Home » देसी सेक्स कहानी » अमीर विधवा से मैंने पैसों के लिए शादी की फिर सुहागरात पर कसके उसकी चूत चोदी

अमीर विधवा से मैंने पैसों के लिए शादी की फिर सुहागरात पर कसके उसकी चूत चोदी

हेल्लो दोस्तों, मैं आप सभी का नॉन वेज स्टोरी डॉट कॉम में बहुत बहुत स्वागत करता हूँ। मेरा नाम योगेन्द्र सोनी है। मैं पिछले कई सालों से नॉन वेज स्टोरी का नियमित पाठक रहा हूँ और ऐसी कोई रात नही जाती तब मैं इसकी रसीली चुदाई वाली मदमस्त कहानियाँ नही पढ़ता हूँ और मजे मारता हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रहा हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि यह कहानी सभी लोगों को जरुर पसंद आएगी। ये मेरी जिन्दगी की सच्ची घटना है।

मेरे घर के पास ही एक बहुत अमीर औरत रहती थी। उसका नाम चम्पा रानी था। वो हमारे मोहल्ले में सबसे जादा अमीर औरत थी। उसका पति एक बड़ा व्यापारी था जो चाय का कारोबार करता था। वो खासकर असम, मेघालय, दार्जिलिंग और अन्य पहाड़ी राज्यों से चाय मंगाकर पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश और दूसरे राज्यों में बेचा करता था। कुछ दिनों बाद अचानक उसके पति की मौत हो गयी और चम्पा रानी अचानक विधवा हो गयी। मैंने उसको बहुत अच्छे से जानता था। मैं भी उसी की तरह बनिया जाति में आता था। उसके पति के मरने के बाद उसके दूसरी शादी करने का फैलसा किया और अखबार में इश्तिहार दे दिया की काबिल लड़के जो उससे शादी करना चाहते है उससे आकर मिले। दोस्तों उसके पास करोड़ों रूपए थे इसलिए कई लड़के उसकी दौलत के लिए उससे शादी करना चाहते थे.

मैं अभी कुवारा था और उसकी चूत चोदने का मेरा बड़ा दिल था। इसके साथ ही चम्पा रानी के पास अब पूरा व्यापार आ गया था। उसके पास २ बड़ी हवेलियाँ थी। रूपये, गहने और जेवरात ही खूब थे। मैं उसके पास शादी का ऑफर लेकर गया। उसके मुझे बिठाया। नौकर चाय पानी लेकर आये। मैंने उसे अपना परिचय दिया। मैंने उसे बाताया की एक कपड़े की फैक्टरी में मैं बड़े बाबू के पद पर काम कर रहा हूँ। पर बार बार चम्पा रानी मुझे उपर से नीचे तक घूर घूर के देख रही थी।

“योगेन्द्र जी, कही आप मेरी दौलत के लिए तो मुझसे शादी नही कर रहे??? आजकल सारे लड़कों को तो तो सील बंद चूत मारना पसंद होता है” चम्पा रानी बोली तो मैंने इनकार कर दिया।

“चम्पा जी, मैं आपको और आपके बच्चो को सहारा देना चाहता हूँ। सील बंद चूत वाली लड़की तो मुझे कभी भी मिल जाएगी पर परोपकार और आपकी सेवा करने का मौक़ा और किसी बेसहारा औरत को सहारा देने का मौक़ा मुझे बार बार नही मिलेगा” मैंने कहा

