पड़ोसन और उसकी दोनों ननद की चुदाई पार्ट – 1

पड़ोसन और उसकी दोनों ननद की चुदाई पार्ट – 1


जैसा की मैंने कल आपसे वादा किया था की कल की मैं आज आपको आमना की चुदाई कैसे की थी, अगर आप मेरी पार्ट वन नहीं पढ़ा है तो पहले थोड़ा इंट्रोडक्शन दे दू, की मेरे पडोश में एक फैमिली रहती है जिसमे ४ लोग रहते है, हॉट पडोशन उसका पति और उसकी दो ननद, मैंने कमसीन आमना की चुदाई उसकी भाभी को चोदने के पांच दिन बाद का ही, आपको पता है की मैं फ्लैट में अकेले ही रह रहा हु क्यों की मेरी वाइफ होम टाउन गयी है, जब आमना की भाभी मेरे यहाँ नहाने आयी थी क्यों की उसके टंकी का पानी खत्म हो गया और और कुछ ऐसा हुआ की हम दोनों में सेक्स सम्बन्ध बन गए.

लेकिन आमना को चोदने में इतना मज़ा आया की उसकी चुदाई यादगार बन गयी है मेरी ज़िंदगी में, शायद में कितनी भी चुदाई कर लू लेकिन कुछ एहसास होता है जो की भुला नहीं जा सकता.

एक दिन आमना की भाभी और उसकी बहन दोनों मार्किट गयी थी, मैं अकेले ही अपने कमरे में बैठा था तभी बेल्ल बजा मैं जाकर दरवाजा खोला तो देखा आमना खड़ी थी, वो बोली क्या कर रहे हो? मैं कहा कुछ भी नहीं गाने सुन रहा हु, कुछ काम है? मैंने पूछा बोली नहीं, भाभी घर पे नहीं है, मैं अकेली हु, मन नहीं लग रहा है, वो लोग ३ घंटे बाद आयेगे, शाहदरा मासी के यहाँ गए है. मैंने कहा आ जाओ, और वो अंदर आ गयी, मैं बेड पे बैठा और वो बेड के बगल में प्लास्टिक का चेयर था वो उसपे बैठ गयी, वो अपना दुप्पटा चवा रही थी, मैंने कहा दुपटा चवा रही है क्या बात है, बोली कुछ नहीं खाई हु इसलिए और हसने लगी, मैंने कहा अच्छा कुछ खायेगी तो बोल बोली खिलाना है तो पिज़ा खिला दो. मैंने कहा फिर तो तुम्हे इंतज़ार करना पडेगा, बोली कोई बात नहीं ३ घंटे तक तो मैं आज़ाद हु, मुझे कुछ शक हुआ ये लड़की कुछ बहकी बहकी बात कर रही है. मैंने डोमिनो को फ़ोन किया और चीज़ पिज़्ज़ा का आर्डर किया, फिर इधर उधर की बात कर रहे थे, पर उसका अंदाज़ कुछ सेक्सी लग रहा था, मेरे बगल में बैठ के वो अंगड़ाई ले रही थी.

कामुक और हॉट सेक्स कहानी  ससुराल में चुदक्कड़ साली की चुदाई कहानी

मैंने कहा क्या बात है आमना शरीर में दर्द कर रहा है क्या? बोली नहीं पता नहीं जब से आयी हु, ऐसा ही लग रहा है, मैंने कहा जवान हो गयी है इसलिए ऐसा लग रहा है? बोली अच्छा हो सकता है, जब कोई रोमांटिक मूवी भी देखती हु तो ऐसा ही लगता है, तो मैंने कहा आज मुझे देखा के लग रहा है क्या बात है? तो वो बोली आप बड़े ही सुन्दर हो, किसी को भी अंगड़ाई आ जायेगी. मैं समझ गया की गेंद मेरे पाले में है, मैंने कहा अच्छा और उसके गाल पे एक चुति काट ली वो कुछ भी नहीं बोली, फिर मैं कोई ना कोई बहन या तो बात करता और उसके गाल को टच कर लेता वो कुछ भी नहीं कह रही थी, अब तो मुझे ही अंगड़ाई आने लगी मेरा लैंड खड़ा हो गया और थोड़ा सा लंड से लसलस सा पानी निकलने लगा, मेरी साँसे भी नार्मल नहीं थी, ना तो उसकी ही साँसे नार्मल थी.

फिर कोई बात हुई और वो अपनी ऊँगली से मेरे पेट में छु दी, मैंने रिप्लाई किया मैंने भी वही ऊँगली लगाई जहा वो मुझे लगाई थी, फिर एक बार वो एक बार मैं वो मेरे सीने पे ऊँगली लगाई तो मैंने उसके छोटे छोटे बूब पे ऊँगली लगाएगी वो सिहर गयी, और हँसाने लगी, मैंने कहा मज़ा आया वो बोली अभी नहीं, मैंने समझ गया ग्रीन सिग्नल, आमना भरपूर जवानी में थी वो १९ साल की लड़की थी, लम्बी पर पतली सुडोल शरीर और उसकी चूचियाँ बिलकुल कोसको की बॉल की तरह थी, छोटी टाइट, मैंने फिर ऊँगली लगाई वो भी ऊँगली लगाई, तभी दरवाजे पे किसी के आने की आवाज़ थी, वो खड़ी हो गयी और बाहर जाके देखि क्यों की उसका भी फ्लैट मेरे फ्लैट के दरवाजे के सामने उसके फ्लैट का दरवाजा था. वो वापस आयी बोली कोई नहीं है.

