खुद अपने से अपने माँ के लिए एक मोटा लंड ढूंढा

हेल्लो दोस्तों में हु रितेश, में २० साल का हु और कोलकाता में रहता हु। में इस साईट का बहुत बड़ा फेन हु। यह मेरी लाइफ की रियल कहानी हे। टाइम वेस्ट ना करते हुए मैं अपना रियल आप लोगों को बताता हूं

हमारे घर में तीन लोग हैं। मैं, मेरे पापा राम सिंह और मेरी माँ मीनाक्षी। मेरे पापा एक बिजनेसमैन है इसलिए वह हर टाइम बाहर ही रहते हैं, मेरी माँ एक बहुत ही सेक्सी महिला हे उनका उमर ३५ साल है लेकिन ऐसा लगता है कि ३० की होगी।

हम लोग मारवाड़ी होने के कारण मेरी माँ का फिगर आप लोग इमेजिन कर सकते हो। बड़े बड़े मम्में 36 के और बड़ी निकली हुई गांड है। जब माँ शॉपिंग के लिए निकलती है तो बच्चे भी उनको घूर घूर कर देखते रहते हैं। माँ मॉडर्न महिला थी इसलिए उन की सहेलिया भी बहुत थी और माँ लोगों का एक लेडीज क्लब भी था सोसाइटी में।

एक दिन की बात है, जब पापा टूर पर गए हुए थे। मैं रात को पानी पीने के लिए उठा तो देखा कि माँ की रूम की लाइट जल रही थी, तो मैंने उसे अंदर देखा तो दंग रह गया। माँ अपने बेड पर नंगी लेटी हुई थी और अपनी चूत सहला रही थी और उंगली भी कर रही थी।

मेरे को थोड़ा बुरा लगा लेकिन फिर सोचा कि पापा तो बाहर रहते हैं और माँ से सेक्स नहीं करते हैं इसलिए माँ सेक्स के लिए भूखी होती हे। इसलिए ऐसा कर रही है। लेकिन मैंने एक दिन माँ को फोन पर नीतू आंटी से बात करते हुए सुना और मैं परेशान हो गया, माँ और आंटी के बीच सेक्स करने की बात हो रही थी। तो माँ बोल रही थी कि मैं सेक्स के लिए बहुत तड़प रही हु, मेरे को एक लंड की जरुरत है नीतू तू कुछ इंतजाम कर दे प्लीज।

तो आंटी ने कहा की क्यों तडप रही है मीनाक्षी, तू एक काम कर अब इंटरनेट का जमाना है तु किसी आदमी को पटा ले और उससे चुदाई करवा ले। तो माँ ने कहा की मुझे डर लगता हे की किसी को पता ना चल जाए, अगर पता चल गया तो मेरी और मेरी फैमिली की इज्जत चली जाएगी। फिर मैं यह सुनकर सोचने लगा तभी मैंने डिसाइड किया कि मैं इसके बारे में माँ से बात करुंगा।

मैंने दूसरे दिन हिम्मत करके माँ को बोला कि माँ मेरे को तुमसे कुछ बात करनी है। तो माँ ने बोला कि बोलो। तो मेने सब कुछ बताया, की मेने उन्हें रात को बेडरूम में चूत में उंगली करते हुए देखा था और फिर नीतू आंटी से बात करते हुए भी सुना है। तो यह सुनकर उनका चेहरा पूरा लाल हो गया था। मेरे सामने माँ के आँख से आंसू आ रहे थे। माँ ने कहा कि सोरी बेटा, में सेक्स में अंधी हो गयी थी और फैमिली का ख्याल नहीं किया लेकिन अब से मैं ऐसा नहीं करुंगी।

तो मैंने माँ के आंसू पोछे और माँ को समझाया, यह तो नेचुरल है इसमें रोने की कोई बात नहीं। आप एक औरत हो और आपको सेक्स की जरूरत है। और आपको कोई चिंता करने की जरुरत नहीं है और आप को किसी बाहर वाले को पटाने की जरूरत नहीं है, क्योंकि वह लोग आपको बाद में ब्लेकमेल करते हैं, में आपको कोई बॉयफ्रेंड ढूंढ कर दूंगा और आप उस के साथ मजे करना, मेरे को इसमें कोई प्रॉब्लम नहीं है। तो माँ मेरे को देख कर मुस्कुराई और गले लगा लिया।

