पड़ोसी रीना भाभी की चुदाई

Devar Bhabhi Sex, Bhabhi Sex Story, Dever Bhabhi Story, Bhabhi Ki, Dever aur Bhabhi,

हैलो दोस्तो में आप का दोस्त हर्ष। फिर से आप के मनोरंजन के लिए नई कहानी लेकर आया हूं। आप ने मेरी पिछली कहानी को पसंद किया इसके लिए आप का बहुत-बहुत धन्यवाद दोस्तो ये कहानी मेरे घर के सामने रहने वाली भाभी की है उसका पति ड्राईवरी करता था जो कि ज्यादा तर समय बहार ही रहता है। एक दिन जब रीना को पहली बार देखा तो मेरा दिल धक करने लगा। और में पहली ही नजर में रीना का दीवाना बन गया। में सुबह शाम अपने घर की खिड़की खोलकर इसी इंतजार में बैठा रहता की रीना कब बहार निकले कब में उसके रूप को निहार सकु। दिन यूहीं गुजरते गए। इस दौरान मेरे मन में रीना को पाने की चाहत थी। उधर रीना भी मेरे इंतजार में पलके बिछाए रहना अच्छा लगने लगा। यू कह ले की रीना का यू इंतजार करना मेरे तन बदन में आग लगा रही थी। मेरी तन कि आग भी रीना के मन में पहुंचकर उसकी चुदाई की वासना धीरे धीरे बड़ा रही थी। इस तरह से में रीना से बात करने लगा। हमारी रोज बात भी। हो रही थी मगर मुझे तो रीना की जवानी का रस पीने की इच्छा बहुत हो रही थी। और ये मौका मुझे एक दिन मिला जिसे मैने रीना की खूब चुदाई की। एक रोज मेरी कालोनी में रात को 9बजे लाइट गुल हो गई थी। में जब 9:30बजे घर पहुंचा तो ताला खोलने के बाद पलट गया और रीना के दरवाजे पर दस्तक दे दी। दरवाजा खुला और रीना वहा आई। भीतर कमरे में एक लैंप जल रहा था। मैने एक नजर उसके पीछे कमरे में दौड़ाई रीना के अलावा वहा कोई नहीं था। रीना ने प्रश्नवाचक नजर से मुझे देखते हुए कहा कहिए क्या काम है। मगर उसका दिल बुरी तरह से घबरा रहा था मैने कहा माचिस होगी? जी अभी लाई ये कहकर रीना पलट गई। मैने रीना से पूछा भाई साहब दिखाई नहीं दे रहे। रीना ने कहा वो बहार गए है 2-3 दिन में लौटेंगे मैने कहा आप को अकेले डर नहीं लगता क्या रीना ने कहा बिल्कुल नहीं। फिर यहां के लोग तो बहुत अच्छे है। हा सो तो है। में डबल मीनिंग शब्दों में बोला तभी तो रात को दरवाजा खुलवाकर माचिस मागने पर भी गुस्सा नहीं होते। जवाब देने की बजाय रीना हंस पड़ी फिर धिर से बोली आप बाते बहुत अच्छी करते है। मैने कहा शुक्रिया वैसे मुझे अपनी इस खुभी का पता नहीं था। रीना फिर हंस पड़ी फिर बोली चाय पिओगे। मैने कहा ये तो मेरी किस्मत है जो आप के हाथो की चाय नसीब होगी। उसने कहा अभी बना कर लाती हूं। मैने कहा आप का इरादा दरवाजे पर खड़े हो कर ही चाय पिलानी है क्या? उसने मुझसे माफ़ी मांगी और कहा अंदर आ जाइए। मेरा मन खुशी से उछल रहा था कि आज तो रीना की चुदाई करके ही रहूंगा। में कमरे मे जाकर एक स्टूल पर बैठ गया रीना दो कपो में चाय लाई एक मुझे दिया दूसरा कप लेकर मेरे सामने बैठ गई चाय के दौरान हम हम दोनों बातचीत करते रहे फिर अचानक ही रीना पूछ बैठी चाय कैसी बनी है। मैने कहा बहुत अच्छी है हो भी क्यों नहीं चाय बनाने वाली भी तो इतनी खूबसूरत है। रीना ने कहा में खूबसूरत लगती हूं आप को ये बात कहते हुए रीना शरमा भी रही थी। मैने कहा दुनिया में आप बहुत खूबसूरत हो जो की हर लड़का चुदाई से पहले लड़की या किसी और को कहता है। झूठे कहीं के रीना मुंह बनाकर बोली। में सच कह रहा हूं ये कहते हुए मैने उसका हाथ पकड़ लिया। क्या कर रहे हो छोरो रीना कसमसाई ऐसे केस छोर दू अभी तो शुरुआत है। हाय देय्या और भी कुछ पकड़ोगे जाहिर है यू खाली पीली हाथ पकड़ने से क्या फायदा तुम्हे कमरे में नहीं बुलाना था। रीना प्यार से भरे शब्दों में कहा। अब गलती ही गई है तो सजा तो भुगतनी पड़ेगी मैने ये बात रीना से कहीं। यह कहकर में अपनी जगह से उठा और रीना को अपनी बाहों में भर लिया। अरे क्या कर रहे हो? प्यार म