उसके बाद चम्पा रानी मुझसे बहुत इम्प्रेस हो गयी और हमारी शादी हो गयी। सुहागरात को लेकर मैं बहुत उत्तेजित था क्यूकी चम्पा रानी एक बहुत खूबसूरत जिस्म वाली लड़की थी। उसका कद 5 फुट 6 इंच था और उसका बदन बिलकुल भरा हुआ था। उसका फिगर 40 30 34 था। दोस्तों इसी से आप अंदाजा लगा सकते है की वो कितनी मस्त माल होगी। हलाकि उससे शादी करने के बाद मैं उसके ३ बच्चों का बाप भी बन गया था पर उसकी आधी जायजाद भी तो मेरे नाम हो गयी थी। हमारी सुहागरात बहुत हसीन मनी। चम्पा रानी कोई सच मुच की असली रानी लग रही थी। उसने बहुत खूबसूरत लाल रंग का लहंगा पहना हुआ था जिसमे सोने के तार लगे हुए थे। मैंने उसे बाँहों में भर लिया और किस करने लगा। मैं उसके गालो पर बार बार पप्पी ले लेता था। धीरे धीरे मैं उसके कपड़े निकालने लगा। चम्पा रानी ने अपनी नाक में एक बड़ी नथ पहन रखी थी। मेरी नजर तो उसके सोने के गहनों पर थी। धीरे धीरे हम दोनों पूरी तरह से नंगे हो गए। चम्पा को मैंने जब नंगा और बिना कपड़े में देखा तो मेरा लंड अपने आप खड़ा हो गया। वो बिलकुल चोदने लायक माल लग रही थी। मैंने उसे बाहों में भर लिया और बेड पर लेट गया। हम दोनों लपटी लपटा करने लगे। मैं उसे बाहों में लेकर हर जगह चूम रहा था।

गरमा गर्म सेक्स कहानी  अजीब दास्तान चुदाई का

“योगेन्द्र!! आई लव यू सो मच!! तुमने मुझसे शादी की और मेरे बच्चो को अपना लिया” चम्पा बोली

“चम्पा आई लव यू सो मच!!” मैंने भी जवाब दिया

फिर उसके बाद मैं उससे प्यार करने लगा। कहीं ये सुहानी रात ना बीत जाए इसलिए मैं अपने काम पर लग गया। मैंने चंपा को सीधे लिटा दिया और उसके रसीले होठो पर अपने होठ रख दिए। हम दोनों एक दूसरे के सुरमई होठो को चूसने लगे और पीने लगे। आह वो बहुत खूबसूरत औरत थी। मैं उसके होठो को मुंह में लेकर चूस रहा था। वो भी ऐसा ही कर रही थी। फिर मेरे हाथ अपने आप उसके दूध पर चले गये। 40” की बड़ी बड़ी छातियां तो बड़ी रसीली थी। चम्पा के गदराए बदन को देखकर तो मन कर रहा था पहले इस माल को कसके चोद लूँ फिर आगे बातचीत करूं। फिर मैंने उसके मुलायम दूध को दबाना शुरू कर दिया। चम्पा  “उ उ उ उ ऊऊऊ ….ऊँ—ऊँ…ऊँ अहह्ह्ह्हह सी सी सी सी… हा हा हा.. ओ हो हो….” की आवाज निकालने लगी।

धीरे धीरे मुझे और जादा जूनून चढ़ गया था। मैं इस वक़्त उसके रसीले होठों को चूस रहा था और उसके आमो को दबा रहा था। फिर मैं नीचे सरक आया और दोनों हाथों से उसकी एक एक चूची को दबाने लगा। दोस्तों चम्पा रानी को देखकर यही लग रहा था की वो बिलकुल फ्रेश माल है। कहीं से भी ये नही लगता था की उसके ३ बच्चे भी होंगे। उसका बदन इतना हॉट और सेक्सी था। मैं नीचे सरक आया और उसके दूध को मैं दोनों हाथों से दबाने लगा। दोस्तों मैंने आजतक कई लड़कियों की चूत चोदी थी, उनके दूध मैंने खूब मजे लेकर चूसे थे पर चम्पा रानी का जिस्म भी किसी हसीन 16 साल की लड़की से कम नही था। उसके बूब्स बहुत मुलायम और नाजुक थे। मैं उन्हें जब तेज तेज दबाता तो बहुत आनंद आता। लगता की किसी गुब्बारे को दबा रहा हूँ।

