जुगाड़ से अपनी सेक्स की भूखी बीबी को दोस्त से रगड़के चुदवाया

loading...

नॉन वेज स्टोरी के सभी पाठकों को नवनीत सिंह का बहुत बहुत नमस्कार। मैं आज आप लोगो को अपनी सेक्सी स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ। दोस्तों मेरी शादी एक बहुत ही मस्त माल लड़की से हुई थी। मेरी बीबी का नाम स्नेहलता था। जैसा नाम था बिलकुल वैसा काम था। उसके नैन नक्स बहुत ही तीखे थे। जब पहली बार मैंने अपनी बीबी स्नेहलता को देखा था तो उसने आँखों में काजल लगा रखा था। वो साढ़े ५ फुट लम्बी थी। गोरी चिट्टी बहुत ही भरा बदन था मेरी औरत का। बिलकुल चोदने पेलने और खाने लायक सामान थी मेरी बीबी।

मैंने उससे शादी कर ली। उसके बाद मैं सारा सारा दिन उसके दूध पिया करता था और उसकी चूत खूब मारा करता था। इस तरह २ साल बीत गये। इन दो सालों में कोई भी ऐसी रात नही बीती जब मैंने अपनी बीबी स्नेहलता को ना चोदा हो। धीरे धीरे मेरे दोस्त अपनी बीबियों को और मर्दों से चुदवाने लगे।

“यार नवनीत!! तू क्यों नही अपनी बीबी को हम लोगो से चुदवा देता है! भाई एक बार अपनी बीबी को दूसरे मर्दों से चुदवाते देख लेगा तो बेटा तेरा खड़े खड़े ही माल बहने लग जाएगा!” मेरे दोस्त बोले। दोस्तों, उस दिन के बाद से मैं रोज यही सोचता की किसी तरह अपनी जवान और सेक्स की भूखी बीबी स्नेहलता को अपने दोस्तों से चुदवा दूँ। रोज मैं यही सोचने लग गया। एक दिन मैंने स्नेहलता को एक विडिओ अपने मोबाइल में दिखाया जिसमे एक मर्द अपनी बीबी को अपने दोस्तों से चुदवा रहा था और खुद वहां बैठकर देख रहा था और मजे मार रहा था।

“जान !! क्या तुम मेरे किसी दोस्त से चुदवाओगी???’ मैंने मजाक मजाक में पूछ लिया। मेरी पत्नी स्नेहलता इस बात पर बहुत गुस्सा हुई।

“नवनीत!! तुम्हारा दिमाग तो ठीक है ना?? मैं तुम्हारी औरत हूँ कोई रंडी नही हूँ जो तुम मुझे किसी भी मर्द को थाली में परोस दो!! तुम्हारे साथ मैं भागकर नही आई हूँ जो तुम्हारे दोस्तों से चुदवा लूँ। मैंने तुम्हारे साथ ७ फेरे लिए है और शादी की है!!”स्नेहलता आग बबूला होकर बोली। उसके बाद मैंने अपने दोस्तों मिर्जा से बताया की यार मेरी बीबी को ऐसी तुमसे चुदवाएगी नगी। मिर्जा बोला की कोई बात नही। उस दिन हम दोनो से उसके घर में बैठ कर खूब ड्रिंक की। कुछ देर में उसकी बीबी रौनक वहाँ आ गयी। वो भी हमारे साथ बैठकर शराब पीने लगी। उसके बाद मिर्जा ने मुझसे खुद ही कहा की अगर मैं रौनक को चोदना चाहूँ तो चोद लूँ। फिर मैं ड्रिंक करने के बाद रौनक को कमरे में ले गया और उसकी नाईटी उतरकर उसे किसी रंडी की तरह खुद चोदा मैंने। कोई कंडोम भी मैंने नही लगाया। उससे खूब प्यार किया और खूब खाया मिर्जा की औरत को।

