छोटी बहन को नहाते देख अपने आप को रोक नहीं पाया


छोटी बहन की चुदाई : जब मैंने अपनी छोटी बहन को बाथरूम में नहाते देखा दरवाजे के छेद से तुम्हें अपने आप को रोक नहीं पाया। उसी समय से उसको झांसे में लेने की कोशिश करने लगा पटाने लगा उसे रात होते-होते मैंने उसको चोद दिया।


आज मैं आपको एक ऐसी कहानी सुनाने जा रहा हूं जो आपको भी बहुत ज्यादा हॉट और सेक्सी लगेगा। ऐसी कहानियां कब मिलती है पढ़ने को जो सच हो और सेक्सी हो। खासकर नॉनवेज story.com पर सारे कहानियां हॉट और सेक्सी होती है। इसीलिए मैं इस वेबसाइट का बहुत बड़ा फैन हूं। इस वेबसाइट की कहानियां आप दूसरे वेबसाइट पर भी देखेंगे जो चोरी करके डाल देते हैं कॉपी करके डाल देते हैं। फिर मैं रोजाना इसी वेबसाइट पर आने लगा हूं और मैं रोजाना इस वेबसाइट पर आकर करता हूं।

सीधे कहानी पर आता हूं ज्यादा आपका समय बर्बाद नहीं करते क्योंकि मुझे पता है आपका समय बहुत कीमती है। कई लोगों को रात का समय मिलता है कहानियां पढ़ने के लिए और कई लोगों को दिन में मिलता है कहानियां पढ़ने के लिए ऐसे में उनका समय बर्बाद करना अच्छी बात नहीं है इसलिए सीधे कहानी पर आकर आपको पूरी बात बता देना चाहता हूं जल्दी से जल्दी।


मेरा नाम राहुल है और मेरी बहन का नाम कशिश। कशिश मेरे से 2 साल छोटी है. बहुत हॉट और सेक्सी लड़की है। ऐसा कमी भाई होता है जो अपनी बहन को चोदने के सपने देखता है। पर मैंने कई रातें उसकी याद में मुट्ठ मार कर अपना सारा माल चद्दर में पोछा। मेरी बहन का सबसे खूबसूरत अंग जो है वह है उसके गोल गोल टाइप चूचियां और उसका पेट उसकी नाभि उसके चूतड़ उसके होंठ और उसके गुलाबी गाल। कोई भी इंसान इस खूबसूरती को देखकर अपने आप को नहीं रोक पाएगा यह मैं गारंटी देकर कहता हूं।

मेरे मम्मी पापा दोनों तीर्थ यात्रा पर गए थे मेरे पड़ोसियों के साथ तो 3 दिन के लिए हम भाई-बहन अकेले ही थे। मैं अपनी बहन को 1 दिन तो अपनी आंखों से खूब निहारा उसको। रात होते-होते मैंने मुट्ठ मारा। पर मेरी वासना कम नहीं हुई। मेरे अंतर्वासना जाग गई थी और मैंने उसको चोदने के सपने देखने लगा। पर मुझे बहुत ज्यादा डर लग रहा था कि अगर इसने मेरी बात नहीं मानी और यह बात मेरे मम्मी पापा तक पहुंच गया तो आप खुद सोचिए मेरे लिए कितना बड़ा मुश्किल बात और हालात हो जाता। पर जब वह नहाने गई तो अपने आप को रोक नहीं पाया।

जैसे ही वह नहाने के लिए बाथरूम में गई मैं तुरंत फटाफट अपने कमरे से निकलकर उसके बाथरूम के पास पहुंच गया। दरवाजे में एक छेद था जहां पर पुराने कुंडी लगी हुई थी। उस छेद से मैं उसको निहारने लगा। जैसे ही उसने अपनी ब्रा खोली मेरा माथा ठनक गया। गोल गोल सुंदर-सुंदर जूतियां उसके ऊपर एक छोटा सा पिंक कलर का निप्पल। मैसेज कार्यालय ने लगा और लंड को हाथ में निकाल लिया। हौले हौले से अपने लंड को सहलाने लगा और उसके पूरे शरीर को देखने लगा। जब वह मग से अपने सिर पर पानी डालते और फिर अपने पूरे शरीर में साबुन लगा कर जब वह अपने हर एक अंग को दबाते और झगड़ते मेरा लंड फन फन हो जाता।

