दादी की चूत की खुजली को शांत करता उसका पोता


Dadi Pota Sex Story, Dadi ki Chudai, Dadi ko Pote Ne Choda, Grand Mother Sex Story, दादी की चुदाई, दादी को पोते ने चोदा, दादी पोता सेक्स स्टोरी :- कई बार सेक्स के कुछ रिश्ते ऐसे हो जाते हैं जिस पर कोई शक नहीं करता। अगर आप एक जवान आदमी औरत लड़का लड़के हैं तो आपको किसी ने अकेले में देख लिया किसी से बात करते हुए या शरीर को छूते हुए तो दूसरों को तुरंत लग जाएगा की, इन दोनों के बीच में जरूर कुछ ना कुछ चल रहा है। क्या यह सही बात है या नहीं आप खुद ही सोचिए। पर कुछ रिश्ते ऐसे होते हैं भले ही एक बेड पर सोए हुए हो पर लोगों को शक नहीं होता। ऐसे रिश्ते होते हैं मां बेटे का रिश्ता दादी पोते का रिश्ता बहन भाई का रिश्ता।


पर यही गलत है मैं लोगों को है किन रिश्तो को गलत नजर से नहीं देखा जाता है कभी गलत नहीं होता है। पर आजकल गलत हो रहा है। नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर कई सारे कहानी आपको मिल जाएगी , जहां पर अपने ही परिवार में एक दूसरे को सेक्स करते हुए और एक दूसरे के बासना को शांत करते हुए कई ऐसी कहानियां मिल जाएगी आपको पढ़ने के लिए। आज मैं नॉनवेज story.com पर अपनी कहानी लिख रहा हूं। यह कहानी मेरी दादी के बारे में जो कि उम्र में करीब 65 साल की है। शरीर कमजोर हो चुका है मुंह पर झुर्रियां आने लगी है पर अभी तक जो जवान है वह है उनके बूब्स यानी कि उनकी चूचियां।

मेरी दादी की चूचियां अभी भी बड़ी-बड़ी और टाइट है। निप्पल देखकर आपको लगेगा किसी जवान लड़की का निप्पल है पिंक है। इसका कारण यह हो सकता है जब मेरी दादी 30 साल की थी तभी मेरे दादा जी का देहांत हो गया और तब से शायद उसने कभी किसी और के साथ सेक्स संबंध नहीं बनाए थे पर जब से मैं जवान हुआ हूं तब से मैं अपनी दादी से संबंध बना रहा हूं तो मैं पूरी कहानी बताऊंगा यह सब कैसे स्टार्ट हुआ और मैं क्या-क्या करता हूं। आइए सीधे कहानी पर आते हैं हम लोग।


मेरे मम्मी पापा दोनों सेक्स के भूखे हैं। वह हमेशा अकेले सोना पसंद करते हैं ताकि एक दूसरे के जिस्म की जरूरत को पूरी कर सके। ऐसे में जब मैं छोटा था तो मैं उठ कर बैठ कर अपनी पापामम्मी को चोदते हुए कई बार देखने लगा था इस वजह से मुझे अपने साथ नहीं सुलाकर दादी के साथ सुलाने लगे थे वह लोग। मैं 5 साल की उम्र से ही अपने दादी के साथ सो रहा हूं दादी अकेले कमरे में सोती है उनका बेड है और मैं भी उन्हीं की बेड पर सोने लगा था।

इसे भी पढ़ें  बगल वाली आंटी टीवी देखने आई तो उनकी गदराई चूत मारने को मिल गयी

धीरे-धीरे करके मैं बड़ा हुआ दादी के साथ ही सो कर . जब मैं छोटा था तो कई बार मैंने ऐसा महसूस किया। दादी अचानक से हिलने लगती थी जोर-जोर से हिलने लगते थे और मुंह से सिसकारियां निकालती थी। बचपन में तो पूछ भी लिया था दादी क्या हुआ ठंड लग रही है तब वह शांत हो जाते थे और कहते थे चुपचाप सो जा। जब मैं बड़ा हुआ तो समझ आया कि वह अपने चूत में अपनी उंगली डालते हैं तभी वह से हिलते हैं। मेरे में इतना दिमाग था कि दादी को भी तो सेक्स की जरूरत है और जब इनका पति नहीं है तो खुद से ही तो इनको हस्तमैथुन करना होगा।

पर जब मैं जवान हो गया कॉलेज में जाने लगा तो मेरे अंदर सेक्स की भावना धीरे-धीरे जागने लगे। मैक्सिमम लड़के होते हैं और जब वह लोग सोते हैं अपने लंड को से लाते हैं सेक्स कहानियां पढ़ते हैं वीडियो देखते हैं। पर मैं सिर्फ सेक्स कहानियां ही नॉनवेज story.com पर पड़ा करता हूं। धीरे धीरे दादी के बूब्स को देखकर मैं आकर्षित होने लगा क्योंकि उनका जो बूब्स था यानी चूचियां बहुत हॉट और सेक्सी लगता था मुझे यहां तक कि मेरी मम्मी का भी इतना सॉलिड नहीं था। तो मैं रोजाना रात में किसी तरीके का बहाना बनाकर मैं उनके चुचियों पर अपना हाथ रख देता था। लेकिन आज तक का रिकॉर्ड है दादी कभी भी मेरे हाथ को अपने चुचियों पर से नहीं हटाए।