फिर मेने उस दिन नेट पर एडल्ट साइट पर फेक अकाउंट बनाइ और माँ की बॉडी का फोटो देकर पोस्ट किया कि कोई तगड़ा लंड वाला हे जो इस औरत को खुश कर सके? और इसे चोद चोद के रुला सके? तो दूसरे मुझे मुझे बहुत रिप्लाय आये। तो मेने सब से बात करना स्टार्ट किया और लाइव चेट भी करता था और आखिर में मुझे एक तगड़ा लंड वाला आदमी मिल गया।

उनका नाम था अनिकेत, उनकी ऊमर कुछ 40 साल थी, तगड़ा शरीर था और बहुत बड़ा लंड था करीब 7 इंच लम्बा और ४ इंच मोटा होगा। में उसका लंड देख के सोच रहा था कि यह आदमी अगर मेरी माँ को चोदेगा तो क्या हालत होगी मेरी माँ की चूत का? फिर मेने उन से सब कुछ पूछा उन के बारे में क्या करते हैं कहां रहते हैं? सब कुछ और मैंने उनको एक दिन होटल पर बुलाया और उनसे सब खुलकर बोला तो थोड़ा शोक हो गए और मेरी तरफ देख कर मुस्कुराने लगे।

फिर मैंने फाइनली उनसे पूछा क्या आप तैयार हो? तो उन्होंने बताया कि मैं तो तुम्हारे माँ की फोटो जब से देखा है तब से उनके नाम की मुठ मार रहा हूं। मैं हँसा और हम लोगों का पहला मुलाकात खत्म हुआ। मेरे को वो आदमी बहुत अच्छे लगे फिर मैंने माँ को उसका फोटो दिखाया और उनसे मिला दिया नेट पर वीडियो चैटिंग के जरिए।। तो माँ को भी वो आदमी बहुत अच्छा लगा। माँ ने मुझे बोला और दोनों के बिच चैटिंग होती रही और फोन नंबर भी दिया था माँ ने और माँ उनसे बात करती थी।

फिर मैं एक दिन निकेतन अंकल से मिला तो अंकल ने कहा कि तुम्हारी माँ बहुत भूखी हे लंड की और हम लोगों के बीच अब सेक्स चैट भी होता है, तो मैंने उनको पूछा कि क्या आप ने माँ के साथ सेक्स किया है? तो उन्होंने ना बोला। उन्होंने बताया कि आज माँ ने उन्हें घर पर बुलाया है रात को डिनर पर, और आज आप अंकल हमारे घर रुकेंगे और माँ की चुदाई करेंगे, और अंकल ने भी यह भी बोला कि मैं चाहूं तो माँ की चुदाई देख सकता हूं।

मे यह सुनकर घर आ गया और माँ ने मुझे बोला कि अंकल डिनर करने हमारे घर आने वाले हैं, तो मैंने माँ से बोला कि आज आप लोग मजे करना मेरे को कोई प्रॉब्लम नहीं है।

तो माँ मुस्कुराई और मेरे को किस किया। मैं रात का बेसब्री से इंतजार कर रहा था कि माँ कब चुदेगी अंकल से। फिर रात हुई और अंकल ९ बजे घर में आए और हम लोगों ने साथ डिनर किया। माँ और अंकल अगल-बगल बैठे थे तो मैंने देखा कि डिनर करते हुए अंकल माँ की जांघे सहला रहे थे और माँ कुछ नहीं बोल रही थी।

फिर थोड़ी देर बाद मैं भी अपने रुम में चला गया और सो गया था, मुझे नींद लग गई पता ही नहीं चला। जब मेरी नींद टूटी तो मैंने माँ के बेडरूम में देखा तो लाइट जल रही थी, तो मैं कीहोल से रूम के अंदर देखने लगा।

मैंने देखा कि माँ अपने हाथों से अंकल के लंड को ऊपर नीचे कर रही थी, तभी अंकल ने कहा कि मुझे पता है कि तुझे चोदने के लिए किसी असली मर्द का लंड चाहिए, तभी माँ ने कहा इसलिए तो मै आपसे चुदाई करवा रही हु। यह सुनकर मैं सरप्राइज हो गया और फिर माँ बोली कि आपको जब पहली बार देखा तो मेरी चूत में हलचल मच गई, और आपसे चुदवाने के सपने देख रही थी। यह सुनकर अंकल खुश हो गए और माँ ने जो गाउन पहना था उसे निकाला, माँ ने अंदर कुछ नहीं पहना था। और वह ३६ के ब्बुस देख के अंकल ने माँ की मम्मो को मुंह में लिया और जोर से उसे चूसने लगे, और दूसरे हाथ से दूसरा बूब्स रगड़ने लगे, माँ यहां पर जोर जोर से सिसकियां भर रही थी और अपने हाथों से अंकल का लंड हिला रही थी।

