भैया भाभी को और मुझे साथ चोदता है पर दोनों ही प्यासी रह जाती हूँ

loading...

Delhi Sex Story, Noida Sex Story, UP Sex Story, Uttar Pradesh Sex, Bhabhi Bhaiya Sex Story, Bhai Bahan Sex, Bhaiya Bhabhi aur Bahan ki Chudai Kahani, Hindi Sex Story Brother sister and Bhabhi ki

loading...

दोस्तों मेरा परिवार बहुत ही खुले विचारों वाला है, हम लोग एक मोर्डर्न लाइफ जी रहे हैं, पापा पहले फ़ौज में बड़े पोस्ट पर थे। ज़िंदगी बड़ी शान से कटी, भइया की शादी भी एक मॉडर्न लड़की से हो गया है पिछले साल भाभी भी मॉडर्न है वो और भी ज्यादा खुले विचार की है। भाभी को सेक्स ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा लगता है वो इस रिश्ते को नाजायज़ नहीं समझती है किसी से सेक्स करो किसी से सेक्स करवाओ उन्हें सब ठीक लगता है।

पहले मैं अपने बारे में बता देती हूँ। मेरी उम्र 21 साल है, मेरे भाई की उम्र 25 है और मेरी भाभी 22 साल की है। मैं 34 नंबर की ब्रा पहनती हूँ। गोरी हूँ, गांड मेरे उभरे हुए है होठ पिंक है। बाल मेरे लम्बे है और बाल सुनहला करवाती हूँ। मैं किसी से भी सेक्स कर सकती हूँ बस लौड़ा मोटा और लंबा चाहिए या तो जो मुझे देर तक चोद सके।

मैं भाभी के खुलेपन से मैं भी चुड़क्कड़ हो गई, शादी के एक महीने बाद ही वो एक मुझे भैया के साथ ज्वाइन करने को बोली रात में, भाभी बोली की आओ हम दोनों मिलकर चुदाई करवाएंगे। मुझे तो थोड़ा ठीक नहीं लगा था, मेरे और भैया में पहले से ही किश और बूब दबाने तक चल रहा था पर कभी हम दोनों ने चुदाई नहीं की थी। पर दोनों भाई बहन खुले दिल से एक दूसरे को किस करते थे। पर दोनों चुदाई में दुरी बनाये हुए थे।

कुछ दिन तो टालती रही, पर चुदने का मन बहुत कर रहा था, एक दिन की बात है। भैया और भाभी दोनों मूड में थे और पापा मम्मी देहरादून गई थी हम पुरे परिवार नोएडा में रहते हैं। घर में भैया भाभी और मैं थी। रात को जोर जोर से आवाज आ रही थी क्यों की भाभी चुद रही थी। भाभी मोअन कर रही थी आह आह और सेक्सी सिसकियाँ निकाल रही थी। मैं अपने कमरे में चुत सहला रही थी। थोड़ी देर बाद मेरी भाभी नंगी बिलकुल नंगी मेरे कमरे में आ गई जैसे ही मैंने दरवाजा खोली वो नंगी कड़ी थी पसीने पसीने हो रही थी बाल बिखरे थे भाभी के बूब पर दांत के निशान थे। भाभी बोली रेखा आज आ जाओ ज्वाइन कर लो ज़िंदगी के मजे लो। मैं थोड़ी नर्भस होने लगी तभी वो मेरी हाथ पकड़ लिए और अपने कमरे के तरफ खींच कर ले जाने लगी। मैं उनके पीछे पीछे वो भैया के पास ले गई।

