अपने दोस्त की बहन को चोदा जबरदस्त तरीके से


हेलो दोस्तों मेरा नाम संतोष है, मैं बहूत ही हॉट लड़का हू, आज मैं आपको अपनी एक कहानी इस वेबसाइट पर सुनाने जा रहा हू, आशा करता हू की आपको मेरी ये सेक्सी कहानी बहूत ही हॉट लगेगी।


तो ये कहानी बिल्कुल अभी की है। करीब 15 दिन पहले की। जैसे की आपको पता है मैं यहा कॉलेज की पढ़ाई कर रहा हू,तो मेरा एक क्लासमेट है राघव नाम का,उसकी और मेरी क्लास मे बहुत बनती है। हम दोनों ज्यादातर काफ़ी टाइम साथ हे कॅंटीन ,क्लास, रीडिंग हॉल या बॅडमिंटन हॉल मे बिताते है। (क्लास मे सबसे कूम ही) तो दोस्तो मुझे ट्रेकिंग का ज़्यादा शौक है तो हम साथ मे ही बाईक पर आस पास के फ़ोर्ट घूमते है। उस दिन उसने कहा की यार एग्ज़ॅम तो अब हो गयी है तो क्यू ना हम कही घूमने चलते है।

मैं कहा कहा चले ? मैं तो तैय्यर हू, बता कब चले? तो उसने कहा यार एस बार तू मेरे साथ घर चल मेरे गाव। उसका गाव पास मे ही था,करीब 3-4 घंटे लगते है बाईक पर। तो वहां से आगे सतारा भी है। मैने कहा हम वैसे ही महाबलेस्वर और वाइ जाएँगे फिर। तो प्लान तो हो गया की डुबह जल्दी निकलना है। 3 दिन आसपास का पूरा चप्पा चप्पा घूमेगे।


तो दूसरे दिन सुबह 6 बजे हम निकले। करीब 9:45 को हम उसके घर पहुंगचे। उसने घर मे उसकी मा से और पापा से मुझे मिलवाया। उसकी सिस्टर कॉलेज गयी थी।

राघव के घर उसकी छोटी बाहें है ये मुझे पता था। पर मुझे ये नही पता था की वो एक हॉट आंड सेक्सी बिच है। जब हम । खाकर गाव घूमकर आ गये,तब रास्ते से उसके घर के पास ही मुझे एक हॉट लड़की दिखी जो उसके घर के पास ही आ रही थी। मैं राघव के कान मे उसके बारे मे बोलने वाला ही था तभी राघव ने मुझसे कहा। और ये मेरी प्यारी बाहें। थॅंक्स गोद तब मैं कुछ नही बोला। फिर मैने भी हिी , हेलो किया। हम दोनो राघव की रूम मे जो की उप्पर थी वहां बाते कर रहे थे, इतने मे वहां उसकी सिस्टर आ गयी। उसने कहा की मा ने तुम्हे कुछ सामान लाने को कहा है। तो वो मुझे कहकर वहां से चला गया।

इसे भी पढ़ें  रानी की चुदाई का दीवाना

मेरी नज़रे तो वैशाली पर ही टिकी थी। क्या गजब की लग रही थी। लंबे बाल,उसकी कमर तक बँधी हुई छोटी, गोरा बदन, नीचे शॉर्ट पंत और उपर एक लूस टॉप। और उसमे उभरे उसके छोटे छोटे बूब्स। उसका फिगर 32-28-32 था। उसे देखकर मेरे मुहह मे पानी आ गया। राघव के जाने के बाद वैशाली वही बैठ गयी और हम बाते करने लगे। मैं जो की बॉक्सर और बनियान मे बैठा था,और ठीक तक लीन बॉडी है तो वो बात करते करते काफ़ी घूर रही थी। और मैने पूछा की क्या देख रही हो?तो उसने कहा आप वर्काउट करते हो?तो मैने हा कहा। उसने आगे आकर मेरे आर्म्स को दबाया और कहा आची बॉडी बनाई है,तो आपकी गफ़ क्या करती है? मैं तो सुन्न रह गया। ये क्या पूछा एसने। वो बोली क्या हुआ?गफ़ तो होगी ही ना। नही तो बॉडी थोड़ी बनाते। मैने कहा गफ़ के लिए बॉडी नही बनाते। फिटनेस और स्टॅमिना रखने के लिए वर्काउट करता हू। उसने नॉटी स्माइल देकर कहा अक्चा कितना स्टॅमिना है देखे तो। मैं तो अब कन्फर्म हो गया की ये तो चालू चीज़े है। अब तो एस्की आग निकलनी ही पड़ेगी।

माओने पूछा क्यू,तुम्हारे ब्फ मे स्टॅमिना नही है क्या?उसने कहा की था पर भाई को पता चला तो उसने उसे और मुझे तब बहुत मारा था। तब से कोई नही है। मैने कहा तभी तो एटनी फुदाक रही हो ना। और हासकर उसके बूंम पर चटा लगा दिया। उसने नॉटी स्माइल देके कहा अभिसे शुरू हो गये तुम तो। फिर मुझे तो ग्रीन सिग्नल मिला था ये तो। मैने खड़े होकर देखा की कों उपर तो नही आ रहा और मुड़कर उसकी कमर मे पीछे से हाथ दल दिए। और अपने बहो मे पीछे से जकड लिया। उसके कमर पर हाथ फेरने लगा,उसकी छोटी पीछे से खींच कर उसका मुहह पीछे किया और किस करने लगा। वो भी सतत दे रही थी। अब मेरे दोनो हाथ उसके छोटे मम्मे रगडकर दबा रहे थे,उसके निपल खींच रहा था। जो की आसानी से हाथ मे आ रहे थे,उसने घर मे ब्रा जो पहनी नही थी। मेरा लंड तो अब उसके चुतड मे घुसने को बेताब हो गया था।