पर दोस्तों, मेरी बीबी स्नेहलता मुझसे तो खूब पेलवाती थी पर मेरे किसी दोस्त से चुदवाने की बात करते ही वो क्रोधित हो जाती है। कुछ दिनों बाद मुझे एक जरदस्त प्लान आया। मैंने सारी योजना अपने जिगरी दोस्तों मिर्जा को बता दी। जब रात हुई तो मैंने रात के १२ बजे उठकर चुपके से घर का मेन गेट खोल दिया और घर की तोजोरी की एक डुप्लीकेट चाभी मैंने मिर्जा को दे दी। और चुप चाप जाकर अपनी औरत स्नेहलता के पास जाकर लेट गया। वहां मेरे कमरे में ac चल रही थी। बहुत ही सुकून वाली ठंडी ठंडी हवा निकल रही थी। मेरी सेक्स की भूखी बीबी स्नेहलता ने मुझसे ११ बजे एक बार चुदवा लिया था। अब इस वक़्त को दोनों टांग फैलाकर मजे से सो रही थी। स्नेहलता ने एक गुलाबी रंग का नाईट सूट पहन रखा था। जो काफी ढीला था और उसने उसके सफ़ेद दुधिया ३४ साईज के दूध साफ़ साफ़ दिख रहे थे। मिर्जा अपने मुँह में मंकी कैप वाली टोपी लगाकर मेरे घर में किसी बदमाश में रूप में घुस आया। उसने मुँह में काला कपड़ा बाँध रखा था। जिससे मेरी जवान चुदासी बीबी मेरे जिगरी दोस्त मिर्जा को पहचान ना सके। जैसे ही मिर्जा मेरे घर में बदमाश में रूप में घुसा उसने मेरे दरवाजे पर कुछ लात तेज तेज मारी। “खोल बहनचोद!! खोल!! खोल दरवाजा!!” मिर्जा जोर जोर से चिल्लाने लगा। उसकी आवाज सुनकर मैं और मेरी जवान बीबी स्नेहलता दोनों जाग गये। दोस्तों, मैं तो पहले से जाग रहा था। ये सारा नाटक तो स्नेहलता तो जगाने के लिए था। फिर मेरे दोस्तों मिर्जा ने एक जोर की लात मेरे बेडरूम के दरवाजे पर मारी जिससे अंदर की सिटकनी टूट गयी। मिर्जा अंदर घुस आया। उसके हाथ में एक पिस्टल थी। मिर्जा से एक फायर हवा में कर दिया।

loading...

“मत मारो !! मुझे जान से मत मारो!!” मैंने झूठमुठ डरते हुए कहा। जब मिर्जा ने पिस्टल मेरी बीबी स्नेहलता की तरफ कर दी तो मेरी चुदासी बीबी स्नेहलता बहुत डर गयी और थर थर कांपने लगी।

“प्लीस !! मुझे मत मारना!! प्लीस जो चाहिए ले लो! पर गोली मत चलाना!!” मेरी बीबी डरकर थर थर कांपते हुए बोली।

मिर्जा के हाथ में एक हांकी थी। उसने मुझे २ ३ हाकी कस कसके मार दी जिससे वो असली चोर सके और स्नेहलता को कोई शक न हो। फिर उसने हाफी स्नेहलता के सामने कर दी। मैं “बचाओ बचाओ !! मत मारो!!” मत मारो!!” की आवाज करने लगा और जोर जोर से “….ऊई उई लग गयी लग गई” चिल्लाने लगा। मिर्जा ने मेरी दी हुई डुप्लीकेट चाबी से तिजोरी से सारा सोना और जेवेलरी निकाल लिया और अपने बैग में रख दिया। फिर जब उसने अपनी बंदूक मेरी बीबी स्नेहलता के सामने की तो वो डरकर कापने लगी।

“प्लीस!! मुझे मत मारो!! जो करना है कर लो” स्नेह डरकर थर थर कापती हुई हुई

“ठीक है औरत!! मैं तुझे गोली नही मारूंगा….पर इसके बदले मैं तेरी चूत मारूंगा और फिर यहाँ से चला जाऊँगा!!” मिर्जा किसी डाकू की तरह गरजकर बोला। पर स्नेहलता ने कोई जवाब नही दिया।

“स्नेहलता!! ये बदमाश! तुमको चोदना चाहता है…इसको चूत दे दो वरना ये तुमको गोली मार देगा और मैं रडुआ हो जाऊँगा। मेरी तुमसे अभी नई नई शादी हुई है इसलिए मैं तुमको नही खोना चाहता हूँ!!” मैंने कहा। कुछ देर में मेरी बीबी स्नेहलता जो मेरे दोस्तों से चुदवाने के लिए बिलकुल तैयार नही थी अब उससे चुदने को राजी हो गयी थी।

