पड़ोस की दो बहने और उसकी माँ के साथ सेक्स – Part 2


मेरे प्यारे दोस्त आपने मेरी पिछली कहानी में पढ़ा है की मैंने अपनी साली पायल को रात भर कैसे चोदा, अगर नहीं पढ़ा तो जरूर पढ़े, आज मैं आपको उसका दुसरा भाग आपके सामने पेश कर रहा हु, मैं आपको बता दू, मै तीन दिन में दोनों साली और सास को चोदा ये कहानी मनगढ़ंत नहीं है, ये सच है, पहली रात को पायल को आज दिन में ही अन्नू मेरी छोटी साली का सील तोड़ दिया, क्या किस्मत पाया था मैंने उन दिनों. खैर मैं आपको अनु की चुदाई के बारे में बताता हु,


रात भर मैंने पायल को चोदा जब सुबह अन्नू उठाने आई तो आपको वो मज़ाक भी पता होगा, जो उसने किया था, जिसपर हम चारो हसने लगे थे, पायल उसके बाद नहाने चली गयी क्यों की उसे १२ बजे कही जाना था और वो शाम को लौटती, इस वजह से मेरी सास जल्दी जल्दी खाना बना दी तब तक पायल भी नहा के आ गयी थी, हम चारो मिलकर खाना खाए, फिर पायल तैयार होने लगी जाने के लिए, तभी मेरी सास बोली पायल मैं भी चलु क्या, क्यों की मुझे भी थोड़ा काम है मार्किट में, एक दिन में ही सारा काम खत्म हो जाएगा, अन्नू घर पे रहेगी आज आपके जीजाजी भी कही जा नहीं रहे है, तो अच्छा होगा अन्नू भी अकेली नहीं होगी, तो पायल बोली हाँ जी मम्मी चली मुझे भी दिन भर अकेलापन महसूस नहीं होगा, और दोनों तैयार होक चले गए.

मैं खाना खाके बैडरूम में आराम कर रहा था, और अन्नू बहार एक सीरियल देख रही थी, करीब वो ३० मिनट बाद आ गयी और वो भी बेड पे बैठ के बात करने लगी, मैंने पूछा क्या अन्नू कोई बॉयफ्रेंड है की नहीं? तो अन्नू बोली नहीं आज तक मेरा कोई भी बॉयफ्रेंड नहीं है और बनाना भी नहीं है, जीजा जी आपसे एक बात पुछू मैंने कहा हां पूछो? क्या रात को कुछ हो रहा था क्या पायल दीदी के साथ मैं जब वाशरूम जा रही थी रात को तो आपके कमरे से दीदी के रोने की आवाज़ आ रही थी फिर वो कह रही थी जोर से और जोर से, फिर मैं सोने चली गयी, सुबह आज मैं पायल दीदी को देखि की वो टांगें फैला फैला कर चल रही थी, मै मुस्कुराने लगा, वो भी मेरा जवाब सुनने के लिए कौतुहल थी, मैं चुप हो गया, अन्नू फिर बोली प्लीज जीजा जी प्लीज बोलो ना, मैंने कहा हां रात को मैं और पायल सेक्स किये थे, वो इस वजह से रो रही थी की वो पहली बार सेक्स की थी बाद में वो काफी कामुक हो गयी थी इस वजह से कह रही थी और जोर से और जोर से.


इसे भी पढ़ें  Bhabhi ki Bahan ki chudai, Bhaiya ki Saali ki chudai

अन्नू बोली हाय, तो क्या दर्द के बाद मज़ा भी आता है, मैंने कहा हां, ये ऐसा दर्द है जिसके तुरंत बाद मज़ा आने लगता है, अन्नू अपना सर झुका ली, मैंने कहा क्या बात है अन्नू आपको भी चाहिए क्या? अन्नू बोल पड़ी दर्द तो नहीं ना होगा? मैंने कहा नहीं होगा, मैं धीरे धीरे करूंगा, बोली और मम्मी को तो पता नहीं चलेगा मैंने कहा नहीं आज ऐसे भी मम्मी शाम को आएगी आने में करीब पांच घंटे है, अन्नू चुप हो गयी, अन्नू तो थोड़ा धक्का दिया की वो लेट गयी बेड पे, मैंने एक पैर उसके ऊपर चढ़ाया और मैं भी साइड में लेट गया एक हाथ उसके चूच पे रखा, और सहला के उसके होठ को छुआ, वो एक गहरी सांस ली, मैंने अपना होठ उसके होठ के पास ले गया उसके होठ काँप रहे थे, नज़र झुकी हुई थी, मैंने अपना होठ उसके होठ पे रख दिया, उसकी गरम गरम साँसे मैं महसूस कर रहा था, मैंने निचे के होठ को अपने दोनों दांत से दबाया और फिर ऊपर के होठ को चूसने लगा, उसके मुह से आह निकल गया मैंने फिर अपना हाथ उसके चूची पे ले गया, वो अब अपने हाथ से मेरे सर को पकड़ के अपने होठ के पास ले गयी और अपना जीभ मेरे मुह में डाल दो और होठ को चूमने लगी, फिर वो गाल में चूमने लगी, मैंने उसके टी शर्ट के निचे हाथ डाल के चूची को पकड़ा पर उसका चूची टाइट ब्रा में कैद था, मैंने उठा और बहार गया गेट बंद किया और अंदर आके दरवाजा भी बंद कर दिया.