में शादी शुदा हूं। मैने कहा मुझे तो सिर्फ भूख लगी है खाना खिला दो तो जीवन भर तुम्हारे कदम चुमुगा तुम्हार गुलाम बनकर रहुगा जो कहो वो तुम्हारा दास करेगा पहले तो रीना ने मना किया फिर रीना ने कहा पहले दरवाजा तो बंद कर लो। में जल्दी ही दरवाजा बंद करके रीना के करीब आ गया और उनको अपने गले से लगा लिया और उनकी पीठ पर हाथ फेर कर रीना को शांत करने लगा। मैंने जैसे ही रीना को गले से लगाया, तो उसने भी मुझे कसके पकड़ लिया. आज मौका भी सही था. उनके घर में हम दोनों के अलावा और कोई नहीं था. मेरे हाथ रीना की पीठ पर चलने लगे थे. रीना के हाथ भी मेरी कमर पर चलने लगे और उन्होंने अपना चेहरा मेरे सीने पर टिका दिया. उसकी गरम सांसें मुझे एक सेक्सी सा अहसास दिलाने लगी थीं. मैंने महसूस किया कि रीना के चूचे मेरे सीने में दब रहे थे. इस सबसे मेरे लंड ने खड़ा होना शुरू कर दिया था. दो तीन पलों में ही मेरा लंड पेंट में तंबू बना कर खड़ा हो गया. इस बात का पता रीना को भी चल गया … क्योंकि मेरे लंड के उभार को वो अपनी चूत के ऊपर महसूस कर रही थीं. रीना मुझसे चिपकी रहीं.
मैंने उनसे कहा- चलो आप कुछ देर आराम कर लो.
रीना उठ कर खड़ी हो गईं. मैं उनको देखने लगा. रीना भी मुझे वासना भरी निगाहों से देखने लगी थीं. रीना ने मुझसे कहा- चलो अन्दर बैठते हैं. मैं उनके कहने पर बेडरूम में आ गया और उनके साथ बेड पर बैठने लगा. तभी रीना ने मुझे खड़ा किया और एकदम से मेरे सीने से लग गईं. मैं समझ गया कि आज इनको मेरा लंड चाहिए. मैं उनको चूमने लगा रीना भी मुझे साथ देने लगीं. मैंने उनको एक मिनट से भी कम समय में नंगी कर दिया. अब रीना सिर्फ़ पिंक ब्रा और पैंटी में रह गई थीं. मैंने उनको बिस्तर पर बैठा दिया. रीना ने भी बैठे हुए ही मेरे सारे कपड़े निकाल दिए और मैं अंडरवियर में रह गया. फिर हम दोनों एक दूसरे को ज़ोर से किस करने लगे. मैं रीना के मम्मों को दबाने लगा और रीना ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां लेने लगीं. रीना- इसस्स … अह ईश धीईईरेए … करो प्लीज़ …

इसके बाद जरूर पढ़ें हॉट सेक्स स्टोरी  सगे बाप की करतूत अपनी बेटी को लंड चटवाया फिर चोदा

मैंने रीना की ब्रा खोल दी और उनके मम्मों को आज़ाद कर दिया. रीना ने अपने दूध मेरी आंखों के सामने एक बार मस्ती से हिला क्या दिए कि मैं तो मानो बुरा गया. मैंने झट से उनके एक दूध को अपने मुँह में भर लिया और पीने लगा.
साथ ही रीना के दूसरे मम्मे को जोरों से दबाने लगा. रीना बस ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां ले रही थीं- इस्स … ऊऊह एयायाह …
मैं ज़ोर ज़ोर से रीना को किस करते हुए एकदम पागल हुआ जा रहा था. फिर मैंने उनको बिस्तर पर गिरा दिया और उनके ऊपर चढ़ गया. मैं सबसे पहले नीचे उनकी चूत पर आया और पैंटी के ऊपर से ही उनकी चूत पर चुम्मी ले ली, जिससे उनकी चूत ने उसी पल पानी छोड़ दिया. इसके बाद मैंने उनकी पैंटी निकाल दी और उनकी चूत को जीभ से चाटने लगा. रीना भी अपनी कमर उठा उठा कर मुझसे अपनी चूत चटवा रही थीं. उनको फिर से उत्तेजना भरने लगी थी. कुछ पल बाद मैंने उनकी तरफ देखा, तो उनकी आंखों में एक मस्त प्यास सी दिखाई दी. मैंने लंड हिलाते हुए उनको दिखाया तो रीना उठ कर बैठ गईं. मैं समझ गया. अब हम दोनों 69 की अवस्था में आ गए थे. मेरे खड़े लंड को देख कर रीना के चेहरे पर ख़ुशी दिखाई देने लगी थी. उन्होंने मेरे लंड की तरफ अपना मुँह किया और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगीं.
