आंटी की चुदाई और गांड मारी अपने 8 इंच के लंड से

एक दिन मैं आंटी के घर गया नीता आंटी अकेली थी. मैं ने आंटी से पूछा सब लोग कहा है आंटी ने जवाब दिया की अंकल तो तुमको पता ही है और सभी बच्चे मामा के घर गये है आज रात को नही आएँगे. फिर मैं ने आंटी को कहा के ठीक है आंटी मैं चलता हु, आंटी ने मुझे रोक लिया और कहा अभी रुक जाओ मुझे नहाना है जब तक तुम मेरे घर का ख़याल रखना मैं अभी नहा कर आती हूँ. आंटी नाईट सूट में ही थी अंदर ब्रा भी नहीं पहन रखा था उनकी बड़ी बड़ी चूचियाँ साफ़ साफ़ दिख रही थी. आंटी बोली तू मेरा लैपटॉप भी ठीक कर के जाना खराब है. मुझे नहीं पता था की आंटी भी लैपटॉप चलाती है, मैं रुक गया आंटी नहाने चली गयी मैं इनके बेडरूम मैं आंटी का वेट कर रहा था के अचानक मेरी नज़र बेड पारी बेड पर टॉवल पेंटी और ब्रा पारा था.ब्रा और पेंटी बहुत अच्छी क्वालिटी का था और पारदर्शी था. तकरीब 15 मीं बाद आंटी ने आवाज़ दे और कहा टवल दे दो मुझे. मैंने आंटी को टवल दिया फिर आंटी ने कहा अमन प्लीज़ मेरी पनटी और ब्रा भी दे दो मैं ने आंटी को पेंटी और ब्रा भी दे दिया. अब आंटी नहा कर निकली आंटी ने वाइट कॉटन का शूट पहना था . आंटी के ब्लैक ब्रा नज़र आरहा था. अब मैं ने आंटी को कहा आंटी अब मैं चलता हू आंटी ने कहा तुम्हे कही काम से जाना है क्या?
मैं ने जवाब डेया नही फिर आंटी ने मुझे कहा के रुक जाओ मैं अकेली हू बोर हो जाऊंगी गी. कुछ बाते वगेरा करते है.मैं बैठ गया और आंटी की अपनी लाइफ के बारे मैं बता रही थी . अब आंटी खूब खूल कर बाते कर ने लगी. मेरे से पूछने लगी के तुम्हारी गर्लफ्रेंड्स है या नही कभी सेक्स किया है या नही. मैं ऐसे बात सुन के हैरान हो गया.अब मैं भी खूल गया था. मैं ने आंटी से पूछा की आंटी आप को सेक्स पसंद है? आंटी ने जवाब दिया के सेक्स हर किसे को पसंद होता है पागल. क्यों तुम्हे पसंद नहीं क्या? आंटी ने कहा, मैं ने जवाब दिया कभी किया नहीं. आंटी ने कहा झूठ मत बोलो मुझे मालूम है तुम बहुत बुरे हो तुमने अपनी काम वाली को चोदा है और नेहा को भी मुझे सब पता है.और तुमने उन पर की स्टोरी भी लिखीी मैने भी तुम्हारी स्टोरी कल रात को पढ़ी है जो की नॉनवेज डॉट कॉम पे थी, और मेरी चुत गिल्ली हो गयी थी,जी करता था की तुमको रात को ही आपने घर बुल्लाकर अपनी प्यास बुझा लू , लेकिन बच्चे घर पे थे, झूठ बोलता है, तूने अपना मोबाइल नंबर भी दे रखा है,लेकिन मैने सोचा जब घर आओगे तब ही बात करूँगी तुमसे.तेरी मों को बोलना पड़ेगा की तेरा विवाह कर दें . मैं अचानक डर गया आंटी ने कहा डरो मत मैं कुछ नही कहुगी. मैं ने तू तुम को नंगा भी देखा है.
मैंने ने आंटी से पूछा कब देखा आप ने मुझे नंगा? आंटी ने जवाब दिया जब तुम मेरे घर के बातरूम मैं पेशाब कर रहे थे . मैं ने कुछ नही कहा. मेरी भी चुत प्यासी है क्या अपनी आंटी की प्यास नहीं बुझाऊगे स्टोरी मैं तो लिख रखा है तुम चुदाई के लिए हाज़िर हो जिस किसी भी आंटी या भाभी को चाहिए अब चुप क्यों बैठो हो बोलो,..अब तुम्हारा लॅंड प्यास बुझाएगा मेरी चुत की प्यास को. मैं नीता आंटी की बातों से मन ही मन खुश हो रहा था सोचा नहीं था कि अभी आंटी खुद व खुद तैयार हो जाएगी मैं उनसे डरता भी था वो बहुत गुस्सेवली थी.आंटी ने अब अपना हाथ मेरे लॅंड पर रखा मुझे तब बहुत अछा लगा मेरी आंटी बहुत प्यासी थी वो बिल्कुल गोरी थी.उनकी उम्र 38 की थी लेकिन अभी भी बिल्कुल जवान लगती थी.ज़िंदगी मैं आज पहली बार 38 फीमेल के साथ सेक्स करने जा रहा था. अब आंटी ने मुझसे कहा अपनी पेंट उतारू मैं भी देखू तुम्हारा प्यारा सा लंड मैं ने अपनी पेंट उत्तर दे मैने उस दिन अंडरवेर नहीं पहना था. मैं अब नीचे से नंगा था आंटी मेरे पास आई और मेरी शर्ट भी उतार दी और मुझे पूरा नंगा कर दिया. आंटी को मेरा लॅंड बहुत अछा लगा आंटी ने मेरा हाथ अपने बूब्स पर रखा और कहा प्रेस करते रहो प्लीज़… मैं ने खूब प्रेस काइया आंटी को मज़ा आरहा था. फिर आंटी ने अपनी कमीज़ उत्तरी फिर सलवार उतरी फिर मेरे लॅंड को चूसने लगी फिर मैं ने आंटी की ब्रा खोलने की कोशिस कर रहा था.