फिर मैं मुंह में लेकर उसके बूब्स को चूसने लगा। उसकी छातियों के चारो ओर बड़े बड़े काले काले सेक्सी घेरे थे जो बहुत सेक्सी लग रहे थे। मैं उन्हें बार बार जीभ लगाकर चाट लेता था। चम्पा की निपल्स खूब बड़ी बड़ी और मोटी मोटी थी। मैं उनको भी खूब मजे लेकर चूस रहा था। कुछ देर में वो बहुत उत्तेजित महसूस हो गयी थी और बार बार “…….उई. .उई..उई…….माँ….ओह्ह्ह्ह माँ……अहह्ह्ह्हह…” की आवाजे निकाल रही थी। फिर मुझे सेक्स और वासना का तगड़ा नशा चढ़ गया था। मैं जल्दी जल्दी उसकी रसीली चूचियां मुंह में लेकर चूस रहा था। चम्पा रानी बहुत सेक्सी महसूस कर रही थी और जल्दी जल्दी खुद ही अपनी चूत में ऊँगली डाल रही थी। उसके दूध पीने में मुझे जन्नत का मजा मिल रहा था। मैंने उसकी दाई चूची को मजे लेकर चूस लिया, फिर अब बायीं चुच्ची को मैंने हाथ में ले लिया और जल्दी जल्दी दबाने लगा। चम्पा रानी “……मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..” की आवाज निकाल रही थी। उसकी आँखें बंद थी। उसके खूबसूरत नगीने जैसे खूबसूरत जिस्म को देखकर तो मेरा बुरा हाल हो रहा था। मैंने उसकी दाई चूची को जोर से मनचाहा तरीके से दबा देता था फिर मुंह में लेकर चूसने लगता था।

मैंने जी भरके आम चूसे। इस दौरान वो अपनी चूत में बार बार ऊँगली करती रही।

“योगेन्द्र!! तुम्हारा लौड़ा तो बहुत मोटा है। कहीं इसे चूत में लेकर मैं मर ना जाऊं???” चम्पा रानी मेरी नई औरत बोली

“नहीं जान, ये कैसी बात कर रही हों। अरे तुम्हारा भोसड़ा तो इतना बड़ा है की इसमें ४ ४ मोटे लौड़े एक बार में समा जाए” मैंने कहा

गरमा गर्म सेक्स कहानी  परिवारिक चुदाई कहानी, Pariwarik Chudai kahani,

उसके बाद मैं फिर से उसका दूध पीने लगा। कुछ देर बाद मैंने उसके दोनों पैर खोल दिए। दोस्तों अब वो मेरी बीबी बन गयी थी। मैंने कभी सोचा नही था की कभी एक विधवा औरत से मैं शादी करूँगा पर चम्पा रानी से शादी करके मैं रातो रात करोड़ पति बन गया था। वरना इतनी दौलत कमाने में मुझे पूरी जिन्दगी लग जाती। इसलिए मैंने इस खूबसूरत विधवा से शादी की थी। अब मैं उसकी भरी हुई खूबसूरत गोल गोल जांघो को चूस रहा था, चूम रहा था। फिर मैंने उसके पैर खोल दिए। चम्पा रानी की भरी हुई चूत मेरे सामने थी। जैसे ही मैंने अपना हाथ चम्पा रानी की चूत पर रखा वो सिसक गयी। फिर मैंने उसकी चूत को हाथ से सहलाने लगा। उसके चूत के दाने को मैं बार बार घिसने लगा। मेरे सहलाने से उसे बहुत उत्तेजना महसूस हो रही थी। मैं जल्दी जल्दी चूत पर हाथ फेर रहा था। चम्पा रानी चुदास और सेक्स के नसे में मस्त होती जा रही थी। फिर मैं लेटकर उसकी चूत को मुंह लगाकर चाटने लगा। मैंने अपनी जीभ बाहर निकाल ली और जल्दी जल्दी उसकी चूत को मैं चाटे जा रहा था। मैं बार बार उसकी रसीली बुर को चूस रहा था। ऐसा करने से कुछ देर में उसकी चूत से रस निकलने लगा। फिर मैंने अपनी २ लम्बी हाथ की ऊँगली को उसकी चुद्दी में डाल दिया और जल्दी जल्दी अंदर बाहर करने लगा। चंपा रानी तो बार बार काँप रही थी।

