Home » Family Sex Stories » कुंवारी चूत का उद्घाटन पापा ने किया

कुंवारी चूत का उद्घाटन पापा ने किया

Baap Beti Sex Story : बाप बेटी की सेक्स कहानियां आपने पढ़ी होगी, आज जो आपको बाप बेटे की सेक्स कहानी यहां पर लिखने जा रही हो वह सबसे अलग है। लड़की की पहली चुदाई जो होती है वह काफी यादगार होती है जिंदगी का एक ऐसा लम्हा होता है जहां पर 1 जुलाई को भुला नहीं जाता है। अगर यही चुदाई बाप बेटी के बीच हो तो और भी ज्यादा यादगार हो जाता है। आज मैं आपको अपनी कहानी आप लोगों के सामने पेश कर रही हूं उम्मीद करती हूं आपको मेरी कुमारी चूत की पहली चुदाई का एक्सपीरियंस मेरा कैसा रहा वह आप लोगों के सामने बताने जा रही हूं ताकि आपको भी पता चले कि एक कुंवारी लड़की की चुदाई करते समय उस लड़की को कैसा महसूस होता है।

मेरा नाम कशिश है मैं 19 साल की लड़की हूं हॉट खूबसूरत हूं कॉलेज में पढ़ती हूं। डांस करना वीडियो बनाना मुझे बेहद पसंद है। इंटरनेट बहुत ज्यादा चलाती हूं इंस्टाग्राम फेसबुक टि्वटर पर मेरा अकाउंट है। हॉट लड़की होने की वजह से मुझे कई लोग इंस्टाग्राम पर फेसबुक पर फॉलो करते हैं। सेक्स की इच्छा तो मुझे बहुत पहले से ही हो गई थी। जबसे मेरी चूचियां नींबू जितनी बड़ी हुई थी मेरी चूत पर छोटे-छोटे बाल जब आए थे उसी समय से मुझे लगता था कि कोई मुझे 14 क्योंकि शादी में काफी समय है इस वजह से मैं चाहती थी कि पहली चुदाई का आनंद किसी और के साथ लिया जाए बाद में तो पति है ही चोदने के लिए पूरी जिंदगी।

मैं अपने मां-बाप की अकेली संतान हूं ना मेरा कोई भाई है ना बहन है। पापा लव मैरिज किए हुए थे तो मेरे नाना और नानी के यहां उनका जाना बहुत कम होता है यानी कि वह जाते ही नहीं है मम्मी पहले नहीं जाती थी पर अब मम्मी जाने लगी है। मेरे मामा के बेटे की शादी थी इस वजह से मेरी मां 4 दिन के लिए शादी में गई हुई थी घर में मैं और पापा थे मैं इसलिए नहीं गई क्योंकि मेरे कॉलेज का एग्जाम चल रहा था इस वजह से मुझे घर पर ही रहना पड़ा था पापा के साथ।

पापा मेरे बहुत रोमांटिक हैं हॉट हैं सेक्सी हैं सच पूछिए तो मैं भी अपने पापा पर फ़िदा रहती हूं। क्योंकि लड़की जब जवान होती है तो उसे भी विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण बना रहता है और यही आकर्षण पुरुषों की तरफ खींचती है। मेरे पापा मेरे करीब है इस वजह से मैं अपने पापा को काफी ज्यादा पसंद करने लगी थी। पापा भी मेरी जवानी को देखकर अपने आप को संभाल नहीं पाते थे वह मुझे हमेशा तिरछी नजर से निहारते रहते थे। मेरी चूचियां मेरी गांड मेरे होंठ मेरे गाल मेरे कमर बहुत हॉट और सेक्सी हैं इस वजह से किसी का भी दिल फिसल जाए मेरे ऊपर तो इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है।

जिस दिन मम्मी गई थी उसी दिन पापा ने मेरे लिए एक खूबसूरत नाइट ड्रेस लाकर दिया था। रात के करीब 10:00 बजे थे पापा मुझे पहनने को बोले मैं पापा को बोली थी कि मैं कल पहन लेती हूं पर उन्होंने कहा कि नहीं तुम आज ही पहन कर दिखाओ। मैं ड्रेस पहन कर आ गई पापा देख कर बोले ड्रेस बहुत हॉट और सेक्सी है पर यह और भी ज्यादा सेक्सी लगेगा जब तुम अंदर कुछ नहीं पहनूंगी तो। मैं समझ गई पापा का कहना था कि मैं बिना ब्रा के इस नाईट ड्रेस को पहनो ताकि मेरे शरीर का अंग अंग बाहर से दिखाई दे सके।