“ठीक है मुझे जीभर के चोद लूँ पर मुझे गोली मत मारना!” मेरी जवान बीबी स्नेहलता चोर के भेष में मेरे दोस्तों मिर्जा से बोली

मिर्जा उसके पास गया और उसने उसे २ ४ छप्पड़ उसके गाल पर मार दिए। “चल छिनाल अपनी ये नाइटी उतार!!” मिर्जा चीखकर बोला। स्नेहलता डर गयी और उसने जल्दी से अपनी नाईटी उतार कर फेक दी।

“चल कुतिया !! अब कुछ लटके झटके दिखा!! मिर्जा बोला। वो देखने में बिलकुल असली चोर लग रहा था। उसके सर पर मंकी कैप थी और चेहरे पर काला कपड़ा था और उसके हाथ में पिस्टल थी। मेरी सफ़ेद गोरी चिकनी बदन की मालकिन मेरी औरत स्नेहलता बिलकुल नंगी होकर मेरे दोस्तों मिर्जा का सामने डांस करनी लगी। मुझे ये देखकर थोडा रोमांच भी हो रहा था की जो लडकी किसी के सामने नंगी आती नही थी आज वो मेरे दोस्त के सामने नंगे होकर डांस कर रही थी। फिर मिर्जा ने अपने सारे कपड़े निकाल दिए पर मुँह पर उसने कपड़ा नही निकाला, वरना मेरी औरत स्नेहलता मिर्जा को पहचान लेती।

“चल छिनाल !! अब इधर आ और अच्छे से मेरा लंड चूस आकर !! वरना मैंने तेरे हसबैंड को गोली मार दूंगा और तुम हमेशा के लिए विधवा हो जाएगी!!” मिर्जा बोला और उसने एक फायर हवा में फिर कर दिया। गोली की आवाज इतना तेज थी की मेरा कान ही जैसे उड़ गया था। स्नेहलता ने गोली की आवाज सुनी तो उसकी गाड़ फट गयी।

“नही !! मेरे पति को गोली मत मारना!! मैं तुम्हारा लंड चूसूंगी!!” स्नेहलता बोली वो बिलकुल नंगी थी। वो मिर्जा के पास आकर जमीन में बैठ गयी और उसका लंड चूसने लगी। मेरा जिगरी दोस्तों मिर्जा मेरे बेडरूम में ही खड़ा था। मेरी जवान सेक्स की भूखी औरत स्नेहलता उसका लंड हाथ में लेकर चूसने लगी। उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ !!…क्या बताऊँ दोस्तों। आज पहली बार मैंने अपनी बीबी को किसी गैर मर्द का लंड चूसते हुए देखा। मुझे बहुत मजा मिलने लगा दोस्तों। डरकर ही सही। कम से कम मेरी बीबी ने किसी गैर मर्द का लंड तो चूसा। मिर्जा मेरे कमरे में ही नंगा खड़ा था। वो किसी काऊबॉय जैसा लग रहा था। उसने अपनी पिस्टल अपने कंधे पर रख ली थी और मेरी औरत से लंड चुसवा रहा था और मेरी तरफ देखकर मिर्जा चुपके से आँख मारता था।

मैं डरा हुआ होने का बहाना कर रहा था। पर अंदर से मैं मैं बहुत खुश था। मेरी जवान सेक्स की भूखी औरत स्नेहलता पूरी तरफ से नंगी थी। उसका गोरा संगमरमर जैसा बदन बहुत खूबसूरत था। मेरी बीबी के सफ़ेद थन बहुत ही सुंदर लग रहे थे। बाप रे!! वो चोदने लायक बिलकुल परफेक्ट माल थी। मेरा दोस्त मिर्जा स्नेहलता से खड़े होकर अपना लंड चुसवा रहा था। और उसकी चिकनी पीठ को अपने हाथ से सहला रहा था। मेरी बीबी की दोनों आँखें बंद थी, पर फिर भी वो मजे से मिर्जा का लंड चूस रही थी। उसके लंड को हाथ में लेकर जोर जोर से फेट रही थी। ये सब देखकर मुझे जन्नत का मजा मिल रहा था। फिर कुछ देर बाद अपना लंड चुस्वाने के बाद मिर्जा मेरी बीबी के मुँह को पकड़कर चोदने लगा। उसने १५ मिनट तक मेरी बीबी के मुँह को अपने लंड से चोदा और खूब मजा मारा। स्नेहलता के गुलाबी सुंदर होठ के अंदर जैसे ही मिर्जा का पहलवान वाला लौड़ा जाता तो मुझे ये देखकर जन्नत मिल जाती।