“आआआअह्हह्हह……ईईईईईईई….ओह्ह्ह्हह्ह….अई. .अई..अई…..अई..मम्मी….” की आवाजे वो बार बार निकाल रही थी। मैं बहुत जादा उत्तेजित हो गया था और तेज तेज मैंने अपनी ऊँगली उसकी चूत में चला रहा था। चम्पा रानी की तो गांड ही फटी जा रही थी। वो बार बार अपना मुंह खोल देती थी और “…..आआआआअह्हह्हह योगेन्द्र!! …चोदो चोदो…. आज मेरी चूत फाड़ फाड़कर इसका भरता बना डालो जाननननन….” इस तरह की मादक आवाजे वो बार बार निकाल रही थी। वो बिलकुल पागल चुदासी कुतिया लग रही थी। वो लंड खाने और चुदवाने के लिए कुछ ही कर सकती थी। मैं और  तेज तेज अपनी २ उँगलियों से उसकी चूत चोद रहा था। फिर मैं ऊँगली का माल मुंह में लेकर जाकर पी लेता था। इस तरह से मैंने ३० मिनट तक चप्मा रानी की चूत में ऊँगली की। उसके बाद मैंने अपना 8” का लौड़ा उसकी चूत में डाल दिया और जल्दी जल्दी चोदने लगा। चम्पा रानी ने मुझे मेरे हाथ पर पकड़ लिया और जल्दी जल्दी चुदाने लगी। मैं उसे तेज तेज धक्के उसकी चुद्दी में मारने लगा तो उसके उसके 40” के मम्मे बार बार उपर नीचे होकर हिलने लगे। उसका ये जवान रूप देखकर मैं और जादा मोहित हो गया था और जल्दी जल्दी उसे बजाने लगा।

मैं उसकी चूत में तेज तेज धक्के मारने लगा। कुछ देर में मेरा लंड जल्दी जल्दी उसकी चूत में फिसलने लगा। जैसे मेरा लंड चम्पा रानी की चूत चोदने के लिए ही बना था। मैंने झुककर उसे पेल रहा था। अब भी वो “आआआअह्हह्हह……ईईईईईईई….ओह्ह्ह्हह्ह….अई. .अई..अई…..अई..मम्मी….” की आवाज निकाल रही थी। हम दोनों एक दूसरे की नजरों में ही खोये हुए थे। हम आज सिर्फ चुदाई और बस चुदाई ही करना चाहते थे। आज की रात हम दोनों किसी और बात पर बात नही करना चाहते थे। मैं उसे गमागम पेलता रहा और वो पेलवाती रही। फिर उसकी चुद्दी से पट पट की मीठी आवाज आने लगी। मैं उसे हौंक हौंक से गहरे धक्के मारा रहा था जिसे उसकी रसीली बुर खूब गहराई तक चुदे और उसे भरपूर मजा मिले। लगभग 35 मिनट मैंने अपनी नयी नवेली बीबी को चोदा फिर उसकी चूत में ही मैंने माल गिरा दिया।

गरमा गर्म सेक्स कहानी  मालिक के बेटी की चुदाई, से मेरे लंड की हुई कटाई

हम दोनों हांफ रहे थे, लम्बी लम्बी साँसे हम दोनों भर रहे थे। मैंने उसकी चूत में शहीद हो चुका था। फिर मैं चम्पा रानी के नंगे जिस्म पर लेट गया। वो मुझे बेतहाशा बार बार प्यार कर रही थी। मेरे गालों पर वो बार बार किस कर रही थी।

