तांत्रिक ने पूरी रात चोदा, पति और सास ने कहा चुदवाने को

loading...

मेरा नाम कमोलिका है मैं 24 साल की हूँ। कल पूरी रात मैं एक तांत्रिक से / साधु से चुदी आज मैं ये अपनी कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर लिख रह हूँ। आज मैं आपको अपनी पूरी कहानी बताउंगी कैसे मेरे पति ने खुद कहा चुदवा तांत्रिक से कैसे मेरी सासु माँ बोली, आज खुश कर देना साधु बाबा को कोई नखरे नहीं करना जितना खुश करेगी उतना अच्छा। यहाँ तक की मेरी सास और मेरा पति दोनों ने कमरे में भेजने से पहले ही मुझे समझाया की जो भी बोले मना मत करना। जैसे कहे साधु बाबा, नखरे नहीं दिखाना। दोस्तों रात भर ऐसे मेरी चुदाई करि साधु ने आपको अपने शब्दों में बताने की कोशिश कर रही हूँ। मैं मना भी नहीं कर पाई और तांत्रिक ने वो सब मेरे साथ किया जो कभी मेरा पति ने भी नहीं किया। अब मैं सीधे कहानी पर आती हूँ।

loading...

मेरी शादी के चार साल हो जाने पर भी जब मुझे कोई बच्चा नहीं हुआ तो डॉक्टरी इलजा कराया। डॉक्टर ने कहा ट्यूब ब्लॉक है, तांत्रिक से दिखाया तो बोला की कोख बांध दिया है। और सच पूछिए तो मेरा पति मुझे सही से चोद ही नहीं पाता है। जब लौड़ा ही सही से नहीं घुसेगा और चुदाई नहीं होगी और अच्छे से वीर्य चूत के अंदर नहीं जाएगा तो बच्चा कैसे होगा। बच्चा होने के लिए भी सही हथियार की जरुरत होती है। दोस्तों दिक्कत क्या है वो सिर्फ मुझे पता है. पर समाज भी ठीक है डॉक्टर भी ठीक है और तांत्रिक भी ठीक है सब अपने तरीके से ही कहेंगे क्यों की सबको ही अपना काम निकालना है।

दोस्तों जब मेरी सास तांत्रिक से मिलकर आई तो अपने बेटे को बताई की तांत्रिक कह रहा है पूरी रात पूजा करना पड़ेगा अपने घर पर। उन दोनों में काफी विमर्श हुआ और वो दोनों राजी हो गए तांत्रिक से तंत्र साधना के लिए। वो दोनों फिर फिर मुझसे बोले देखो बहु हम डॉक्टर भी दिखते हैं और तांत्रिक भी ताकि जल्द से जल्द तुम्हारी सुनी गोदी में किलकारियां गूंजे। मैं ना सोचते हुए भी मना नहीं कर पाई और तैयार हो गई बोली जो करना है करो। क्यों की मुझे पता है मेरे कोई कदम उठाने से भी कुछ नहीं होगा क्यों की मेरा मायका भी कमजोर है माँ है नहीं पापा किसी और औरत के चक्कर में पागल हुए पड़े हैं भाई है जो खुद ही भागकर एक मुसलमान औरत के शादी किये हैं। तो आप भी बताओ मैं कहा जाऊं ?

तंत्र पूजा

दोस्तों तांत्रिक आया और बोला शनिवार के दिन पूजा होगा। उन्होंने कई सारे सामान लिखवा थे और बोले ये आप पहले ही ले आना। और हाँ आप माँ बेटा दिन भर पूजा में तो रहना पर निशा पूजा (रात्रि पूजा ) में आप लोग नहीं रहेंगे सिर्फ बहु ही रहेगी। आप दोनों घर में नहीं रहोगे मुझे पूरा घर बांधना है और बहु का कोख खोलना है। मेरे पति और सास दोनों ही मान गए। बगल में ही एक होटल लीला है वही उन्होंने कमरा बुक करा लिया रात के लिए।

शनिवार के दिन पूजा दिन भर चलता रहा। तांत्रिक बहुत ही हठ्ठा कट्ठा इंसान जो करीब तिस साल के करीब का था बड़ी बड़ी मूछें दाढ़ी बाल और गठीला बदन लंबा चौड़ा। काला कपड़ा पहनकर पूजा दिन भर किया वो मुझे शनिवार के दिन पूरा सज संवर कर रहने को कहा मैं भी करवाचौथ की तरह ही सजी संवरी दिन भर बिना अन्न जल के रही। रात में वो मुझे छत पर ले जाकर निशा पूजा के लिए तैयार किया चारो दिशाओं में जल डाले दीपक जलाया और चारो दिशाओं में सरसों और नमक छिड़का। निचे आकर मुझे पानी पिलाया और फिर हम चारो भोजन किये। भोजन के बाद मेरी सास और पति दोनों सोने होटल चले गए।

