बर्थडे पार्टी डांस फिर मूड बना और भाई ने बहन को पूरी रात

मेरा सगा भाई मेरी अठरहवी बर्थडे पर मेरे साथ सेक्स किया आपको अपनी पूरी कहानी शेयर कर रही हूँ क्या कैसे हुआ था और ऐसा क्या हुआ की हम दोनों ने उस लक्ष्मण रेखा को पार कर गए जो एक बहन भाई नहीं करता है। मैं आपको नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर पूरी कहानी बताउंगी क्या और कैसे हो गया ये सब और मैं चुद गई अपने ही सेज भैया से और उसने भी मुझे जम कर चोदा।


मेरा नाम सखी है और मेरे भाई का नाम कुणाल है। हम दोनों बहुत ही ज्यादा खुले दिमाग के है। हम दोनों बिंदास रहते हैं। दिल्ली में रहते हैं लखनऊ के रहने वाले हैं। मेरी मम्मी और पापा दोनों डॉक्टर हैं तो आजकल कोरोना की वजह से दिन रात ड्यूटी लगी होती है फुर्सत नहीं कम मिलता है। इसलिए ये काम और भी आसान हो गया था।

ये सब कैसे संभव हुआ अब वो बता रही हूँ। बात शनिवार की है उस दिन मेरा बर्थडे था। मैं अठारह साल की हो गयी थी। मेरी चूचियां और चूत जवानी की उफान पर था। मेरे गोल गोल गदराये हुए गांड किसी को भी मोहित कर सकता है। मेरे दीवाने एक छोटे उम्र से लेकर बूढ़े तक है जो मुझे घूरते रहते हैं पास पड़ोस की तो मैं रानी हूँ जब भी शाम को बाहर जाती हूँ सब लोग मुझे जरूर घूर कर देखते हैं।

तो देखने में हॉट और सेक्सी हूँ फिर तो आपको भी पता है सेक्स की कोई सीमा नहीं होती नजर से तो कोइ भी देख सकता है और अपनी आँखे सेंक सकता है वही हुआ। भाई की नजर मेरे तरफ थी। तो मुझे बहुत दिन से घूर रहा था शायद तो मेरा अठारह साल होने का इंतज़ार कर रहा था।

बर्थडे के दिन मैं अपने दोस्त को बुलाई। पार्टी खूब किया डांस किये खाना खाये। मम्मी पापा तो शाम को चार बजे ही चले गए थे अपने हॉस्पिटल। तो घर पर मैं भाई बहन ही थे। दोस्त आया केक काटकर फिर खाना खाया और वो लोग सब चले गए करीब रात के बारह बज गए थे। तभी मेरा भाई बोला सखी मेरे साथ तो तुमने अच्छे से डांस नहीं किया। तो मैंने कहा की तो हूँ तुम्हारे साथ डांस। तो वो बोला वैसा नहीं सेक्सी डांस।

कामुक और हॉट सेक्स कहानी  पति की गैर मौजूदगी में मैं ससुर जी का मोटा लंड चूस चूस कर चुद गयी

तो मैं बोली सेक्सी डांस क्या होता है तो उसने कहा छोटे कपडे में और अफ्रीकन जैसे करते हैं बदन को हिला कर निचे ऊपर से हिलाते हुए। तो मैं समझ गयी तो क्या चाहता है और कैसा डांस चाहता है। मैंने कहा कोइ बात नहीं मैंने तुरंत ही एक इंग्लिश गाना लगा दी और मैं ऊपर के टॉप खोल दी एक अंदर बनियान जो कंधे के ऊपर डोरी वाला था वही पहनी थी तो मेरी चूचियां उसमे बड़ी बड़ी और आधा बाहर की तरफ आती हुई दिखाई दे रही थी।

जैसे ही मैं टॉप उतारी वो बोला यही यही अंदाज़ में चाहिए डांस और मैं निक्कड़ छोटी दूसरे कमरे में जाकर पहन ली। अब मेरी गोल गोल गांड और मोटी जांघें दिखाई दे रही थी ऊपर से गोल गोल बड़ी बड़ी चूचियां बाहर की तरफ आती हुई और सेक्सी कमर कोई भी पागल हो जाये। ऐसा लग रहा था मेरे भाई के मुँह से लार टपक रहा था मेरे जिस्म को देखकर। शुरुआत हो गयी डांस की।