“योगेन्द्र!! तुमने आज मुझे बहुत कसके चोदा। मजा आ गया मुझे। इतनी तगड़ी चुदाई तो मेरा पिछला पति भी नही करता था!” मेरी नई नवेली बीबी चम्पा रानी बोली। फिर हम दोनों नंगे नंगे काफी देर तक लेटे रहे और प्यार करते रहे।

“जान आओ तुमको लौड़े पर बिठा कर चोदता हूँ” मैंने कहा

“ये कैसे चुदाई होती है??” चम्पा मासूमियत से बोली

“आओ जान मेरी कमर में बैठ जाओ और अपनी चुद्दी[चूत] में लौड़ा ले लो” मैंने कहा

उसके बाद चम्पा मेरी कमर पर आकर मेरी ओर मुंह करके बैठ गयी। उसने मेरे लौड़े को अपनी चुद्दी में डाल लिया था। उसका वैभवशाली भरा हुआ जिस्म मेरे सामने था। मैं उसके 40” के भरे भरे मम्मो को सहलाने लगा क्यूंकि वो मुझे बहुत हॉट और सेक्सी लग रहे थे। फिर चम्पा रानी धीरे धीरे मेरे लौड़े पर उठने बैठने लगी। मेरा लंड उसकी चूत में अंदर बाहर होने लगा। फिर चम्पा रानी चुदाई सीख गयी और वो उठ उठ कर मुझसे चुदवा रही थी। मैंने उसके मस्त मस्त बूब्स को सहलारहा था जिससे वो और जादा सेक्सी महसूस करे। मेरा लंड उसकी चूत में आराम से अंदर घुस जा रहा था। उसकी चूत बहुत भरी हुई थी। हम दोनों को बहुत मजा आ रहा था। मेरी नई नवेली बीबी के काले घने बाल बार बार आगे को गिर जाते थे। चम्पा बार बार अपने बालों को खींचकर अपने कान के पीछे कर देती थी। फिर उसने अपने दोनों हाथ बेड पर रख दिए और खूब जल्दी जल्दी उचकने लगी। मुझे लगा की कहीं मेरा मॉल ही ना छूट जाए। वो बहुत जल्दी जल्दी मेरे लौड़े की सवारी करनी लगी थी। उसे भी भरपूर मजा मिल रहा था। मेरा 8” लम्बा लंड जल्दी जल्दी उसकी रसीली चूत को चोद रहा था।

फिर मैं बहुत उत्तेजित हो गया था और मैंने कस कसके  कई चांटे उसके पुट्ठे पर मैंने मार दिए। चम्पा रानी को बहुत मजा आया। फिर मैंने उसके मुंह में अपनी ऊँगली डाल दी तो वो जल्दी जल्दी उसे चूसने लगी। कुछ देर बाद वो फिर से मेरे लौड़े पर कूदने लगी और मस्ती से चुदाने लगी। फिर वो मेरे उपर ही लेट गयी। उसकी कमर में कितने लहरे अपने आप उठ रही थी। उसकी कमर मेरे लौड़े को चूत में लेकर गोल गोल नाच रही थी। इसी तरह की चुदाई में हम दोनों को बहुत मजा मिल रहा था। कुछ देर बाद हम साथ में ही झड़ गए थे। दोस्तों आज मैंने चंपा रानी जैसी खूबसूरत विधवा से शादी करके अपना 20 लाख का कर्ज उतार दिया है। ये पैसा मेरे उपर उधार था जो मेरा पिछला बिजनेस डूब जाने से मेरे सिर पर चढ़ गया था। अब मैं उसकी रोज चुद्दी मारता हूँ और जन्नत के मजे लूटता हूँ। उसके बच्चों को मैं बाप का प्यार देता हूँ। पहले मैं बहुत गरीब था पर चम्पा रानी से शादी करके मैं करोड़ों का मालिक बन गया हूँ। कहानी आपको कैसे लगी, अपनी कमेंट्स नॉन वेज स्टोरी डॉट कॉम पर जरुर दे।