Home » Family Sex Stories » करवाचौथ : मुझे भी और मेरी बहन को भी चोदा

करवाचौथ : मुझे भी और मेरी बहन को भी चोदा

New hot story in Hindi, Karwachauth Sex Story, Karwa Chauth Sex, Wife husband sex, Wife Sister Sex, Sali Sex, Karwachauth sex kahani Hindi, करवाचौथ की चुदाई कहानी,

मेरा नाम ज्योति है पिछले साल ही मेरी शादी हुई है।  मैं मायके में ही करवा चौथ का व्रत कर रही थी। क्योंकि मेरी मां हॉस्पिटल में भर्ती थी।  मुझसे छोटी बहन है जिसका नाम है नीतू। यह मेरा पहला करवा चौथ का व्रत है। मैं अपने पति की लंबी उम्र के लिए और परिवार में शांति हो इसके लिए मैं यह व्रत रखी थी। 

 दिन भर में व्रत रखे खूब सजी समरी ब्यूटी पार्लर गई।  ताकि पति को पसंद आए और मेरी आज फिर से सुहागरात में हुआ भी सब कुछ ठीक था चांद निकल आया चांद को मैंने जल्दी छलनी से मैंने पति के चेहरे को देखी उन्होंने मुझे पानी पिलाया और व्रत की समाप्ति हुई। 

 इस दिन के लिए मैंने अपने प्राइवेट पार्ट के बाल को अच्छी तरीके से साफ थी ताकि आज की रात यादों की रात रहे मैं अपने पति को सेक्स में खुश करना चाहती थी इसलिए जितना हो सका इतना अच्छे से तैयार हुई नए ब्रा और पेंटी खरीदी वह भी नए स्टाइल में।  खाना पीना खाकर हम दोनों सोने चले गए मेरी बहन दूसरे कमरे में टीवी देखने लगी.

 मेरा पति मुझसे बहुत प्यार करता है आज के लिए भी मेरे लिए गिफ्ट लाए। वह सुबह से ही बोल रहे थे कि आज मैं तुमको छोड़ दूंगा नहीं आज तो मुझे रोकना नहीं आज मैं जैसे करना चाहूंगा करने देना मेरे को।  आज यह मत कहना कि पीछे से नहीं दूंगी आज यह मत कहना ऐसे मत करो आज मुझे खुल्ला छूट दे देना और मैं यही सब सोचकर खुल्ला छूट देने के लिए मैं खूब अपने आप पर खर्च किया खूबसूरत बना ताकि रात को रंगीन बना सके.

गरमा गर्म सेक्स कहानी  नामर्द पति को छोड़कर ससुर के साथ रहती हूं

 मैं तो खूबसूरत लग ही रही थी दरवाजा बंद होते ही पति मेरे ऊपर टूट पड़े गोरे गोरे गाल चूमने लगे लंबे लंबे बाल को  सहलाने लगे। उन्होंने मेरी साड़ियां बड़े प्यार से खुली जैसा कि उन्होंने मुझे पहली रात में खोला। अब मैं पेटिकोट और ब्लाउज पर आ गई थी उनकी निगाहें बड़ी कातिल  वह मुझे घूर के देख रहे थे नीचे से ऊपर तक ऐसा लग रहा था वह हमें आज खाएंगे चाट जाएंगे। और हुआ भी ऐसा उन्होंने तुरंत ही ब्लाउज खोल दिया। ब्रा के हुक खोल दिया मेरे दोनों चूचियां  बाहर आ गई मेरे दोनों चूचियां क्रिकेट के बाल की तरह टाइट हैं। दबाने लगे, निप्पल को पिने लगे। मेरी आह निकल रही थी मैं काफी ज्यादा कामुक हो गई थी मैं बेड पर लेट गई उन्होंने मेरे पेटीकोट खोल दिया , मेरी पेंटी को भी उतार दिया और फिर मेरी चुत चाटने लगे।  मेरे होठ लाल लाल थे खूब सजी हुई थी ऐसा लग रहा था की बस सुहागरात ही है। 