मैं सेक्सी अंदाज में डांस करने लगी कभी चूचियां हिलाती तो कभी गांड कभी गांड गोल गोल घुमाती तो झुक कर चूचियां हिलाती। उसके बाद तो मेरा भाई पागल हो गया मेरी जवानी को देखकर। वो चुपचाप खड़ा हो गया और उसकी साँसे तेज तेज चलने लगी। मैं रूक गयी समझ नहीं आया उससे हो क्या गया। मैंने पूछा क्या हुआ ? वो फिर से कुछ नहीं कहा। मैं बोली बताओ तो सही क्या बात है ?

उसने मेरे बाल पकड़ लिए और मेरे होठ पर अपना होठ रख दिया। चूमने लगा। उसकी पकड़ टाइट थी मैं छुड़ाने की कोशिश करने लगी पर नहीं छुड़ा सकी उसने मेरे लिप को चूसना शुरू कर दिया और उसका एक हाथ मेरे बूब पर आ गया और मसलने लगा। मैं कुछ भी नहीं कर पा रही थी। मैं पसीने पसीने हो गयी. उसका लंड मेरी जांघ में सट रहा था। मोटा और टाइट हो गया था। फिर मेरे अंदर भी कुछ कुछ होने लगा। और मैं ढीली हो गयी और उसकी पकड़ भी ढीली हो गयी.

कामुक और हॉट सेक्स कहानी  भाभी, उनकी बहन, उनकी माँ, तीन दिन में तीनों को चोदा

अब मैं खुद ही उसके बाल को पकड़कर उसको किश करने लगी। वो मेरी बूब को दबा रहा था और मैं उसके लंड को सहला रही थी। ओह्ह्ह्हह क्या मजा आ गया था दोस्तों मेरी चुत तुरंत भी गीली हो गयी और मेरे होठ सूखने लगे साँसे तेज तेज चलने लगी। मैं अब पुरे तरीके से उसकी तरफ आ गयी थी। मैं नहीं चाहते हुए भी अब उसके चंगुल में थी अब मैं खुद भी अपने भाई को सपोर्ट करने लगी।

उसके बाद उसने मेरे सारे कपडे उतार दिया। खुद भी नंगा हो गया। मेरी बड़ी बड़ी गोरी चूचियां देखकर वो पागल हो गया और मैं उसके तरफ ऐसे आकर्षित हुई सारे रिश्ते भूल गयी और खो गयी उसमे। उसने मुझे बेड पर लेटने कहा मैं लेट गई वो मेरी टांगो के बिच में बैठ गया और मेरे चूत को जीभ से चाटने लगा और ऊँगली करने लगा। मैं पागल होने लगी मैं अब टांगो फैला दी और चूचियां खुद ही डब्बाने लगी.

उसके बाद तो मैं सातवे आसमान पर थी। मैं चुदने के लिए तैयार थी इशारे की अब मुझे चोद दे और ऐसा ही किया उसने अपना लंड मेरी चुत पर सेट किया और जोर से पेल दिया पूरा लंड मेरी चुत में समा गया और भी यहाँ से शुरू हो गया असली खेल चुदाई का।

मेरी अठारवी जवानी को वो पी रहा था। मैं मजे ले रही थी वो धक्के देता मेरी चूचियां हिल जाती और मेरी चूत में उसका लंड अंदर तक चला जाता। मैं आह आह आह कर रही थी और वो जोर जोर से धक्के दे रहा था। मेरी चुदाई कर रहा था। हम दोनों ही कामुक हो गए थे और जोर जोर से एक दूसरे को मदद कर रहे थे चुदाई में।

कामुक और हॉट सेक्स कहानी  विधवा माँ अपने बेटे से ही सेक्स करती थी अब पेट से है

दो घंटे तक चोदा अलग अलग तरीके से पहली बार फिर हरेक दो घंटे के गेप में पूरी रात चुदाई होते ही रही। और उसके बाहों में सोती रही। मजा आ गया था। अब मैं आपको दूसरी कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर जल्द ही सुनाने जा रही हूँ।