भैया बेड पर लेटा था और अपना लौड़ा सहला रहा था। टेबल पर दो गिलास बगल में व्हिस्की थी। अंदर जाते हि भाभी मुझे एक पेग दी। मैं मना करने लगी तभी भैया बोले ले लो कोई बात है मेरे से क्या शर्म करना। और मैं व्हिस्की गटक गई। दोस्तों भाभी ने मेरे कपडे उतारने शुरू किया और भैया मेरे बदन को निहार रहे थे जब पूरा कपड़ा उतर गया तब भैया बोले ओह्ह्ह क्या माल है यार मजा आ गया। और भाभी भैया के लंड को चूसने लगे और फिर मुझे भी बोली चूसने, मैं भी धीरे धीरे चूसने लगी और फिर स्पीड मेरा बढ़ गया। भाभी मेरी चूचियां सहला रही थी। मैं भैया के लौड़े चूस रही थी। फिर मैं भाभी के चुत को भी चूसने लगी। अब हम दिनों जिसको भी जो मौक़ा मिला वही चूसने लगा किस करने लगा सहलाने लगा ,

गजब का माहौल बन गया था. भैया ने मुझे लिटा दिया और अपना लौड़ा मेरे मुँह में देने लगा फिर वो मेरी दोनों चूचियों के बिच में भी लौड़े देने लगा। फिर वो निचे जाकर मन भर वो मेरी चूत चाटा फिर वो अपना लौड़ा मेरे चूत पर रखकर चुत में डाल दिया, और चोदने लगा. मैं कराह रही थी भाभी मुझे सहला रही थी और कह रही थी ना बेबी ना बा बेबी ना चोदने दे भैया को ले ले मजा, मैं चुदवा रही हूँ ना, खूब मजे ले तभी मैं आह आह करने लगी वो बोली क्या हुआ बेबी और अंदर लेने का मन कर रहा है, मैं बोली हां भाभी हां, भाभी बोली ठीक है और वो भैया को बोली, खुश कर दो मेरी ननद को वो और जोर जोर से चुदना चाहती है भैया जोर जोर से चोदने लगे।

भाभी बोली अब मेरी बारी, अभी मेरी चूत की प्यास बुझी भी नहीं थी तभी भाभी भी भैया का लौड़ा पकड़ पर अपने चूत में डाल ली और गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी, मैं तब तक भैया के गांड में अपनी दोनों चूचियां रगड़ रही थी। भाभी भी कह रही थी जोर से और जोर से भैया भी जोर से कोशिश कर रहे थे पर शायद वो उतना नहीं चोद रहे थे जितना भाभी चाह रही थी। फिर भैया भाभी को छोड़ मुझे फिर से चोदने लगे क्यों की मेरी चूत जवान थी और टाइट भी ,

पर भाभी और मैं दोनों ही प्यासी ही रही उस रात। दूसरे दिन फिर वैसी ही चुदाई हुई अब तो मजे से भैया को कहती हु आज दोनों को संतुष्ट कर देना। पर रोजाना भैया दोनों को चोदते हैं पर वो संतुष्ट नहीं कर पाते हैं। हो सकता है एक दिन में एक को संतुष्ट कर दे पर हम ननद और भाभी साथ में ही चुदना चाहते हैं।

भाभी बोली अब मैं किसी आदमी की जुगाड़ करती हूँ ताकि हम दोनों को खुश कर सके। भैया अब 10 दिन बाद अमेरिका जा रहे हैं एक महीने के लिए। पापा और माँ दोनों देहरादून में हि हैं क्यों की वह कोठी बन रही थी।

हम दोनों ननद भाभी चाहते हैं एक महीने किसी हैंडसम से टांका फिट हो जाये वो मेरे ही फ्लैट नोएडा आकर दोनों को खुश कर दे। अगर आपके पास जिगरा है और मोटा लौड़ा है या देर तक चोद सकते हैं तो सदर आमंत्रित हैं चुदाई के लिए। आप कमेंट करें मैं जवाव दूंगी और एक को रात का राजा बनाउंगी। नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम का धन्यवाद वो मेरी कहानी पब्लिश की।

loading...

Hindi Sex Story

Hindi Sex Stories: Free Hindi Sex Stories and Desi Chudai Ki Kahani, Best and the most popular Indian top site Nonveg Story, Hindi Sexy Story.