अब मुझे कमरे में ले गया अगरवती घुप जलाया, 51 दीपक जलाये, और कई सारे रंगोली की तरह बनाया फर्श पर। कमरे के एक साइड गद्दा लगाया पूरा कमरा दिव्य और भयानक लग रहा था। तांन्त्रिक नंगा हो गया और मन्त्र कहने लगा और जितने पानी के छींटे मरता मेरे ऊपर मुझे एक एक कर के सारे कपडे उतारने पड़ते। कुछ ही देर में मैं पूरी नंगी हो गई। और तांत्रिक के पास बैठ गई।

तांत्रिक मेरे चूचियों पर घी और शहद लगाया थोड़ा चीनी लगाया और चाटने लगा। तांत्रिक का लंड खड़ा हो गया था। बड़ा हो गया था। वो मेरे चूचियों को इतना चाटा की मैं खुद कामुक हो गई। उसके बाद वो मुझे लिटा दिया वही दीपक के पास और फिर मेरी चूत में देसी शराब डाला और फिर चाटने लगा। अब मुझे लगने लगा की आज रात यही सब चलेगा और मैं चाह कर भी मना नहीं कर सकती तो मुझे लगा साथ देने में ही फायदा है। मैं निर्विरोध सब कुछ करवा रही थी।

फिर तांत्रिक ने अपने लौड़े पर शहद लगाया और मुझे चाटने कहा दोस्तों लौड़ा उसका बहुत बड़ा और मोटा था। जैसा की आप नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर कई सारे विज्ञापन में देखते हैं। फिर उसने शराब पिया और मुझे भी पिलाया बोला प्रसाद है। मैं भी नशे में आ गई थी वो भी नशे में थे, वो मेरे पुरे शरीर पर शराब लगाया और चाटा सबसे अजीब तो तब लगता था जब वो मेरी कांख में शराब डालता और चाटता ऐसा करने से मैं और भी ज्यादा कामुक हो रही थी।

दोस्तों फिर क्या बताऊँ वो बोला अब पूरी रात करीब चार बार मुझे अपना वीर्य तुम्हारे अंदर डालना पडेगा। उसने दवाई खेल एक तेल अपने लौड़े पर लगाया। और फिर मेरे दोनों पैर अपने कंधे पर रखा और फिर अपना लौड़ा मेरी चूत के छेद पर रहा। मेरी चूत काफी गीली हो गई थी। वो अपना लौड़ा हाथ से पकड़ कर सेट किया और घुसा दिया। दोस्तों उसने मेरी चूत में लौड़ा ऐसे घुसाया लगा मेरी गांड फट गई। चूत पानी पानी हो गया था और मेरे गांड तक उसका लौड़ा जा रहा था। एक तो मैं ऐसे ही मस्त गांड वाली औरत हूँ चूचियां बड़ी बड़ी कर्वी बनावट की औरत हूँ। आज मुझे मस्त लौड़ा मिला था चुदवाने को।

दोस्तों फिर क्या बताऊँ वो मुझे चोदने लगा। वो मुझे पागलों की तरह चोदने लगा। मेरे चूत पर जोर जोर से धक्के देता मेरी चूचियों को दबोचता, मेरे कांख पर जीभ फेरता मेरे होठ को चूसता, मेरी गांड में ऊँगली डालता। मुझे तो जन्नत में पहुंचा दिया था उसने। कभी खड़ा कर के कभी बैठ के कभी पीछे से कभी आगे से मुझे चोदता रहा. करीब एक घंटे तक चोदा फिर पूजा किया फिर दारू पिया फिर टेबलेट खाया। फिर चोदा।

पूरी रात मुझे चार बार चोदा सुबह 5 बजे मुझे अंतिम बार चुदाई की। फिर हम दोनों नंगे ही नहाये एक साथ फिर उसने पूजा किया करीब आठ बजे मेरे पति और माँ आई।

मुझे पहली बार किसी मर्द ने चोदा और खुश किया भले वो तांत्रिक ही क्यों नहीं था। मैं दूसरी कहानी जल्द ही लिखूंगी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर।

loading...

Hindi Sex Story

Hindi Sex Stories: Free Hindi Sex Stories and Desi Chudai Ki Kahani, Best and the most popular Indian top site Nonveg Story, Hindi Sexy Story.