मैं अकेला और चुदने वाली तीन और तीनो चुदने के लिए पागल पहले मुझे पहले मुझे

loading...

दोस्तों किसी को चूत नहीं मिलता है, कोई रंडी के पास जाता है, कोई हस्थ्मैथुन कर के अपना काम चलाता हैं, और किसी को भगवान देते हैं तो छप्पर फाड़ कर देते हैं, आज कल मैं भी चूत की नगरी में डूबा हुआ हु, तीन तीन चूत और चोदने वाला एक, मैं अकेला, दो चूत काफी टाइट. एक की गांड टाइट और चौड़ी, एक बड़ी गांड वाली एक छोटी गांड आर एक मिडिल साइज़ की. आज मैं आपको अपनी ये कहानी सुनाने जा रहा हु, बहूत ही सेक्सी है ये कहानी आज मैं अपनी कहानी को इसलिए नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर भेजा हु ताकि, मेरे वो भाई जो मूठ मार के काम चला रहे हैं उसको थोड़ा और भी कामुक कर दूँ, ताकि ऐसा लगे की वो भी सचमुच ही चोद रहे हैं.

तो अब देर नहीं करते हुए सीधे कहानी पर आ रहा हु, मेरा नाम कन्हैया हैं, मैं उत्तराखंड का रहने वाला हु, और दिल्ली में रहता हु, मेरी शादी अभी तीन महीने पहले ही हुई है, ये शादी लव मैरिज हैं, इसके लिए मैं तैयार था, मेरे घर बाले तैयार नहीं थे, और लड़की के पापा भी तैयार नहीं था, इस वजह से काफी दिक्कत हुई, और शादी मैंने मंदिर में कर लिया, फिर जाके कोट में, इस शादी का परिणाम ये हुआ की मेरे घर बाले मुझे अपने घर से निकाल दिए, और मेरे सास ससुर में तलाक हो गया, अब मैं, मेरी पत्नी, मेरी साली और सासु माँ साथ साथ रहने लगे.

मेरी सासु माँ की उम्र 38 है उनका नाम रम्भा है, मेरी पत्नी अर्चना 19 की और मेरी साली नीतिका 18 साल की हैं, वो तीनो नए ख़याल के लोग हैं, बिंदास जिंदगी जीते हैं, सच पूछिए तो थोड़ा मैं ही कम मॉडर्न हु, बाकी वो तीनो आधुनिक युग की लड़की और औरत हैं, स्टाइल में रहने वाली, नए नए वेस्टर्न कपडे, टाइट जीन्स, चस्मा, क्या बताऊँ दोस्तों तीनो एका पर से एक हैं, मैं इसी पर तो मर मिटा था, मेरी सासू माँ टीचर है, एक कान्वेंट स्कूल में, मेरी साली कॉलेज जाती हैं, और मेरी पत्नी वो जॉब करती हैं, सच पूछिए तो मैं ही कुछ नहीं करता मैं निठल्ला हु, कोई काम नहीं बस तीनो को चोदता हु और तीनो को खुश रखता हु,

Hot!!!  ये पिछली होली की बात है जब मैंने अपने बहन की चूत की सील तोड़ी

सुबह होते ही मेरी बीवी और सासू माँ जॉब पर चली जाती है, मेरी साली उठती है, और उन लोगो के जाने के बाद दरवाजा बंद कर देती है, और मेरे कमरे में आ जाती हैं, और चुद्वाती हैं, मेरी साली 34 नंबर की ब्रा पहनती हैं, गजब की सॉलिड चीज हैं, गोल गोल चूचियां चूतड उभरा हुआ, होठ गुलाबी, चूत पर बहूत ही कम बाल, पहले तो वो अपनी चूत चत्वाती हैं, फिर अपना दूध पिलाती हैं, फिर वो वाइल्ड हो जाती हैं, और फिर मेरा लौड़ा अपने मुह में ले के चूसने लगती हैं, मैंने भी हौले हौले बालों को सहलाते हुए, उसके चुचियों को दबाता हु, फिर निचे कर के, अपनी बाहों में भर कर मोटा लौड़ा उसके चूत पर लगा कर जोर जोर से ड्रिल करने लगता हु, बस कमरे में आह आह आह आह आह ओह्ह ओह्ह ओह्ह की आवाज आती हैं, और फिर जब दोनों का झड जाता हैं तो दोनों सो जाते हैं, करीब एक घंटे में उठते हैं, नहा धोकर, मैं काजू किसमिस और बादाम खाकर दूध पीता हु, ताकि ताकत बनी रहे, रोज एक मरदाना टेबलेट भी खाता हु ताकि लंड हमेशा खनकता रहे. फिर मेरी साली एक बजे कॉलेज चली जाती हैं. उसका कॉलेज २ बजे से है, मैं एक घंटे की नींद लेता हु.