उसके बाद उन्होंने मुझे काफी गरम कर दिया मैं भी कोई कसर नहीं छोड़ी, उनके लंड को खूब चूसा, उनको खूब गरम किया और फिर क्या था दोस्तों वो मुझे चोदने लगे। मेरे कमरे से आह आह की आवाज निकल रही थी. माँ तो ऊपर के फ्लोर पर थी पर मेरी बहन मेरे कमरे के बगल में थी पर मैं बिना किसी के परवाह किये मैं चुदवाने लगी. मुझे कभी निचे से कभी ऊपर कर के कभी घोड़ी बना कर खूब चोदा मैं काफी थक गई थी।  और फिर दोनों थोड़े देर में ढेर हो गए। 

गरमा गर्म सेक्स कहानी  मेरा भाई मुझे पुत्र का सुख दिया मेरा सपना साकार हुआ

दोनों लेटे रहे और मुझे हलकी हलकी नींद आ रही थी। तभी मेरे पति बाहर गए बोले अभी बाथरूम से आ रहा हूँ। मेरी आँखे बंद हो गई थी और मैं सो गई थी। रात के करीब 2 बजे चीखने की आवाज आई देखि तो मेरे पति बेड पर नहीं थे। मैं अपने बूब्स पर दुप्पटा रखी निचे पेटिकोट डाली और बरामदे पर गई। तो आह आह की आवाज आ रही थी वो मेरी बहन के कमरे से। झाँक कर देखा तो सन्न रह गई। 

मेरे पति निचे है और वो ऊपर उछल उछल कर चुदवा रही थी. उसके लम्बे बाल बिखरे थे, गोल गोल चूचियां झटके दे दे कर हिल रही थी. उसकी चूतड़ हिल रही थी साली गजब की लग रही थी। 

दोस्तों आज मैं साक्षात् सनी लिओनी देखि थी. वैसे ही लग रही थी। 

मुझे गुस्सा नहीं आया मुझे लगा क्यों ना दोनों बहन मिलकर इसका आनंद लें। और फिर मैं अपना दुप्पटा फेकि पेटिकोटि खोली और अंदर चली गई। वो दोनों हड़बड़ा गए। मैं बोली रिलैक्स चलता है। 

मेरे पति बोले भगवान् सबको तुम जैसी पत्नी दे और मेरी बहन भी बोली हां दीदी ऐसी दीदी तो नसीब बालों को ही मिलता है। 

और मैं अपने बहन के चूचियों को पिने लगी. मैं अपनी चूचियां उसके गांड में रगड़ने लगी। जब मेरे पति मेरी बहन को चोद रहे थे तब मैं अपने पति के मुँह पर अपनी चूत रख चटवा रही थी हम दोनों बहन एक दूसरे के चूचियों को पि रहे थे किश कर रहे थे मेरे पति निचे और मेरी बहन लंड पर और मैं उनके मुँह पर गजब का माजरा था। 

गरमा गर्म सेक्स कहानी  बहन की चूत चोदकर नाजायज रिश्ता बनाया

दोस्तों सच बताऊँ तो इसको कहते है करवाचौथ। मेरी भी चुदाई मेरी बहन की भी चुदाई और मेरे पति को तो कैसा हुआ चूत और बूब मिल गया और क्या चाहिए ?

खूब मजे किये करवाचौथ के दिन। आशा करती हूँ आप भी अपने पत्नी के चूत का भौसडा बना दिया होगा अगर वो भी करवाचोथ का व्रत की होगी तो। आज तो सभी औरतें हुस्न की परी लगती है और रात में उसके चुत का और गांड का बूब्स का भोसड़ा बन जाता है। नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर ऐसे ही कहानियां पोस्ट करते रहूंगी।