वो जैसे अंदर आयी मैंने उस समय बेड पे पैर लटका के बैठा था, वो उछाल के मेरे गोद में बैठ गयी और दोने एक हाथ को मेरे गर्दन पे घुमा के सहारा ले ली, उसका चूच मेरे मुह के सामने था, उसकी कांख की स्मेल काफी सेक्सी और अपने तरफ खीचने सा लगा, मैंने उसके बूब को एक हाथ में लिया और दबाया वो सहम सी गयी, मैंने उसके गाल में एक छोटी सी किश दी वो सिहर रही थी, उसके होठ फड़फड़ा रहे था, उसका बदन भी काँप रहा था, शायद पहली बार किसी मर्द का स्पर्श हुया था, मैंने उसके समीज को ऊपर उठाया वो अंदर टेप पहनी थी ब्रा नहीं था, मैंने अन्दर से पकड़ा और दबाया वो आनंद से भाव बिभोर हो गयी. मैंने उसके सलवार का नाड़ा खोल दिया, वो वो सकपका गयी, शायद वो डर भी रही थी और शर्म भी आ रही थी मैंने हाथ उसके बूर में डालने की कोशिश की तो वो बोली ना ऐसा मत करो मैंने भी कुछ नहीं किया और वापस चूची दबाने लगा, वो सीई सीएई सीईई आआआह आआह कर रही थी,

कामुक और हॉट सेक्स कहानी  उत्कर्ष, फिर उसके दोंस्तों से चुदवाकर मैं इंद्र की मेनका बन गयी

मैं बाहर का मुआयना करने गया की कोई आस पास है तो नहीं, आसपास कोई नहीं था, फिर वापस कमरे में आया देखा आमना का नाड़ा खुला ही हुआ है, और वो बेड पे लेटी थी, मैंने कहा आमना दोगी? वो बोली हां, पर दर्द नहीं होना चाहिए मैंने कहा ठीक है, वो बोली धीरे धीरे करना मैंने कहा ठीक है, मैंने उसके सलवार के निचे किया वो पेंटी भी नहीं पहनी थी, जांग उतना मोटा नहीं था, मैंने दोनों पैर को अलग अलग किया तो बीच में एक छोटा सा बूर था, मुस्किल से उसमे ऊँगली तक नहीं जा सकती थी, बूर पे कोई बाल भी नहीं था, मैंने अपने लंड में थोड़ा सा थूक लगाया और थोड़ा उसके बूर पे भी, और मैंने एक झटका दिया वो चीख पड़ी, मैंने उसको थोड़ा सहलाया और फिर कोशिश की और आमना के बूर में पूरा लंड चला गया, वो दर्द से रो पड़ी और बोल रही थी “जालिम” मैंने उसको किश किया और फिर से धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा, वो करीब पांच मिनट बाद मज़े लेने लगी, फिर मैं उसके पैर को ऊपर उठा दिया उसके गांड पे तकिया लगाया और कस कस के चोदने लगा, वो हाय हाय हाय औह मर गयी, हाई हाई, उफ़ उफ़ उफ़ कर रही थी.

करीब दस मिनट तक इस पोजीशन में चोदने के बाद मैं निचे आ गया और उसको ऊपर अपने लंड पे बैठाया वो धीरे धीरे कर के मेरे पुरे लंड पे बैठ गयी और अपने अंदर समा ली, और हुस के बोली गायब हो गया आपका हथियार, मैंने कहा दिखाता हु कहा है मेरा हथियार थोड़ा उसको उछाला और एक झटका दिया, फिर वो झटके पे झटके ले ले के चुदवा रही थी, वो दो बार झड़ चुकी थी, फिर मेरी बारी आयी और मैंने अपना लंड उसके बूर से निकाल के उसके मुह पे पिचकारी की तरह दाल दिया वो जीभ लगा के टेस्ट ली और बोली नमकीन लग रहा था, बोली मज़ा आ गया पर आप मेरे से एक प्रोमिस करो ये बात किसी को नहीं बताना, मैंने कहा आमना मैं प्रोमिस करता हु, ये बात सिर्फ मेरे और तुम्हारे बीच ही रहेगा,

कामुक और हॉट सेक्स कहानी  Naukrani Ki Chudai, नौकरानी चुदाई

मैंने आमना और उसकी भाभी को करीब एक महीना तक चोदता रहा, जब भी मौक़ा मिलता, रोज रोज किसी ना किसी को चोद ही लेता, अब मेरे नज़ार में उसकी छोटी बहन 18 साल की जैस्मीन थी और मैं उसको भी चोदने में कामयाब हो गया, मैं जैस्मीन की चुदाई कैसे की वो मैं आपको पड़ोसन और उसकी दोनों ननद की चुदाई पार्ट – 2 में कल बताऊंगा वो तो आमना से भी सेक्सी थी, बस इंतज़ार कीजिये दूसरे दिन के लिए आपको ये कहानी कैसे लगी रेट जरूर करे.