दो बजे सासू माँ आ जाती हैं, उनके बेल बजाने पर ही मैं उठता हु, आते ही वो मुझे हग करती हैं (गले लगती हैं) उसकी बड़ी बड़ी और गदराई बदन जब मेरे सिने से सटती है मेरा लैंड खनक जाता हैं और तम्बू गाड देता हैं, फिर सासू माँ खाना बनाती हैं, फिर हम दोनों आराम से खाते हैं, और फिर मेरे बेड पर ही आराम करने आ जाती है, फिर वो मेरे बाल को सहलाते सहलाते, मेरे करीब आ जाती हैं और फिर मैंने भी उनको अपने आगोश में ले लेता हु, फिर क्या दोस्तों गदराई बदन के कपडे उतारने में ज़रा भी देर नहीं लगाता, बड़ी बड़ी चूचियां, लम्बी चौड़ी शारीर, गांड भरा हुआ, जांघे मोटी मोटी बाल लम्बे लम्बे, मैंने अपने सास की गांड को ज्यादा सहलाता हु, और चूत की बाल में उँगलियाँ ज्यादा फेरता हु, फिर मैं उनको घोड़ी बना कर पीछे से उनके गांड में लैंड डाल कर जोर जोर से धक्का देने लगता हु, बड़ी गांड हरेक झटके पर हिलती हैं, और मेरी सासू माँ जोर से आह आह आह करती है, फिर वो सीधी हो जाती है और अपना पैर मेरे कंधे पर ले लेती हैं अब वो अपने चूत में मेरा लंड खूब पकड़ कर सेट करती हैं और फिर चुदवाने लगती हैं, वो तो मुझे उस टाइम गालियाँ भी बहूत देती हैं मादर चोद कहके, मैं भी उस समय रंडी कहता हु, इस तरह से दोनों जब झड जाते हैं तब फिर सो जाते हैं. शाम को ६ बजे मेरी बीवी आती हैं, तब मेरी सासू माँ और मैं उठता हु.

loading...
Hot!!!  अतृप्त कामवाली को चोदकर यौन इक्षा की पूर्ति की

मेरी साली भी ७ बजे घर आ जाती हैं, तीनो मिलकर टीवी देखते हैं, खाना खाते हैं और फिर रात को अपनी बीवी की चुदाई, वो तो बहूत हरामी हैं, वो कभी गांड में लेती हैं कभी मुह में कभी चूत में, वो मेरे लैंड को अपनी चुचियों में रगडती हैं, और मेरे मुह में पेशाव भी करती हैं, मैं भी उसके मुह में मूतता हु, वो बहूत ही वाइल्ड तरीके से चुद्वाती हैं, रात को फिर करीब १२ बजे के करीब सो जाते हैं.

दोस्तों इस तरह से मेरी ये नई जिंदगी बहूत ही हॉट हो गई हैं, चूत ही चूत, एक बहूत ही टाइट चूत जो मेरी सास की हैं, उसके बाद मेरी बीवी का और साली की चूत तो बहूत ही ज्यादा टाइट हैं, जब मर्जी तब चोदता हु, बहूत ही मस्त जिंदगी चल रही हैं. आपको ये कहानी कैसी लगी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर स्टार रेट कर जरुर बताएं, धन्यवाद

[Total: 1629    Average: 3.3/5]
loading...