ज्यादा मॉडर्न बनने के चक्कर में चुद गई भाई से

दोस्तों आज मैं आपको अपनी की कहानी सुनाने जा रही हूँ। ये सेक्स कहानी मेरे और मेरे भाई के बिच में है। कैसे मैं मॉडर्न बनने के चक्कर में अपने भाई से चुद गई वही बताने जा रही हूँ। ये मेरी पहली कहानी है नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर।

दोस्तों मैं 12 पास हूँ हॉट हु सेक्सी हूँ। किसी को भी पागल बना सकती हूँ। किसी को भी अपने झांसे में ले सकती हूँ। किसी को भी अपने जाल में फांस सकती हूँ। पर जाल में खुद फंस गई इस बार इस बार मेरा भाई ही मुझे चोद दिया कैसे जानिए। मैं ये कहानी आपको इसलिए बता रही हूँ ताकि आप भी किसी लड़की को चोद सकें जो मॉडर्न बन रही है वो जल्दी आपके झांसे में आ जाएगी।

दोस्तों ये सब कैसे हुआ अब जानते है। मैं जैसे ही स्कूल छोड़ी मुझे भूत सवार हो गया, लाईकी का, टिक टॉक का, फ़ोन खूब चलाने लगी, वेब सीरीज देखने लगी। और नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर कहानियां पढ़ने लगी। मुझे भी लगा यार जो ज़िंदगी मैं जी रही हूँ वो तो ठीक नहीं है , मुझे इससे आगे और जाना चाहिए। तो मैं अपने आप में बदलाव लाने लगी। बाल स्टाइलिस्ट कर ली। फेसिअल ब्लीच नाख़ून होठ गाल का अच्छे से ध्यान रखना और सच तो ये है की मैं खुद ही तीन महीने के अंदर ही बदल गई।

मैं मॉडर्न दिखने लगी। पर कपडे अभी भी वही सब पुराने थे। मेरी मम्मी और पापा मुझे कभी नहीं रोके। ऐसे भी पापा सुबह आठ बजे जाते हैं और रात को बारह बजे आप है। माँ मेरी स्कूल में टीचर है तो वो भी सुबह ही चली जाती है और दोपहर बाद ही आती है। अब मैं अपने कपडे पर ध्यान दी और कुछ हॉट ड्रेस भी अपने लिए खरीद लाये।

अब मैं हॉट और ज्यादा दिखने लगी क्यों की जब आप वैसे कपडे पहनो जिससे आपकी चूचियां बड़ी बड़ी और हॉट ऊपर से हल्का हल्का दिखाई दे। और निक्कड़ भी छोटी जिसमे आपको पूरी जांघ दिखाई दे और गांड को गोलाई का पता चले तो कौन होता जिसका मन नहीं डोलेगा.

अब मैं पूरी तरह से सेक्सी और हॉट दिखने लगी थी। मेरा भाई जो मेरे से दो साल बड़ा है। उसकी भी नजर मेरे ऊपर पड़ने लगी. वो भी मुझे घूरने लगा और मेरी रंग में रंगने लगा वो भी मुझे ब्रो कहने लगा। मैं भी कुछ नए नए शब्द सिख ली जैसे फक यार, फक ऑफ़, फकिंग मेन ऐसे ऐसे। दोस्तों सबसे बड़ा जो बदलाव आया था इन दिनों को मुझे हग करने लगा गले लगाने लगा। मैं भी गले लगाने लगी गाल पर किस करने लगी। जैसा की फिल्मों में देखते हैं।

दोस्तों धीरे धीरे हम दोनों आपस में डांस भी करने लगे मैं हीरोइन बनती वो हीरो। मम्मी पापा घर पर होते नहीं और हम दोनों का ड्रामा रोजाना शुरू हो जाता। सबसे बड़ा बदलाव और ये आया की मैं बॉलीवुड की सांग पर डांस करना चाहती थी पर वो हमेशा भोजपुरी गाने पर भले ही वो समझ आये या नहीं। आपको भी पता है भोजपुरी में पेट जांघ होठ के पास आना बूब्स के पास आना ये सब होता है और वो वही नक़ल करता था।

एक दिन की बात है भोजपुरी गाने की नक़ल करते करते वो मुझे चूमने लगा मेरे बूब्स पर हाथ फेरने लगा। धीरे धीरे मुझे भी अच्छा लगने लगा और एक दिन हम दोनों आगे बढ़ गए। उसने कहा आजकल आम बात है ऐसे रिश्ते। घर में ही चुदाई कर लो। क्यों तुम भी बाहर मुँह मारोगी और मैं भी पता नहीं किस किस रंडी को पैसे दूंगा और फिर चुदाई करूंगा इसलिए जब दोनों का काम बन जाए तो बाहर क्या जाना। ऐसे भी हम दोनों इधर बदल ए है मॉडर्न हो गए है। तो क्यों ना हम दोनों नेक्स्ट लेवल पर जाएँ।