ऐसे में मुझे समझ आने लगा कि शादी को भी अच्छा लगने लगा है। धीरे-धीरे मैं थोड़ा और आगे बढ़ा मैं उनके चूत पर भी हाथ रखने लगा। अब मैं रोजाना सेक्स कहानियां पढ़कर दादी के बूब्स पर अपना हाथ रखता था फिर उनकी चूत को भी सह लाता था और फिर मुट्ठ मार कर सो जाता था। दादी को यह बात समझ में आ गया। उन्होंने एक बहाना बनाया दरवाजा बंद होता था मेरे कमरे का हम दोनों ही बेड पर होते थे। 1 दिन की बात है दादी अपने बूब्स को और चूत को जोर जोर से खुजला रही थी। रात के करीब 1:00 बज रहे थे।


इसे भी पढ़ें  होली पर पति के चक्कर में ससुर से चुदी

वह परेशान से होने लगी थी कभी उठ कर बैठ जाती कभी लेट जाती तो मैंने उनको पूछा कि दादी क्या हुआ। उन्होंने कहा मुझे बहुत तेज की खुजली हो रही है मेरे से सहन नहीं हो रहा है मैंने कहा कहां खुजली हो रही है। उन्होंने तुरंत पेटिकोट के अंदर अपना हाथ डाल दी और चूत को खुजलाने लगी और बोलने लगी यहां खुजली हो रहा है। फिर उन्होंने अपने बूब्स को खुजलाने नदी बोली यहां पर भी खुजली हो रहा है मेरे पूरे शरीर में खुजली हो रहा है। मैंने कहा मैं मम्मी को बुलाओ उन्होंने कहा नहीं मम्मी को मत बुलाओ बस तुम मुझे खुद ला दो मम्मी को मत उठाओ क्यों परेशान करोगे।


उन्होंने अपना पेटिकोट ऊपर कर दिया और उन्होंने इशारा किया कि खुजला दे। शुरुआत में मुझे थोड़ा अजीब सा लग रहा था कि मैं ऐसा कैसे करूं उन्होंने जब दो-तीन बार इशारा किया तो मैं उनकी पर अपना हाथ रख कर पहला या फिर खुजलाने लगा। दादी एकदम शांत हो गए उन्होंने अपने ब्लाउज का हुक खोल दिया अंदर ब्रा नहीं पहनी हुई थी उस दिन। मैंने उनके चूत को सहला ही रहा था उन्होंने इशारा किया कि मेरी चूचियों को भी खुजला दे। मैंने उनकी चुचियों पर भी खुजलाना शुरू कर दिया। पहली बार में उनके बूब्स को उनकी चूत को बिना कपड़े के छुआ था इसके पहले तो मैं कपड़े पर तो बहुत बार छुआ था। आज मुझे जिस्म को जिस्म से टच करने का मौका मिल गया।

मैंने दादी से कहा दादी आप बहुत स्मार्ट और सुंदर हो। उन्होंने कहा किस बात की सुंदरता जब साथ में एक राजकुमार हो और रानी को छेड़ ही ना रहा हो। मैं समझ गया दादी तो तैयार है पागल तो मैं यह बात मैं समझ ही ना सका मैंने तुरंत ही उनके बूब्स को दबोच लिया उनके गाल पर चुम्मा देने लगा। उनके चूत पर अब जो हाथ रखा हुआ था खुद लाने के लिए उंगलियां मेरे अंदर चली गई। उनके निप्पल को मैं चूसने लगा उनके होंठ को चूसने लगा। मेरी बुढ़िया दादी कमाल की सेक्सी औरत है पुराने जमाने की है चुदाई उनको आता है।


इसे भी पढ़ें  कभी हाँ कभी ना कहते कहते चुद गई मामा से

उन्होंने अपनी टांगें फैला दी और बोले आजा बीच में मैं तुरंत अपने लंड को पकड़कर बीच में आ गया उन्होंने फिर से कहा पहले जी भर के देख ले मेरी चूत को। मैंने जी भर के उनके चूत को देखा और फिर उन्होंने कहा अब मुझे चोद दे। मैंने कहा दादी कंडोम नहीं है उन्होंने कहा कोई बात नहीं मैं बच्चा नहीं देने वाली हूं। तू मजे ले मैंने तुरंत ही अपना लंड उनकी चूत पर लगाया और बस घुसा दिया। मेरी दादी चुड़क्कड़ निकली।

उन्होंने मुझे ऐसे ऐसे चुदाई के पोज सिखाएं आपको मैं बता नहीं सकता इतना सेक्सी इतने तरीके से मेरा लंड उनकी चूत में पूरी तरीके से समा जाता था। उनका चुदवाने का जो स्टाइल था वह जबरदस्त था। टांगे फैलाकर टांगे सटाकर  गांड को चौड़ा करके गांड को सटाके। अपने हाथ पैरों को फैलाकर। घोड़ी बनकर एक टांग उठा कर उल्टा होकर नीचे होकर झुक कर। उन्होंने 1 घंटे तक अलग-अलग पोज में अपनी चूत में मेरा मोटा लंड ली थी।

जब मैं हार गया, तेरे दादा जी रात रात भर मेरी चुदाई करते थे। मैं थक जाती थी लेकिन वह नहीं थकते थे। मैं तुमको दवाई बताऊंगी तुम भी ऐसे ही चोद सकोगे। कुछ दिन के बाद से दादी के साथ सोने का मेरा तरीका ही बदल गया और सच पूछो तो मेरी जिंदगी ही बदल गई आज कल मैं बहुत मजे कर रहा हूं। मैं दूसरी कहानी जल्द ही नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर लिखने वाला हूं तब तक आपको प्यार भरा नमस्कार।