“चल रंडी !! अब बिस्तर पर दोनों टांग किसी कुतिया की तरफ खोलकर लेट जा!! अब मैं तेरी चूत लूँगा!! ….और याद रहे कोई होशियारी की तो मेरे पति को मैंने गोली मार दूंगा!!” मिर्जा चीखकर बोला।

मेरी बीबी स्नेहलता बहुत डरी हुई थी। वो चुपचाप मेरे सामने बिस्तर पर दोनों टांग खोलकर लेट गयी थी। “ले गांडू!! तू अपनी बीबी की चुदाई की रिकार्डिंग कर!!” मिर्जा बोला और उसने मुझे अपना फोन दे दिया। मैं चोर से डरने का झूठा मुठा नाटक करने लगा। मिर्जा बेड पर आ गया और मेरी बीबी के मस्त मस्त ३४” के दूध पीने लगा। स्नेहलता उसे मना नही कर रही थी। क्यूंकि वो बहुत डरी हुई थी। मैं अपनी बीबी की चुदाई को रिकॉर्ड करने लगा। मिर्जा का फोन लेकर विडियो बनाने लगा। आज जो कुछ मैं देख रहा था उससे मेरा लंड तुरंत खड़ा हो गया था। कबसे मेरी दिली ख्वाहिश थी कोई मर्द मेरी सुंदर बीबी के दूध पिये और उसको रगड़कर चोदे। पर आज बड़े दिनों बाद मेरा ये सपना पूरा हो रहा था।

मिर्जा मेरी बीबी के दोनों थन {मम्मे}  मजे से पी रहा था जैसे वो उसकी ही बीवी हो। मेरी बीबी स्नेहलता किसी तरह का विरोध नही कर रही थी। बड़े आराम से मिर्जा को दूध पिला रही थी। मिर्जा मुँह में एक एक रसीली चुचि को लेता था और मुँह में भरके मजे से चूसता था। काफी देर तक उसने मेरी बीबी के नाजुक मुलायम स्तन पिये और जन्नत का मजा लिया। फिर वो स्नेहलता का पेट चूमने लगा। स्नेहलता का पेट बहुत गोरा और मखमली था। मिर्जा मेरी बीबी की सेक्सी नाभि चूस और पी रहा था। उसके बाद वो स्नेहलता की चूत पर आ गया और उसकी मस्त रसीली बुर पीने लगा। दोस्तों, आज तो मुझे स्वर्ग मिल गया था। कबसे मेरे दिमाग में कीड़ा काट रहा था की काश और और मर्द मेरी बीबी की रसीली बुर को अपने होठो से जी भर के पिये और चाते, और पिये। आज जब मैंने मिर्जा को ऐसा करते देखा तो मेरा लंड खड़ा हो गया। जी हुआ की अभी जाकर मैं मुठ मार लूँ। मिर्जा मेरी बीबी की मुलायम चूत में अपनी खुदरी जीभ डालने लगा और उसकी बुर पीने लगा। मेरी बीबी की चूत में जैसे आग जलने लगी थी। उसको बहुत बेचैनी महसूस हो रही थी। मिर्जा बहनचोद मेरी औरत को अपनी औरत की तरह उसकी बुर पी रहा था। मुझे उसे देखकर बहुत मजा आ रहा था।

