दामाद से चुदी ट्रैन में अब तो मैं दामाद जी की दूसरी बीवी हो गई हु

दोस्तों सच कहे है लोग की ज़िंदगी और समय इंसान से क्या से क्या ना करा देता है, और समय बहुत बलवान ये कहावत चरितार्थ होता है, की समय के आगे कोई नहीं है, ज़िंदगी में इतने थपेड़े लगते है की आप कौन से किनारे लगोगे आपको भी पता नहीं चलेगा. मेरे साथ ही ऐसा हुआ, की जो पाक रिश्ते … पूरी कहानी पढ़िए

मेरी पहली चुदाई उसमे भी दो लड़के छोटी सी चूत और मोटा लंड

हेलो दोस्तों, दिल्ली की चका चौंध में पता नहीं लोग कितने अरमान और सपने देखते है, किसी का पूरा होता है किसी का नहीं होता है, पर सबको एक दूसरे से एडवांस बनने की होड़ है, अगर किसी को बॉय फ्रेंड नहीं है या तो किसी को गर्लफ्रेंड नहीं है तो उसका स्टेटस दोस्तों में कम होता है, क्या बताऊँ … पूरी कहानी पढ़िए