इसे भी पढ़ें  एक सच्ची कहानी : दिल्ली की लड़की की चुदाई

उस समय तो मैं अवाक रह गया जब वह अपने चूत पर साबुन लगाकर रगड़ने लगे और अपने छेद में उंगली घुसाने लगे। मन किया के बाथरूम का दरवाजा तोड़कर उसको चोद डालो। पर मैंने सब्र से काम लिया मैंने सोचा आज मैं उसको चोद कर ही रहूंगा। 20 से 25 मिनट में वह नहाई उतने देर तक में दरवाजे के छेद से उसके जिस्म को निहारता रहा। जब वह कपड़े पहनने लगे तो भाग कर अपने कमरे में आ गया।


अब मुझे लगा कि आज रात को इस को चोदना है दिन भर उसके लिए खूब मिन्नतें किया उसको कई चीजें लाकर खिलाया। उसके लिए एक ऑनलाइन वॉच भी खरीदा। और मैं तरह-तरह के प्रलोभन दिया। और फिर शाम होते-होते मैंने उसको अपने दिल की बात कह दी। कि देखो कशिश आजकल जमाना बदल गया भाई बहन का रिश्ता तो अच्छा होता है। पर आजकल के लोग अपने जिस्म की भूख को शांत करने के लिए घर के सदस्यों के साथ ही सेक्स संबंध बनाते हैं।


कुछ चुप चाप सुन रही थी उसको लग रहा था मैं कोई अच्छी बात उसको बता रहा हूं। उसके बाद मैंने कह दिया कि मेरा जो दोस्त है रिंकू वह भी अपने बहन के साथ सेक्स संबंध बनाता है। इसमें फायदा यह है कि घर का माल घर में ही रह जाता है बाहर जाने की जरूरत भी नहीं होती है वह बदनामी भी नहीं होती है। कशिश बोली तुम चाहते क्या हो। मैंने कहा आज रात में तेरे साथ सोना चाहता हूं। यह बोलने में मेरे हाथ पैर कांपने लगे थे मेरे होंठ कांपने लगे थे। पर मैंने अपने दिल की बात बोल दी जो आज मुझे बोलना था।

कशिश बोली पर मैं ऐसा नहीं करूंगी मैंने कसम खाया है कि मैं पहली बार सेक्स करूंगी तो अपने पति के साथ। मैंने कहा अरे यार तेरा पति जब कहीं और भी किसी के साथ सोया होगा तो तुम सती सावित्री क्यों बनोगे। तुम भी मजे लो वह भी मजे ले रहा होगा। उसने कहा पर भाई-बहन में यह सब चीजें नहीं होती है यह बकवास वाली बातें हैं। मैंने कहा तुम नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर कहानियां पढ़ कर देखो वहां पर कई सारी कहानी ऐसी मिल जाएगी जिसमें 1 भाई बहन सेक्स करते हैं तो हम दोनों क्यों नहीं कर सकते।


कशिश कहने लगे कि यह तो अच्छी बात नहीं है। और मैं यह चाहती भी नहीं हूं और मैं तुमसे भी कहूंगी कि कोई लड़की पटा लो या किसी प्रोस्टिट्यूट को जाकर पैसे देकर अपना काम कर लो पर मैं यह नहीं करूंगी। मैंने कहा अगर तुम नहीं करोगी तुम्हें कल घर छोड़ कर चला जाऊंगा क्योंकि यह बात तो मैंने अपनी बहन को बोल दिया अपने दिल की बात बहन को बोल दिया और मेरी बहन नहीं माने तो मेरा इस घर में रहने का कोई मतलब नहीं है।

इसे भी पढ़ें  कबाड़ी बाले से मैं कैसे चुदी और उसके लंड की सवारी की पढ़िए मेरी सच्ची कहानी

इतना कहते मेरी बहन बोलने लगे कि तुम ऐसा मत करो। बस एक बार दूंगी तुम्हें दोबारा नहीं दूंगी। मैंने कहा कसम खाता हूं मैं तुम्हें दोबारा नहीं बोलूंगा। फिर उसने बोली कि यह बात तुम किसी से मत कहना अपने दोस्तों से भी नहीं कहना क्योंकि जब तुम अभी बोल रहे हो कि तुम्हारा दोस्त अपनी बहन के साथ सेक्स करता है तो उसने तुम्हारे साथ कुछ बातें शेयर किया। तुम अपने बहन के बारे में बाहर किसी के साथ शेयर नहीं करोगे कि तुम अपनी बहन के साथ सेक्स किए हो। मैंने कहा नहीं करूंगा और तुरंत मैंने अपना हाथ उसके सर पर रख दिया।