इसे भी पढ़ें  मैंने अपनी मम्मी को चुदते हुए देखा फूफा से : सच्ची सेक्स कहानी

मैंने अन्नू के टी शर्ट उतार दिए और निचे केप्री भी, वो अब ब्लैक कलर की पेंटी और ब्रा में थी, उसका गोरा बदन महक रहा था, मैंने पीछे से उसके ब्रा के हुक को खोला गजब का निप्पल था एक दम पिंक कलर का उसकी दोनों बूब्स टाइट और गोल गोल था, निप्पल छोटा छोटा मजा आ गया देख के, मैंने फिर पेंटी उतार दी, वो शर्माने लगी और बेडशीट लेने लगी, अपने आप को ढकने की कोशिश करने लगी, मैंने भी कुछ नहीं कहा वो अपना मुह बेडशीट से धक ली मैंने निचे बूर के पास से बेड शीट हटाई और बूर को जीभ से चाटने लगा, वो अंगड़ाईयाँ लेने लगी, मैं करीब ५ मिनट तक बूर को चाटा अब उसके बूर से गरम गरम लस लासा क्रीम निकलने लगा मैं उस नमकीन क्रीम का मज़ा लेने लगा, उसके बाद अन्नू बोली जीजा जी, अब मुझे चाहिए देर मत करो प्लीज मैं पागल हो जाउंगी, मैंने उसके दोनों टांग फैलाये और अपना लौड़ा का सुपाड़ा छोटे से गुलाबी छेद पे रखा. और जोर से धक्का दिया.

वो छटक कर अलग हो गयी बोली नहीं नहीं बहुत दर्द हो रहा है, मैंने कहा कुछ नहीं होगा, मैंने फिर उसके बदन को सहलाया और फिर एक बार लंड बूर के पास ले जाके धक्का दिया अब आधा लंड अंदर चला गया वो कराहने लगी, मैं मर जाउंगी जीजा जी, बहुत दर्द हो रहा था, मैंने रूक गया फिर एक झटका लगाया और पूरा लंड उसके बूर में दाखिल हो गया, फिर मैंने उसके होठ को चूसने लगा और उसकी चूचियों को दबाने लगा, धीरे धीरे वो निचे से धक्का देने लगी, मैंने भी थोड़ा थोड़ा धक्का देना सुरु किया और करीब पांच मिनट में ही वो अपने गांड को उठा उठा के चुदवाने लगी, उसके बूर में खून लगा हुआ था, मैं भी अपने लंड को अंदर बाहर जोर जोर से करने लगा हरेक झटके में वो हाय हाय मज़ा आ गया, आऊच आअह ओह्ह्ह्ह्ह मेरे प्यारे जीजा जी, आअह ओह्ह्ह्ह हाय हाय हाय, मैंने दोनों चूच की टाइट पकड़ा था और जोर जोर से बूर में पेल रहा था, करीब बीस मिनट बाद हम दोनों एक साथ झड़ गए, फिर वो मेरे लंड में लगे हुए वीर्य को चाटने लगी और मैंने भी उसके बूर को अपने जीभ से साफ़ किया, और दोनों पकड़ के सो गए, करीब एक घंटे बाद फिर से चोदना सुरु किये, करीब उस दिन मैंने अन्नू को चार बार चोदा, वो कहने लगी मैं पूरी तरह से संतुष्ट हो गयी हु, वो काफी खुश थी, मैंने दो दिन में दोनों बहनो को चोदा,

इसे भी पढ़ें  चचेरी बहन के साथ सेक्स गाँव में

वही किस्मत की बात है सास भी उसकी की दूसरे दिन चुद गयी, वो तो काफी सेक्सी निकली कई सारे पोज बताये, और चुदवाई, अब तो जिसको मन करता है चोदता हु, नेक्स्ट एपिसोड में अपने सास को किस तरह से चोदा मैं बताऊंगा, आप कमेंट जरूर करे और रेट भी करे निचे स्टार पे प्लीज.



Comments are closed.