मेरे होने बाले बच्चे का बाप मेरा छोटा देवर है

मेरा नाम राधिका है मैं २२ साल की बहुत ही सुन्दर औरत हु औरत इसलिए की मैं शादी शुदा हु, मेरे शादी के करीब तीन साल हो जाने के बाद भी अभी कोई बच्चा नहीं है, मेरे पति का टूर जॉब है जिससे वो हमेशा बाहर ही रहते है, मेरे घर में सास ससुर और एक छोटा देवर है.


बच्चा नहीं होने का कारण डॉक्टर ने बताया हु तुम्हारा पति बहुत ही कमजोर है इसलिए सब से पहले उनका इलाज करवाओ, डॉक्टर से दिखाने के पहले मेरे घर वाले यही समझ रहे थे की दोष मुझमे ही है, जब मैं ये बात अपने सास को बताया की डॉकटर ने कहा है की प्रॉब्लम पति में है, तो वो लोग शांत हुए नहीं तो वो लोग हमेशा ताने देते थे, जब मैं ये बात अपने सास को बता रही थी तब मेरा देवर भी वही था.

मेरे सास ससुर दोनों निचे फ्लोर पे रहते है और मेरा कमरा ऊपर है, मेरा देवर का भी कमरा मेरे कमरे के बगल में है, उस दिन रात का खाना खाके ऊपर छत पर टहल रहे थे तभी वह देवर आ गया बोला क्या बात है भाभी आप तो बड़े ही सुन्दर लग रही हो, आपका डिओड्रेंट की खुसबू से तो कोई भी लड़का आपके पास खींचा चला आएगा, मैंने कहा चल झूठे चुप हो जा, मैंने उसे तिरछी नजर से देखते हुए बोली आज बड़ी शरारत सूझ रही है, लगता ही नहीं आपक उन्हीने के भाई हो जो मुझे देखता नहीं है और एक है की मेरी डिओडरेंट की खुसबू से चले आते हो.

देवर भी बड़ा कमीना है, वो बोला तो मैं बन जाता हु आपका पति, आपको जो चाहिए वो मिलेगा, मैंने कहा नहीं जी मैं वैसी नहीं हु जैसा तुम समझ रहे हो, मैं सिर्फ अपने पति की ही हु, फिर हम दोनों वही बैठ के बात करने लगे, फिर मैंने देवर से पूछा की देवर जी आप बहुत मजे करते हो हमेशा घूमने जाते हो, हिल स्टेशन पे, होटल में रहते हो, पैसा कहा से लाते हो, इतना सुनकर देवर मुस्कुराने लगा और बोला मैं जिगोलो हु, मैं बड़े घर की औरते को और उनके बेटियों को पैसे लेकर सेक्स करता हु, मैंने ये सुनकर अवाक् रह गयी, फिर मैंने कहा अच्छा कोई तो गली गली घूमते रहता है लड़कियों को पटाने के लिए और एक तुम हो जो सेक्स भी करते हो और पैसे भी लेते हो, वो बोला हां जी मैं सेक्स के बदले पैसे लेता हु.

कामुक और हॉट सेक्स कहानी  मेरी ग़लती का अहसास-1

रात के करीब १२ बज गए थे बात करते करते और हम दोनों अपने अपने कमरे में सोने के लिए चले गए, पर मुझे पता नहीं आज क्यों अपने देवर से चुदवाने का मन कर रहा था पर मैं ये बात कैसे कहती, यही सब सोच कर करबते बदल रहे थे नींद नहीं आ रही थी, तबी मेरे मोबाइल पे कॉल आया मैंने देखा इतनी रात को…. नंबर देखा तो पता चला देवर का ही फ़ोन था, मैंने मोबाइल उठाया तो देवर ने कहा सॉरी भाभी आपको इतनी रात को नींद से उठाया, मैं बोली “हां बोलो कोई बात नहीं” तो देवर ने कहा भाभी मन नहीं लग रहा है क्या मैं आपके कमरे में आकर सो जाऊ, मैंने कहा ठीक है और वो मेरे कमरे में आ गया, बोला भाभी आपसे एक बात और कहनी है आप मुझे बहुत ही अच्छी लगती हो, मैं तो बहुत सारी लड़कियों को और औरतो चो चोदा है पर आप को देख कर मेरा लन्ड खड़ा हो जाता है, जब भी आपको देखता हु आपका गांड और चूच की उभार को देख कर रहा नहीं जाता है और मूठ मारना पड़ता है तब आराम मिलता है, मैं यही सोच रहा था की जब मैं मूठ मारकर सब बर्बाद कर देता हु क्या फायदा, भाभी को तो इसी चीज की जरूरत है, मैं उनके जरूरत को पूरा कर देता हु . भाभी माँ भी बन जायेगी और घर में एक नन्हा मेहमान भी आ जायेगा.

इतना मैं सुनते ही अपने देवर को गले से लगा लिया और चूम कर कहा मेरे मन की बात आपने सुन ली देवर जी, मैं आपकी हु आप जो चाहे कर सकते हो पर इस बात का ध्यान रहे की ये बात किसी को बताना नहीं है, उसने कहा नहीं कभी नहीं बताऊंगा और वो भी मेरे होठ पे किश करने लगा और पीछे से मेरे चूतड़ को कस के दबा के अपने लन्ड के पास ले गया और ऊपर से ही धक्का लगाने लगा, मैंने कहा इतनी भी जल्दी क्या है पूरी रात अपने पास है, निचे मम्मी पापा सो गए है, जो करना है बढ़िया से करो, और वो मेरे ब्लाउज को खोलने लगा फिर ब्रा को खोल दिया, मेरा चूच जैसे ही आज़ाद हुआ वो अपने मुह में लेके चूसने लगा और दबाने लगा मैं उसके बालो को सहलाने लगी और मेरे पुरे बदन पे एक बिजली से दौड़ने लगी, इसके बाद वो मेरी पेटीकोट को खोल दिया और मेरे चूत को चाटने लगा, मैं ये मजा करीब १० मिनट तक ली.

कामुक और हॉट सेक्स कहानी  साली की चुदाई होली मे, Holi me bhabhi ke bahan ko choda

मेरा चूत पानी पानी हो गया, वो वो उस पानी को चाटे जा रहा था, मैं सेक्स करने के उतावली होने लगी और मैंने उसको बेड पे धक्का दे दिया और मैंने उसके लुंगी को खोलकर जाँघिया उतार फेंकी और उसका मोटा लन्ड मुह में लेके चूसने लगी, फिर रहा नहीं गया मैं निचे होकर बोली चोदो मुझे, आज मुझे खुश कर दो, वो भी बड़ा जबर्ज़स्त बॉडी बिल्डर टाइप का लड़का है, मेरे चूत पे लन्ड रखकर एक धक्के में अंदर कर दिया, पहली बार मुझे इतना मोटा और लम्बा लन्ड मेरे चूत में गया मैं तो कराहने लगी क्यों की लन्ड अंडर तक जा रहा था, हरेक धक्के पे चिक्ख निकल रही थी पर १० – २० धक्के के बाद ही मेरे तन बदन में आग लग गयी, और गांड उठा उठा के चुदवाने लगी, पूरी रात कभी गांड मरवाई कभी बूर चुदवाया, ये सब रात भर नहीं आज ३ महीने हो गए है, रोज चुदवाती हु, और एक खुशखबरी भी है अब मैं माँ बनने बाली हु मेरे बच्चे का पापा मेरा देवर होने बाला है. आपको मेरी कहानी कैसी लगी, आप फेसबुक पे लिखे जरूर करे, शुक्रिया