इस तरह तो मैं स्नेहलता की चूत पीता था। फिर मिर्जा स्नेहलता के चूत के दाने को अपनी नुकीली और खुदरी जीभ से चाटने लगा। मेरी बीबी अपनी गांड उठाने लगी। ये सब देखकर मेरे लौड़े से पानी रिसने लग गया। कुछ देर तक मेरा दोस्त मिर्जा जो एक चोर के भेष में था स्नेहलता की गोरी गोरी भरी भरी जांघो को चूमता रहा। फिर उसने स्नेहलता के दोनों सफ़ेद चिकने पैर उठा दिए और उसकी चूत में लंड डाल दिया। दोस्तों, आप विश्वास नहीं करेंगे की जैसे ही मैंने अपनी बीबी को गैर मर्द मिर्जा से चुदवाते देखा मैं अपने लोअर में ही झड़ गया। मुझे जैसे सबसे बड़ा सुख आज मिल गया और मेरे लंड ने मेरे कच्छे में ही माल छोड़ दिया।

मेरा दोस्तों मिर्जा मस्ती से मेरी बीबी को चोदने लगा। मुझे बहुत सुख मिल रहा था दोस्तों। रोज मेरी औरत सिर्फ मुझसे से चुदवाती थी. पर आज मेरे सामने किसी गैर का लंड खा रही थी।

“ओय! बहनचोद!! अपनी बीबी की चुदाई रिकॉर्ड कर रहा है की नही???” उस चोर[ यानी मेरे दोस्तों] ने मुझे चोर की तरफ धमकाते हुए पूछा

“जी हाँ!!” मैंने डरने के बहाना करते हुए कहा

फिर मिर्जा मेरी मस्त माल वाली बीबी को घप घप पेलने लगा। उसका लौड़ा बहुत बड़ा था दोस्तों। मेरी बीबी चुदवा रही थी, पर उसे ये अफ़सोस भी हो रहा था की कैसे कोई गैर मर्द उसको चोद रहा था। मेरी औरत स्नेहलता ने अपने दोनों हाथ अपने मुँह पर रख लिए थे। वो बहुत डरी हुई थी इसलिए चुदवाते समय वो चोर [यानी मेरे दोस्तों मिर्जा] की आँख में नही देख रही थी। मिर्जा स्नेहलता के बूब्स पी पीकर उसको पेल रहा था। स्नेहलता की छोटी सी चूत में मिर्जा का पूरा लंड अंदर तक समा जाता था। कुछ देर बाद तो मिर्जा ने मेरी औरत को बाहों में भर लिया। उसकी चिकनी सेक्सी पीठ में हाथ डाल दिया और पक पक मेरी बीबी को चोदने लगा। स्नेहलता भी कमर उठा उठाकर चुदवाने लगी। आधे घंटे बाद मिर्जा ने मेरी बीबी की चूत में ही माल गिरा दिया। फिर कुछ देर बाद उसने स्नेहलता को मेरे सामने घोड़ी बनाकर चोदा और जब वो आउट होने वाला था तो उसने लंड स्नेहलता की चूत से जल्दी से निकाल लिया और उसके मुँह पर सारा माल झार दिया। फिर मिर्जा ने मेरी बीबी को एक बार और चोदा।

कुलमिलाकर उसने मेरे सामने मेरी औरत स्नेहलता को ३ बार लिया।

“सुन रंडी!! तूने मुझे बहुत कायदे से चूत दी है, बहुत मजा दिया है इसलिए मैं तेरी ज्वेलरी तुझको लौटा रहा हूँ!! अब अगर तुम पति पत्नी पुलिस में चोरी की शिकायत करने गये तो मैं ये तुम्हारी चुदाई वाला विडियो इन्टरनेट पर वाइरल कर दूंगा!!” मिर्जा चिल्लाया और फिर मेरे घर से भाग गया। मेरी बीबी स्नेहलता बोली की चलो पुलिस में रिपोर्ट करते है। तो मैंने कहा की चोर कुछ लेकर तो गया नही है और अगर हम पुलिस में गये तो वो उसकी चुदाई वाला विडियो वायरल कर देगा। स्नेहलता ये सुनकर डर गयी और उसने कोई रिपोर्ट नही की। ये कहानी आप नॉन वेज स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

कहानी एक्स डॉट कॉम याद रखें रोजाना अपडेट होता है बहुत ही ज्यादा सेक्सी कहानियां है

www.kahanix.com

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *