शराबी पति को पिला कर सुला देती हूँ फिर निचे जाकर चुदवाती हूँ भैया से

दोस्तों मेरा नाम रेवती है। मैं दिल्ली में रहती हूँ। आज मैं आपको अपनी एक कहानी शेयर करने जा रही हूँ। मुझे पूर्ण विश्वास है आपको मेरी ये कहानी बहुत ही ज्यादा हॉट लगेगी। मैं आपको आज सच सच बताती हु आखिर क्या हुआ की मैं पति को छोड़ कर किसी और से चुदवाने लगी हूँ।

नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम के दोस्तों आपको भी पता है। ज़िंदगी में कई बार कुछ गलत करना पड़ जाता है। लोगों को लगता है की फलाना गलत कर रहा है या कर रही है पर लोग ये समझते हैं या सोचते हैं की आखिर ऐसा क्या हुआ था की गलत करने को मजबूर हुआ। लोग अंदर की बात नहीं जानते हैं।

मेरा पति कर्ज के बोझ में दबा हुआ इस वजह से वो रात को दारू बहुत पीता है। और इससे मेरी सेक्स लाइफ बहुत ही ज्यादा ख़राब हो गई है। मेरी सेक्स लाइफ पहले भी खराब थी क्यों की वो मुझे सही से कभी भी चोद नहीं पाया ना मुझे संतुष्ट कर पाया। मैं हमेशा ही के मामले में प्यासी रही हूँ। पर आप खुद बताइये कोई इंसान कितना दिन तक के बिना रह सकता है। वासना की आग को बुझाने के लिए भी तो कोई सहारा चाहिए।

दोस्तों मेरी उम्र अभी 28 साल है। कोई बच्चा भी नहीं हुआ है। होगा कैसे चुदाई करे कोई तब ना अपने से कैसे बच्चा पैदा करूँ। माफ़ कीजियेगा कई बार गुस्से में आ जाती हूँ जब सब लोग बोलते हैं की कब माँ बनोगी ? मैं क्या करूँ ? दोस्तों अब सहा नहीं जा रहा था इसलिए मैं एक ऑफिस में काम करने लगी मुझे काम पर निचे फ्लोर में रहने वाले भैया ने ही लगवाया है। पति को भी कोई परेशानी नहीं है क्यों की गांड फट रही है। कर्जे के मारे।

दोस्तों भैया का नाम रोशन है। उनके साथ मुझे दिन में समय बिताने का मौक़ा मिला गया है। कई बार साथ जाती हूँ और साथ आती हूँ पर घर से दूर ही उतर जाती हूँ ताकि पति को शक नहीं हो और ख़राब नहीं लगे की किसी गैर मर्द के साथ जाती हूँ। दोस्तों मैं अपनी बातें रोशन के साथ शेयर की तो वो मुझे बहुत हेल्प करने लगे।

कुछ दिनों बाद मैंने अपने पर्सनल लाइफ के बारे में भी शेयर की तो वो और भी ज्यादा मेहरबान हो गए और धीरे धीरे मैं उनके तरफ खींचने लगी और संपर्क बढ़ने लगी और एक दिन ऐसा आया की रोशन ने मुझे कह दिया आप चाहे तो रात में निचे आ सकती हो। रोशन अकेले रहते हैं क्यों की उनका तलाक हो चुका है।

इसके बाद जरूर पढ़ें  मेरी बहन पूनम की चूत का भोसड़ा बनाया

मैं बोली ठीक है देखती हूँ। दोस्तों मैं ऐसा कोई कदम नहीं उठाना चाहती थी जिससे मेरे पति को पता चल जाये और मेरी बदनामी हो जाये।

एक दिन की बात है रात को मेरे पति दारू पी रहे थे। मैं भी उनके साथ बैठी और खुद पेग बना कर पिलाई वो इतना ज्यादा पि लिए की बेहोश हो गए मैं बड़ी मुश्किल से उनको बेड पर ले गई और सुला दी वो तुरंत भी बेहोशी की हालात में चले गए। मैं तुरंत ही अपने कपडे बदली लिपस्टिक लगाई। बाल झाड़ी, डीओ लगाई और निचे रोशन के दरवाजे को खटखटाई। वो निकले और दरवाजा खोले।

मैं बोली आ गई मैं। तो रोशन ऐसे रियेक्ट किये जैसे की कितनी खुशियां मिल गई है। मुझे बहुत अच्छा लगा उसका वो रियेक्ट करना। उसके बाद मैं उनके गले लग गई और अपना होठ उनके होठ पर रख दी उन्होंने भी चूमते हुए दरवाजे को अच्छी तरह से बंद कर दिया। और फिर मुझे गोद में उठाकर बैडरूम में ले गया। दोस्तों मैं मचल रही थी।

बेड पर पहुंचकर हम दोनों ने अपने अपने कपडे उतार दिए। रोशन मेरे होठ को चूसने लगा। फिर निचे थोड़ा खिसककर मेरी चूचियों के पास पहुंच गया और मेरे निप्पल को दो उँगलियों से मसलने लगा। मैं कामुक होने लगी क्यों की किसी भी औरत का अगर आप निप्पल को दो उँगलियों से पकड़ेंगे तो वो चुदाई के लिए पागल हो जाएगी।

दोस्तों उसके बाद वो मेरे बूब्स को हौले हौले से दबाने लगे। मेरे बूब की साइज 34 है गोल है और नीपल छोटा छोटा काफी सेक्सी लगता है मेरे गोर बदन पर। मैं खुद भी पांच इंच सात इंच की हूँ होठ हूँ वजन साथ किलो है। गांड चौड़ी है और कमरे काफी पतली।

दोस्तों फिर रोशन और निचे खिसक गया और अब मेरे चूत के पास पहुंच गया और मेरे दोनों पैरों को अलग अलग कर वो जीभ से मेरी चूत पर हलचल करने लगा। मैं पागल होने लगी गजब का एहसास था उस समय का। दोस्तों फिर उसने मेरी चूत में उँगलियाँ डालनी शुरू की और फिर ऊपर आया अब वो ज्यादा वाइल्ड होने लगा मैं खुद भी वाइल्ड हो गई थी। मैं अंगड़ाइयों ले रही थी मेरी चूत गीली हो गई थी। मेरे नीपल टाइट हो गए थे।

इसके बाद जरूर पढ़ें  जब तीन औरतों ने एक साथ सेक्स किया मेरा साथ

मैं सिसकारिआं ले रही थी। मैं बोली रोशन मैं काफी ज्यादा सेक्सी हो गई हूँ। अब मुझे चोदो देर मत करो। वो भी मेरी बात को मानते हुए अपना लौड़ा चूत पर लगाया और जोर से घुसा दिया अब वो मेरे ऊपर था मैं निचे। ऊपर से धक्के दे रहा था उसका लौड़ा मेरी चूत में समा रहा था और मैं निचे से धक्के दे रही थी। दोस्तों मेरा मुँह खुला का खुला ही रहा गया क्यों की उसका लौड़ा बहुत मोटा था और उसका चोदने का तरिका बहुत ही सेक्सी था।

मैं मजे लेने लगी। फिर हम दोनों 69 को पोजीसन में आ गए। अब वो मेरी चूत चाट रहा था और मैं उसका लौड़ा। करीब 10 मिनट तक एक दूसरे को खुश कर रहे थे फिर। वो मुझे घोड़ी बना दिया और मेरी गांड के तरह से मेरी चूत में लौड़ा घुसाने लगा और अपने हाथो से मेरी चूचियां मसलने लगा। वो जब धक्के देता था मैं हिल जाती थी। अब मैं भी पीछे धक्के लेने लगी उसका पूरा लौड़ा मेरी चूत में समा रहा था।

दोस्तों फिर मैं ऊपर गई और वो निचे उसका लौड़ा अब मेरी चूत में उसी पर मैं उठती और बैठती। धीरे धीरे करते हुए मैं जोश में आ गई और जल्दी जल्दी मैं चुदने लगी।

दोस्तों शनिवार का दिन था वो मुझे सुबह के करीब चार बजे तक चोदा। मैं खूब चुदी सच पूछिए तो मैं पहली बार चुदाई में खुश हुई।

जब मैं अपने घर गई तो हरामी गांड फाड़ कर सोया हुआ था मेरा पति। दोस्तों ऐसा किसी के साथ नहीं हो पत्नी कही और से चुदवा कर आये। क्यों की उसका पति उसको चोद नहीं सकता हो।