गरमा गर्म सेक्स कहानी  बड़ी बहन ने छोटे भाई को साथ सुलाई छोटे ने दीदी को ही चोद दिया

मुझे भी कोई आपत्ति नहीं हुई मैंने भी दूसरे कमरे में जाकर ब्रा खोलकर ड्रेसपहन कर आ गई। पापा जैसे मुझे देखे उनसे रहा नहीं गया मुझे बाहों में भर लिया। क्योंकि मैं बहुत खूबसूरत और हॉट लग रही थी वह अपने आप को संभाल नहीं पाए और मुझे अपने सीने से लगा लिया। इतना ही नहीं उन्होंने मेरे बाल को सहलाते हुए मेरे होंठ को देखने लगे। मेरे होठों समय कहां पर है थे मैं पापा को देख रही थी वह मेरे होंठ को देख रहे थे और उनके होंठ भी काम रहे थे।

2 मिनट तक हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे को निहार रहे थे। तभी पापा ने अपना होठ मेरी गुलाबी होंठ पर रख दिया। वह मेरे होंठ को चूमने लगे मेरे अंदर की आग भड़क गई मेरी बड़ी-बड़ी चूचियां जो काफी टाइट और सेक्सी है पापा का हाथ जैसे ही पड़ा मैं पागल हो गई। मेरे मुंह से सिसकारियां निकलने लगी मैं अपने आप को रोक नहीं पाई। मैं भी उनको चूमने लगी वह मेरी चूचियों को मसलते हुए मेरे होंठ को मेरे गाल को चूमने लगे। उन्होंने तुरंत ही मुझे बेड पर ले गए और बोले कि तुम बहुत सेक्सी हो कशिश।

आज मैं चाहता हूं कि वह सब तुम मुझे करने दो जो मुझे करना चाहिए मैं तुम्हें सेक्स करना चाहता हूं आज की रात। मैंने तुरंत ही उनसे कहा पापा जी क्या एक बेटी के साथ सेक्स किया जा सकता है। पापा बोले किसको पता है। हम लोग रोजाना कभी नहीं करेंगे बस आज की रात हम दोनों एक दूसरे को खुश करेंगे कल से हम दोनों बाप बेटी की तरह रहेंगे। क्योंकि मेरी जिंदगी का एक सपना है कि मैं कुंवारी चूत का उद्घाटन करूं पर आज तक ऐसा नसीब नहीं हुआ। तो मैंने झट से पूछ लिया चोदा नहीं था क्या पहली बार। पापा बोले नहीं मम्मी तुम्हारी पहले से ही अपने बॉयफ्रेंड के साथ सेक्स संबंध बनाती रही इस वजह से मुझे कुमारी चूत का उद्घाटन करने का मौका नहीं मिला।

पापा ने तुरंत मेरे नाईट ड्रेस खोल कर बाहर रख दिए मेरे चुचियों पर अपना हाथ रख कर मचलने लगे। मेरे निप्पल को उन्होंने तुरंत ही अपने मुंह में ले लिया मेरे होंठ को छूते हुए मेरे गाल को छूते हुए मेरी चूचियों को मसलते हुए वह निप्पल को अपने दांतो से दबाने लगे। मैं तो पागल होने लगी थी दोस्तों मुझे ऐसा लग रहा था जैसे कि मेरे पूरे शरीर में आग धधक रहे हो। मेरी चूत काफी ज्यादा गीली हो गई थी। लसलसा पदार्थ मेरी चूत से निकल रहा था। पापा का हाथ जैसे ही मेरी चूत पर पड़ा मेरे होश उड़ गए। मेरा कंठ सूखने लगा मेरे होंठ सूखने लगे उन्होंने तुरंत ही मेरे दोनों टांगों को अलग-अलग गया और मेरे चूत को चाटने लगे।

गरमा गर्म सेक्स कहानी  भाभी को चोदकर प्रेगनेंट किया देवर - एक जबरदस्त हॉट और मजेदार सेक्स कहानी

मैंने भी अपने टांगो को अलग-अलग करके अपने पापा से चूत को चटवाने लगी। पापा जबरदस्त तरीके से मेरी चूत को चाट रहे थे। मेरी चूत से बार-बार गर्म गर्म पानी निकलता और पापा मेरे तुरंत ही उसको साफ कर देते अपनी जीभ से चाट कर। पापा का लैंड बहुत मोटा और लंबा हो गया था। मैं अपने पापा के लैंड को छूना चाहती थी मैंने जैसे ही उनके लंड को छूने की कोशिश करी उन्होंने तुरंत अपने कपड़े उतार दे। उनका काला मोटा लंड बाहर आ गया। मैं तुरंत ही अपने पापा के लंड को हाथ में लेकर मुंह में ले ली उनके लंड को चाटने लगी।