रीना मेरे लंड को बड़े मस्त तरीके से चूस रही थीं. मैं भी रीना की चूत को नीचे से चाट रहा था. चूत को चाटने के साथ में मैं एक उंगली भी उनकी चूत में अन्दर बाहर कर रहा था.
थोड़ी देर में ही हम दोनों झड़ गए. मैं रीना की छूट का सारा नमकीन पानी पी गया और रीना ने भी मेरे लंड के पानी को पीकर लंड चाट कर साफ़ कर दिया. वो मेरे लंड को चाटती ही रहीं, जिससे मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा था. थोड़ी देर में रीना ने मेरे लंड को चूस कर फिर से खड़ा कर दिया. अब हम दोनों किस करने लगे और मैंने रीना की चूत को फिर से चाट कर उनको गर्म कर दिया.
अब रीना बोलीं- मुझसे रहा नहीं जा रहा … प्लीज़ तुम जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दो … और मुझे चोद दो मैं न जाने कितने दिनों से प्यासी हूँ.
ये सुनते भी मैंने कहा कि मेरे पास तो कंडोम है ही नहीं … कुछ हो गया तो?
इस पर रीना ने बोला- उसकी ज़रूरत नहीं है … तुम मुझे ऐसे ही चोद दो. अपने लंड को मेरी चूत में डाल दो. मैंने रीना को चुदाई की पोजीशन में लिटाया और अपने लंड को उनकी चूत पर टिका कर एक जबरदस्त शॉट दे मारा. मेरा लंड रीना की चूत को चीरता हुआ अन्दर चला गया. रीना को तेज दर्द होने लगा ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ और उनकी आंखों से पानी आने लगा. उनका दर्द देख कर मैंने उनकी तरफ देखा, तो रीना ने इशारे से चुदाई करते रहने को कहा. मैंने अपने होंठ रीना के होंठों से लगा दिया और उनको किस करने लगा. थोड़ी देर में रीना नॉर्मल हो गईं. वो अपनी कमर उठा कर मेरा लंड अन्दर लेने लगीं. मैं समझ गया और फिर मैंने रीना की चूत में धक्के लगाने चालू कर दिए.
रीना ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगीं- एयेए इस्स … और ज़ोर से चोदो मुझे  आह … एयेए … मज़ा आ रहा है … आज से तुम ही मेरी चूत के मालिक हो … आह … और ज़ोर से फक मी हार्डर …
मैं रीना की चूत में ज़ोर ज़ोर से शॉट मारने लगा. कुछ देर बाद मैंने रीना को डॉगी स्टाइल में आने को कहा. वो झट से कुतिया बन गईं. मैंने पीछे से उनकी चूत में अपना लंड पेला और उन्हें ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. रीना भी अपनी गांड मेरे हर शॉट के साथ आगे पीछे कर रही थीं. थोड़ी देर में रीना ने मुझे नीचे आने आने के लिए बोला. मैं बिस्तर पर लेट गया और रीना मेरे लंड की सवारी करने लगीं. इस दौरान मैं भी नीचे से उनका साथ दे रहा था.
थोड़ी देर में रीना की चूत ने पानी छोड़ दिया और वो निढाल होकर मेरे ऊपर गिर गईं. उनके चेहरे पर पूर्ण संतुष्टि के भाव थे. वो मेरे सीने पर किस कर रही थीं. लेकिन मेरा अभी हुआ नहीं था, सो मैंने रीना को नीचे लिटा लिया और उनकी चूत में लंड डाल कर ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा. काफी देर की चुदाई में रीना कई बार झड़ी थीं.
अब मैंने कहा कि रीना मेरा होने वाला है … पानी किधर निकालूं?
रीना ने कहा- मेरी चूत में ही झड़ जाओ. मैं तेज तेज धक्के देने लगा और कुछ ही देर में रीना और मैं एक साथ झड़ गए. मैं उनके ऊपर ही लेटा रहा.
अब रीना ने मुझसे पूछा- अब बताओ तुमको मुझमें क्या अच्छा लगा? मैंने रीना की चूची चूसते हुए कहा- पहले तो ये आम अच्छे लगते थे, मगर अब आपकी चूत पसंद आ गई है.
रीना मुझसे चिपक गईं और बोलीं- आज से मेरा सब कुछ तुम्हारा है. आज की चुदाई से रीना बहुत खुश थीं. इसके बाद जब भी हम दोनों को मौका मिलता है, हम दोनों चुदाई कर लेते हैं. तो दोस्तो, ये थी रीना की चूत चुदाई स्टोरी. मुझसे कोई ग़लती हो गई हो, तो माफ़ कर देना. रीना के साथ चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी, मुझे कमेंट ज़रूर करके बताना.
[email protected]