तो आंटी मुस्कुरा कर बोली बेटा मैं खोल देती हू. फिर आंटी ने ब्रा खोल दिया और पेंटी भी उतार दी. अब आंटी का गोरा गोरा जिस्म मेरे सामने पूरा नंगा था. आंटी ने अपने बड़ी बड़ी बूब्स को मेरे लॅंड पर रख दिए और अपने बूब्स से मुझे चुदाई का मज़ा दे रही थी.कुछ देर बाद मैं ने आंटी की चुत को चाटने लगा आंटी की आवाज़े की सेक्सी सेक्सी आवाज़े निकल रही थी आआआआआहह ऊऊऊहह अमन बेटा आआआहह ज़ोर से बेटा आआआहह तेरी आंटी प्यासी है मेरी प्यास बुझा दे बेटा.आआआआअहह. आंटी ने कहा अब अपना लॅंड मेरी चुत में डालो. प्यासी है मेरी चुत प्यास बुझाओ जल्दी मैं ने आंटी की दोनो तागॉ को अपने हाथो से अपने कंधो पर रखा और चुत पर 8 इंच का लंड रखा आंटी की चुत टाइट होरही थी मैं ने हल्का सा धक्का दी तो आंटी की चीख निकल गये और आंटी ने कहा आराम से डालो क्या जल्दी है तुमको है मैं ने कहा आंटी नही अब आराम से डालेंगे .फिर मैं ने हल्के हल्के झटको से मारे आंटी को मज़ा आरहा था.आंटी की आवाज़े निकल रहै थी.ऊओह ऊऊफ्फ्फ्फ्फ्फ हााआ.और डालो और ड़ाल आज मेरी चुत को मज़ा दे दो प्लीज़ अमन.. तेज़ करो मैं ने तेज़ कर दिया .आंटी मुझे बेड पे ले गयी और मुझे बेड पे धक्का दे दिया और बोली आज तुझसे मैं चुदवाती हूँ.और नीता आंटी ने मेरे लंड की टोपी को किस किया और मुझे सीधा लेटा दिया और मेरे लंड के उप्पर अपनी चुत रख दी और ज़ोर 2 से हिलने लगी और चिलाने लगी आहह बेटा अमन बेटा आआआआहह मज़ा आ गया तुम्हारा लंड अब मेरी प्यास बुझा देगा और ज़ोर 2 से उपेर नीची होने लगी,ऐसे मैं मेरे लंड को भी दर्द हो रहा था आंटी और मैं दोनो पागल हो गयी और मैं आंटी को उठा लिया और नीचे लेटा कर उनकी टाँगे खोल दी और फिर से चोदना शुरू कर दी,आंटी झड़ने वाली थी. हमको १५ से 20 मीं हो गयी थे और मेरा भी पानी निकालने वाला था आंटी ने कहा अंदर नही निकालना मैंने कहा ओके आंटी,
अब मैं ने अपना लंड निकल और आंटी के बूब्स पर पानी निकल दिया फिर आंटी ने मेरा लंड चूसा और पानी पी गयी .15 मीं तक हम नंगे ही बेड पर लेटे रहे फिर मैं ने आंटी से कहा आंटी मुझे आप की गांड मारनी है. आंटी ने जवाब दिया आज से सब कुछ तुम्हारा है बेटा ये गांड भी तुम्हारी है जब बोलो गे दे दूँगी मेरे सेक्सी चुदक्कड़ . मैं ने कहा अभी मिल सकती है?
आंटी ने कहा अभी क्यों नही.आंटी ने फिर मेरे लॅंड को चूसना सुरु किया 5 मीं के बाद मैं ने आंटी की मोटी मोटी गांड पर अपनी ज़बान फेरने लगा आंटी ने कहा ये क्या कर रहे हो .आज तक किसने मेरी गांड पर ज़बान नही फेरी मैं ने जवाब दिया आंटी एक एडल्ट मूवी में देखा था.आंटी ने कहा अमन तुमको तो बहुत कुछ पता है सेक्स के बारे मैं.अब आंटी डोगी स्टाइल मैं थी और मेरा लंड बैचेन था मोटी गोरी गोरी मोटी मोटी गांड मैं जाने के लिए. आंटी ने कहा आराम आराम से डालना ये चुत नही गांड है. बहुत दर्द होता है. मैं के कहा आंटी आप फिकर नही करें मैं आराम से करेंगे ओक.मैं ने अब आंटी की गांड मैं हल्का सा झटका दिया आंटी को दर्द हुआ और उनकी चीख निकल गयी .आआआहह हरामी बाहर निकल फट जाएगी रहम कर आआआआहह नो बेटा प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ अहह ऊऊऊईईए माआ मुम्मय्ी आअहह बाहर निकाल.
फिर मैं ने अपनी स्पीड हल्की कर दी . अब हल्के हल्के मेरा पूरा लॅंड आंटी की गांड मैं जा चूका था. और आंटी को भी मज़ा आरहा था. आंटी को भी बहुत मज़ा आया गांड में लॅंड ले कर. मैं ने आंटी को कहा आंटी पानी नीलकले वाला है आंटी ने कहा निकल लो.फिर आंटी ने सारा पानी फिर से पिया और लॅंड को चूसने लगी. अब जब भी मौक़ा मिलता है मैं आंटी के पास पहुंच जाता हु और आंटी की प्यास बुझाता हु,