इसे भी पढ़ें  सर्दी में हुआ मेरी बीबी शालिनी का गैंग बैंग

उसे भी वो महस्सूस हो रहा था। मैने उसके कान,नेक और होंटो को चूस कर चाट चाट कर खा लिया। उसने अपना हाथ पीछे लेकर मेरे बॉक्सर के उपर से लंड का अनुमान लगाने का प्रयास किया। बड़ी देर तक वो उससे खेलती रही। तभी सरीर की आवाज़ आई तो हम लोग अलग हो गये। उसने अपने कपड़े ठीक किए और मैं मेरा लंड चुपकर बेड पर बैठ गया। फिर रात को मुत्तन की पार्टी हुई। हम खाना खाकर वही पर सो ने गये। सब लोग वही सो रहे थे। थोड़ी देर बाद मैने कहा यार यहा मछर बहुत है (जोकि नही थे वहां) मैं नीचे रूम मे जाकर सोता हू। तो बाकी सब उपर सो रहे थे और मैं नीचे बेडरूम मे आ गया। अब मैं वैशाली की राह देख रहा था। वैशाली उसके रूम मे स्टडी कर रही थी। तो मैं उसके रूम मे चला गया। और सीधा उसपर टूट पड़ा उसको किस करने लगा। उसकी पेंटी मे हाथ डलकर उसकी चूत मे उंगली कर रहा था तो एक हाथ से उसके मम्मे मसल रहा था। मैने पूरा नंगा कर दिया।


उसके मम्मे मुहह मे लेकर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा,काटने लगा, निपल को दाँत मे दबकर ओढ़ने लगा। वो बिल्कुल बेकाबू हो गयी। वो मेरी बॉक्सर मे हस्त दल रही थी तो मैं भी पूरा नगा हो गया। और उसके हस्त मे अपना 6’5 का लंड दिया। वो उसे खींच रही थी,आगे पीछे कर रही थी। अब मैं ने उसे लिटा दिया और उसकी चूत पर आ गया। उसकी चूत चाटना शुरू किया न किया तभी वो झड गयी। तो सारा खरा पानी मैने पी डाला। फिर 69 मे होकर चूत चुसाई शुरू हो गयी। उसके चूत से लेकर जाँघो ट्के आया सारा नमकीन पानी मैने छत छत कर सॉफ किया। फिर उसने उपर आकर् मेरा लंड उसकी चूत पर सेट किया। और धक्का लगा दिया। दर्द से वो आह कर थोड़ी उपर सर्की,नीचे देखा तो मेरा आधा लंड उसके चूत मे अंदर गया हुआ था। उसकी चूत बिल्कुल टाइट थी। मेरे लंड को बिल्कुल जकड लिया था।

फिर मैं धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा उसकी साँसे हर स्ट्रोकक के साथ बढ़ रही थी। उसका एक पैर मैं अपने कंधे पर लेकर बड़ी गहराई मे लंड जाए ऐसी चुदाई करने लगा। आब उसकी मोन्निंग बढ़ रही थी। आवाज़ ज़्यादा तेज आ रही थी। मैने अपना स्पीड बढ़ाया। तभी उसने मेरी कमर को ज़ोर से पकड़ लिया और । झड गयी। अब मेरी बरी। मैने भी अपना स्पीड और बढ़ाया। उसके चूत पर मेरे बॉल्स भी जोरो से लग रहे थे। सब के । ताप्प थाआप्प्प थाआप्प्प थाआप्प्प की आवाज़ हो रही थी। और उसके मम्मे पकड़ कर मैं उसकी चूत मे झड गया। फिर मैं वैसे ही पड़ा रहा और उसके मम्मे चूसने लगा। 5 मीं मे ही फिर से मेरा लंड तैयार हुआ। मैने उसे बेड के कॉर्नर पर लाया और बेड पर झोका दिया। उसे कुत्ती बना कर पीछे से लंड को चूत मे डाल दिया। वो गांड को पीछे कर के मुझसे चूद रही थी। बहुत दीनो की प्यासी रंडी जैसी।


इसे भी पढ़ें  भाई के साथ हनीमून शादी के बाद

फिर वो बेड पर मेरे उपर आ गयी और मेरे लंड पर बैठ गयी और खुद ज़ोर जोरो से उपर नीचे होने लगी। वैसे ही पोज़िशन मे वो झड गयी और मेरी छाती पर गिर पड़ी मैने उसकी गांड को अपने दोनो हाथों मे थोडा उतकर नीचे से वैसे ही चोदना शुरू किया। और फिर थोड़ी देर बाद उसकी चूत को मेरे मेरे सफ़ेद चटनी से भर दिया। उस समय थोडा मेरे उंगली पर लेकर मैने उसकेमुह मे भर दिया। उसने भी वो पूरा पि लिया। हम दोनो काफ़ी ज़्यादा पसीने से भर गये थे। फिर उसे किस करके मैं उठकर वहां से राघव की रूम मे आकर सो गया।