फिर २० मिनिट निपल चूसने के बाद अंकल ने माँ से कहा कि सिर्फ हाथ से हिलाएगी क्या? तो माँ ने अंकल की पेंट खोल दी और जब माँ ने उनका लंड देखा तो सरप्राइज हो गयी। क्योंकि लंड 7 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा था और काला था। माँ ने कहा की यह इतना बड़ा और इतना मोटा है, मैं इसे नहीं ले सकती। तभी अंकल ने माँ के सर को पकड़ा और अपना लंड माँ के मुह में डाल दिया और फिर माँ अंकल का लंड चूसने लगी। 20 मिनट तक लंड चूसने के बाद अंकल ने माँ को बेड पर सुला दिया, माँ के चूत पर हाथ फेरते हुए उन्होंने अपना मुंह माँ की चूत पर रखा और चाटने लगे, और माँ जोर से चिल्लाने लगी आह औऊ हप हहह हाउ ह यस्स गागा ही अग्ग य्य्र गग्ग हआऔउ अग्ग और करो ना बहुत अच्छा लग रहा है।

२० मिनट तक चूत चाटने के बाद मां जोर से चिल्लाई और चोद आह्ह हँ इई अहह ओह हह्ह्ह कम ओन अनिकेत।। माँ चीलाई की में जड़ने वाली हु, फिर माँ ने अपनी चूत से बहुत सारा पानी निकाला और अंकल ने वह पानी पी लिया।

फिर अंकल माँ के चूत पर अपना लंड घीसने लगे और फिर जोर से अपना लंड माँ की नाजुक चूत में घुसा दिया। यहां पर मेरी माँ का मुंह खुला का खुला रह गया मानो कि अंकल का लंड उनके मुंह से बाहर निकला हो और उन्होंने माँ से कहा की कितनी टाईट की है तेरी चूत और माँ को जबरदस्ती चोदने लगे। माँ की आंखों से पानी आ रहा था यहां पर अंकल मेरी माँ को कुत्ते की तरह चोद रहे थे, और मेरी माँ जोर जोर से चिल्ला रही थी और जोर से करो अनिकेत अहह इह हां हू ओह हहह येस्स।

45 मिनट तक अंकल ने मेरी माँ को खूब चोदा और अंकल जोर से चिल्लाने लगे और कहने लगे कि मैं झड़ने वाला हूं। इतने में अंकल ने सारा पानी माँ की चूत में डाल दिया और माँ के लिप्स को चूसते हुए बगल में लेट गए।

थोड़ी देर बाद अंकल बाथरूम में जाकर आए और माँ ने उनका लंड देखा तो अभी भी खड़ा था, तो माँ ने कहा की आपका लंड अभी भी खड़ा हे। तो अंकल ने कहा की अभी तो तेरी चूत फाड़ी हे अब तेरी गांड मारूंगा और यह सुनकर माँ डर गयी और कहने लगी आपका लंड मेरी गांड में नहीं ले सकती। तो अंकल ने कहा की चिंता मत करो आराम से करूँगा। फिर माँ अंकल का लंड मुह में लेकर चूसने लगी।

5 मिनिट बाद अंकल माँ को कुत्ते की तरह किया और माँ की गांड चाटने लगे, माँ को बहुत अच्छा लग रहा था, उसके बाद अंकल ने अपना लंड माँ की गांड में घुसना चालू कर दिया और माँ जोर जोर से चिला रही थी और यहाँ अंकल माँ को जोर जोर से चोद रहे थे। उनकी चुदाई रातभर चलती रही, फिर मेने सुबह देखा की अंकल और माँ नंगे सोये हुए थे और फिर उस सुबह जब मेने माँ को देखा तो उन्हें थोडा चलने को प्रॉब्लम हो रही थी और मेने माँ और अनिकेत अंकल के चेहरे पर ख़ुशी पायी।

2 thoughts on “खुद अपने से अपने माँ के लिए एक मोटा लंड ढूंढा

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *