला देता तो आराध्य को चर्म सुख orgasm मिल जाता। बड़ी देर तक मैंने अपनी ऊँगली से उनकी गाण्ड चोदी। जब लगा की अब गांड़ थोड़ी लूस हो गयी है तो मैंने लण्ड पेल दिया उसकी गांड में।

अब बड़ी आराम से मेरा लौड़ा उसकी गाण्ड में चला गया। मैं सटसट करके उसे चोदने लगा। फ्रेंड्स, आराध्या की चूत के मुकाबले उसकी गाण्ड कई गुना टाइट थी। बड़ी महनत से मेरा लण्ड अंदर बाहर जा रहा था। मुझे बहुत मजा मिल रहा था। सायद तभी पंजाबी भी अपनी औरतों की गाण्ड जादा मारते है, चूत कम मारते है। मैं मजे से उसे कुतिया बनाके चोदने लगा। धीरे धीरे रफ्तार बनी। मैं जल्दी जल्दी उसे ठोकना सुरु किया। वो मादक सिसकारियां लेने लगी। मैं इतनी तेज रफ्तार पकड़ ली की बेकाबू हो गया। मैं चट चट उसके हिप्स पर चपट मारने लगा। गाय की तरह 4 टाँगों पर खड़े खड़े जब उसके हाथ दर्द होने तो वो बिस्तर पर धरासाई हो गयी। मैंने भी उसे नही छोड़ा। हम दोनों की गाण्ड चोदते चोदते बिस्तर पर गिर गए। मैं बिना रुके उसकी गाण्ड चोदता रहा।

ये नया पोज़ बन गया था। फ्रेंड्स अब तो यही दिल कर रहा था कि मैं उसकी चूत ना चोदूँ, बल्कि गांड़ ही चोदता रहूँ। उस दिन हम दोनों लव बर्ड्स से बस प्यार ही प्यार किया। उसके घर वालों के आने से पहले मैं सही सलामत लौट आया। दोंस्तों, आराध्या के साथ बिताए वो मोहब्बत के पल मैं पूरी लाइफ नहीं भूल सकता। mba खत्म होने का बाद ही हम दोनों टच में रहे।

Hot mast xxx adult sex kahani in hindi top very new sexy story in hindi please read online Beautiful Girl Sex Story, Khubsurat ladki ki chudai ki kahani

[Total: 234    Average: 3.3/5]

loading...