पापा अपनी लंड को मेरे मुंह के अंदर डाल कर निकाल रहे थे बार-बार और मुझे ऐसा करना बहुत अच्छा लग रहा था बीच-बीच में वह मेरे चुचियों को सहला देते जिसे मैं और भी ज्यादा कामुक हो रही थी। पापा ने मुझे नीचे पलंग पर लिटा दिया तकिया मेरे गांड के नीचे लगा दिया। मेरी चूत को दोनों उंगली से चीर कर देखा, और फिर अपनी छोटी उंगली मेरी चूत के अंदर घुसाने लगे। उनकी छोटी उंगली से भी मेरी चूत मैं काफी दर्द होने लगा था। क्योंकि आज तक मेरी चूत में मैंने कभी अपनी उंगली भी डाल कर नहीं देखी थी।

पापा ने मुझे इतना ज्यादा काम कर दिया था कि आप मुझे लग रहा था कि वह अपने मोटा लंड भी मेरे चूत के अंदर डाल देंगे तो मुझे ज्यादा दर्द नहीं होगा मैं चुदने के लिए बेकरार थी। मैं बार-बार सिसकारियां ले रही थी अंगड़ाइयां ले रही थी। कभी पापा को गले लगा लेती तो कभी मैं खुद से अपनी चुचियों को दोनों हाथों से मसलने लगती कभी चूत को खुद से सहला थी तभी निप्पल को अपनी उंगली से दबाती। क्योंकि मैं कामवासना से भर गई थी यह मेरी पहली हरकत थी ऐसा इसके पहले मैंने कभी ऐसा ना एक्सपीरियंस किया था ना मुझे एहसास हुआ था।

पापा का लैंड मोटा हो चुका था वह मुझे चोदने के लिए तैयार थे अपने लंड को पकड़ कर हिला रहे थे मेरे दोनों टांगों को अलग-अलग करके अपना मोटा लंड मेरी चूत की छोटी खेत पर रखा। और अंदर घुस आने लगे पर मुझे इतना ज्यादा दर्द हो रहा था इस वजह से मुझे पापा को बार-बार रुकना पड़ रहा था। जैसे ही वह मेरे चूत के छेद पर अपना लंड रखते और जरा सा दिखा देते मैं दर्द से कराह जाती थी। पापा ने एक बार अपने लंड को मेरी चूत के छेद पर सेट किया और फिर होले होले से धोखा देने लगे मेरे दोनों हाथों को पकड़ लिया मेरे चुचियों को से लाते हुए। एक बार उन्होंने जोर से धक्का मारा उनका पूरा लंड में चूत के अंदर समा गया।

गरमा गर्म सेक्स कहानी  कॉलेज की काली लड़की की सील तोड़कर उसकी चूत को फैला दिया

मेरी चूत के अंदर जैसे ही गया था मैं दर्द से व्याकुल हो उठी थी पापा ने मुझे लाते हुए कहा पहली बार लंड घुसाने के बाद दर्द होता है इसलिए तुम ज्यादा चिंता मत करो। फिर पापा होले होले से मेरे चूत के अंदर लंड को अंदर बाहर करने लगे और मेरे चूचियों को मसलने लगे मेरे होंठ को चूमने लगे मेरे पूरे शरीर को से लाते हुए मुझे चोदने लगे। पहले मुझे काफी ज्यादा दर्द हो रहा था यही दर्द धीरे-धीरे खत्म हो गया था करीब 10 मिनट के बाद में ऐसे गांड उठा उठा उठा कर चुदवाने लगी थी जैसे कि एक चुदक्कड़ औरत चुदवा रही हो।

पापा मेरी चूचियों को मसलते हुए जोर-जोर से मुझे चोदने लगे गोल गोल घुमा घुमा कर पापा के लंड को चूत के अंदर लेने लगी थी मुझे काफी मजा आ रहा था। इस पल को जी लेना चाहती थी। मेरे पापा ने उस रात करीब एक घंटे तक मुझे चोदा। उसके बाद मेरी चूत में काफी सूजन आ गयी थी इस वजह से मैं दुबारा उनको चोदने नहीं दी। पर दूसरे दिन मैं काफी कम्फर्टेबले फील करने लगी। दूसरे दिन उन्होंने तीन बार चोदा और मैं भी खूब मजे ली थी। ये मेरी पहली कहानी है नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर दूसरी कहानी जल्दी ही आपके सामने पेश करुँगी तब तक के लिए धन्यवाद।