उसने कहा ठीक है बाजार जाकर तुम कंडोम ले आओ अपने लिए क्योंकि मैं बिना कंडोम के नहीं करूंगी मुझे बहुत डर लगेगा। मैं तुरंत उठा अपना स्कूटी स्टार्ट किया हूं जाकर कंडोम लेकर आ गया। घर आया वह खाना निकाल कर बैठी थी। उसने कहा कि आ जा खाना खा लेते हैं पहले उसके बाद जाएंगे सोने के लिए। मैं तुरंत बैठकर खाना खाया मैंने भी उसको अपने हाथों से खाना खिलाया वह भी मुझे अपने हाथों से खाना खिलाई। और जल्दी से सोने के लिए चला गया आपको तो पता होगा दोस्तों में जल्दी-जल्दी क्यों कर रहा था।

बेड पर पहुंचकर सबसे पहले मैंने उसके सारे कपड़े उतार दिए उसका ब्रा उतारते ही मेरा लैंड खड़ा हो गया बड़ी बड़ी गोल-गोल चूचियां तुरंत में दबाने लगा। वह कह रहे थे धीरे-धीरे दबाव दर्द करता है। मैंने एक न मानी उसके गाल को चूमने लगा हॉट को चूमने लगा उसके दोनों बूब्स को सहलाने लगा निप्पल को अपने दांतों से काटने लगा। उसके चूत को मैं चाटने लगा उसके चूत में अपनी उंगली करने लगा उसके गांड को चाटने लगा। इतना करते करते हो इतनी ज्यादा कामुक हो गई कि मुझे कस के पकड़ ली और मुझे किस करने लगे मेरा लंड पकड़ ले अपने हाथ में लेकर हिलाने लगी फिर मुंह में लेकर चूसने लगी।

अब दोनों लेट गए थे और एक दूसरे के बदन को साला रहे थे एक दूसरे को चूम रहे थे किस कर रहे थे। मुझसे रहा नहीं गया मुझे जल्दी उसको चोदना था क्योंकि मेरे बर्दाश्त के बाहर हो रहा था सब कुछ। उसके टांगों को अलग-अलग किया पहले चूत को खूब चाहता और अपना लंड उसकी चूत पर लगाकर जोर से धक्का देकर अपना पूरा लंड उसके अंदर डाल दिया। उसके चूत काफी ज्यादा टाइप थे तो जल्दी से जा नहीं रहा था पर तीन-चार धक्के देने के बाद आराम से अंदर चला गया। वहां से हम दोनों की शुरू हुई वासना की आग।

इसे भी पढ़ें  Searching for indian porn sites? ThePornDude will guide you!

मैं जोर-जोर से उसको चोदने लगा और वह सिसकारियां लेने लगी अंगड़ाइयां लेने लगी मुझे चूमती मुझे किस करते और मुझे अपनी बाहों में भर लेती। मेरी बहन की यह अदा मुझे बहुत पसंद आ रहा था। मैं कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि इतनी खूबसूरत लड़की की चुदाई में करूंगा और वह भी सगी बहन की। मैं नीचे लेट गया वह ऊपर आ गई अब मेरा लंड पकड़ कर वह बैठ गई पूरा लंड उसकी चूत में जब चला गया तो सिसकारियां ले लेकर उछल उछल कर चुदवाने लगी।

30 मिनट के जुदाई में ही मैं झड़ गया। पर वह शांत नहीं हुई वह मुझे मुझे चूमती रही सहलाती रही। 20 से 25 मिनट में मैं फिर से तैयार हो गया और फिर से अपना लंड उसकी चूत में डालकर चोदने लगा। पूरी रात उसको चोदा रुक रुक कर और वह भी उसे जमकर चूत मारने दी। दिन में 12:00 बजे उठा क्योंकि हम दोनों ही नंगे सो गए थे एक दूसरे को पकड़ कर उठने के बाद फिर साथ में नहाए बाथरूम में जाकर। खाना खा कर फिर हम दोनों एक साथ हो गए और एक दूसरे के जिस्म के साथ खेलते हुए फिर से चुदाई शुरू हो गई।

अब तो मैं क्या उसको बोलूंगा वह खुद मुझे बोलती है आज हो जाए क्या। और मैं कहता हूं क्यों नहीं हो जाए फिर हम दोनों का प्लान बन जाता है और हम दोनों सेक्स करते हैं। मम्मी पापा कमरे में सोते हैं और हम दोनों छत वाले कमरे पर सोते हैं तो कोई दिक्कत भी नहीं है नीचे कुंडी लगा देते हैं मेन गेट का पापा मम्मी नीचे रह जाते हैं हम दोनों रंगरेलियां रात भर करते रहते हैं। मैं जल्द ही दूसरी कहानी नॉनवेज story.com पर लिखने वाला हूं।