मैं भी कहाँ कम थी हीरोइन की तरह हां कह दी और वो मेरे ऊपर चढ़ गया और मेरी बूब्स को प्रेस करने लगा। धीरे धीरे दोनों का प्यार परवान चढ़ा और मेरे कपडे और उसके कपडे खुलने लगे। दोनों ने एक दूसरे के कपडे को खोल दिया हम दोनों भी नंगे हो गए थे। हम दोनों को ऐसा लग रहा कितने वर्षों के भूखे हैं वो मेरी चूचियां ऐसे पीने लगा जैसे की प्यासा हो और कुछ निकल रहा हो। मेरे निप्पल दर्द करने लगे थे।

वो पागल हो गया था वो कभी चूचियां मसलता तो कभी होठ चूमता कभी गर्दन तो कभी गाल। मैं अंगड़ाई ले रही थी। सिसकारियाँ ले रही थी वो कम्बख्त भाई मुझे परेशान कर रहा था। मैं ना चाहते हुए भी उसके लौड़े को मुँह में ले ली और चूसने लगी। वो लेट गया और मैं उसके लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी। वो अब सिसकारियाँ लेने लगा उफ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ उफ़ करने लगा।

दोस्तों उसके बाद मैं अपना चूत उसके मुँह पर ले गई और मैं अपना मुँह उसके लंड पर अब वो मेरी चूत चाटने लगा और मैं लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. वो कह रहा था तेरी चूत की पानी नमकीन है। मैं भी कह रही थी तुम्हरे लंड से भी चिपचिपा चीज निकल रहा था वो भी मुझे नमकीन लगा रहा था। दोस्तों हम दोनों एक दूसरे के प्राइवेट पार्ट को चूस रहे थे।

मैं तुरंत भी उसके लंड के पास बैठ गई वो अपना मोटा लौड़ा हाथ से पकड़ा कर सीधा किया और मैं अपने चूत को उसके लंड की सीध में लाई और बैठ गई। बहुत दर्द होने लगा था पर अच्छा भी लग रहा था तभी देखि मेरी चूत से कुछ खून की बुँदे भी निकलने लगी थी। मैं समझ गई की आज के बाद मैं कुंवारी नहीं रही मेरी सील टूट गई थी।

उसके बाद मैं धीरे धीरे गांड को ऊपर निचे करने लगी लंड चूत में अंदर बाहर होने लगा। दोस्तों अब लगने लगा था असली मजा। मैं पुरे तरह से खो गई थी दर्द गायब हो गया था। और मैं गांड गोल गोल घुमा घुमा कर के चुदवाने लगी। वो भी मेरी चूचियां मसलते हुए निचे से धक्के देने लगा। और अब मैं जोर जोर से उछल उछल कर उसके लौड़े को अंदर लेने लगी.

दोस्तों फिर मैं निचे लेट गई वो ऊपर आ गया मेरे दोनों पैरों को अपने कंधे पर रखा अपना लंड मेरी चूत पर लगाया और फिर जोर से घुसा दिया। इस बार मुझे दर्द नहीं हुआ था। मैं जोर जोर से आ आ आ आआ उफ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ्फ़ आउच कर रही थी और वो जोर जोर से ले ले ले ले ले ले कर रहा था। मैं पसीने पसीने हो गई थी मेरी चूचियां बड़ी बड़ी हो गई थी मेरे निप्पल तन गए थे खड़े हो गए थे।

मेरे बाल बिखर गए थे। वो जोर जोर से गाली दे दे के चोद रहा था। उसके बाद उसने मुझे कुतिया बना दिया मैं घुटने के बल आ गई और वो मेरी गांड के तरफ से कुत्ते की तरह चोदने लगा। मैं भी जोर जोर से पीछे धक्के देती वो आगे देता पूरा कमरा आवाज कर रहा था जब दोनों के जिस्म टकरा रहे थे तब। दोस्तों मैं तर बतर हो गई थी। वो झड़ने ही वाला था तो मैं पहले ही बोल दी थी देख कंडोम नहीं लगाया था इसलिए चूत में मत डालना।

उसने ऐसा ही किया उसने जोर जोर से चोदते हुए आआ अअअअअ आए आए आए अअअअअ उफ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ कर के अपना लैंड निकला कर मेरे पेट पर अपना सारा माल छोड़ दिया। और हम दोनों एक दूसरे को पकड़ कर लेट गए। आधे घंटे बाद दोनों उठे फिर बाथरूम में झरना चला कर दोनों नहाये। उसके बाद से तो मैं अब रोजाना चुदने लगी हूँ। पर ये सब कैसे हुआ आपका पता है क्यों की मैं मॉडर्न बनने के चक्कर में अपने भाई से चुद गई। मैं अपनी दूसरी कहानी भी जल्द ही नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर लेके आउंगी तब तक के लिए धन्यवाद।