टाइट चूच, मस्त चुदाई शादी शुदा औरत की

डियर फ्रेंड, आज मैं आपको एक सच्ची कहानी सुना रहा हू कविता, कविता मेरी वाइफ का फ्रेंड करीब 28 साल की लेडी, शादी शुदा है पर मस्त माल है, टाइट चूच, मस्त गांद, दोनो टाइट चूच करीब 36 साइज़ का है, गोरी लंबी है, वो पंजाबन है और हुमलोग उत्तर प्रदेश के है, कविता और उसका हज़्बेंड हमारे फ्लोर के नीचे ही किराए पे रहता था, बाद मे हुमलोग शिफ्ट हो गये और बीच मे उससे बातचीत बंद हो गया था क्यों की उसका मोबाइल नो. भी मिस हो गया था. एक दिन पुरानी डाइयरी मे उसका नंबर मिल गया और वाइफ ने उसको कॉल किया, वो बहूत खुश हुई और हमारे यहा आने के लिए उतावली होने लगी.

फिर प्लान बना वो फ्राइडे को आने के लिए, उसका हज़्बेंड संजय ऑफीस गया हुआ था आंड कविता का च्छुटी फ्राइडे को ही होता है, कविता का फोन आया की अगर आप आ जाओ हम आपके साथ चल पड़ेंगे, क्योंकि अभी रास्ता नही मालूम है फिर तो हम अकेले भी आ सकते है, मेरी वाइफ बोली आप ही जाके ले आओ और मैं तैयार हो गया लाने के लिए. जब मैं उसका घर पहूचा वो नहा रही थी, मुझे 5 मिनिट वेट करना पड़ा दरवाजे के पास क्यों की वो बातरूम मे थी.

जब वो बाहर आए दरवाजा खोलने के लिए यूयेसेस समय उसके बाल मे टोलिया और चूच से लेकर घुटने तक तौलिया बँधी हुई थी. उसके चूच आधा तौलिया टाइट होने की वजह से बाहर निकल रहा था, गोरी लंबी मस्त भरा हुआ शरीर देख के मेरा मॅन छोड़ने का होने लगा.

वो बोली मैं अभी आती हू कपड़े पहन के, और वो कमरे मे चली गयी मैं ड्रॉयिंग रूम मे सोफे पे बैठ गया, करीब पाच मिनिट बाद वो हेल्प के लिए बुलाई, जब मैं अंडर गया तो देखा की वो सूट पहने की कोशिश कर रही थी उसका हुक पिच्चे से बाल मे उलझ गया था, वो इसीलिए बुलाई थी. मैने देखा उसका पीठ पूरा पूरा दिखा रहा था ब्रा के साथ और सूयीट तो उसके गर्दन पे ही अटका पड़ा था मैने धीरे धीरा उसके बाल को हुक से निकल दिया, पर मेरा लंड उसके पीठ, ब्रा को देखकर तड़प रहा था. मैने उसके पीठ हाथ लगाया, वो बोली, क्या कर रहे हो, मैने कहा, कितनी गोरी हो तुम, भगवान ने तुम्हे खूबसूरती दी है, क्यूँ “राधिका ऐसी नही है?” (राधिका मेरी वाइफ), मैने कहा नही है वो भी हॉट पर तुम्हारे जितनी नही है, ऐसे भी रोज रोज एक ही च्िीज़ से इंसान ऊब्ब जाता है.
इतना कहते ही, वो बोली हा लाइफ मे चेंज तो होना ही चाहिए, मेरा दिमाग़ ठनक गया, क्यों आप भी उब्ब गये हो क्या? वो हासणे लगी. और वो दोनो हाथ फैला कर गले लगने का निमंत्रण दे दिया.

मैने भी अपना बाह फैलाकर उसका स्वागत किया और दोनो एक दूसरे को कस के गले लगा लिए. वो फिर मेरे गाल को किस करने लगी, मैने भी उसके होत को चूमना शुरू कर दिया, बाल गीले थे उसमे लिरील की खुसबू आ रही थी, और हम दोनो एक दूसरे को चूम रहे थे. फिर मैने उसका चूच जो की बड़ा बड़ा एकद्ूम टाइट था दबाने लगा, वो बोली ये बात किसी और को पता नही चलनी चाहिए, मैने कहा आप चिंता ना करो, फिर वो अपने सूट उतार दी मैने भी झट से पीछे जाके उसका ब्रा का हुक खोल दिया, और उसका दोनो बड़ा बड़ा चूच मेरे सामने हो गया, मैने मूह मे लेके चूसना शुरू कर दिया, मत पुच्च्ो यार क्या आवाज़ निकल रही थी, हइईईई चूऊऊओस लिय्ाआआ, दूध निकल रहा है क्य्ाआआआआआआआअ, दबा दबा के चूसो ना प्लीज़, हाआआआआअए डाट मत काटना, निसन हो जाएगा तो मेरा हज़्बेंड को पता चल जाएगा खीयार कोई बात नही वो कभी भी बूब को हाथ ही नही लगता है सला वो नमार्द के तरह करता है.

मैने 5 मिनिट तक उसके चूच के चटा दबाया गाल पे होत पे किस करने के बाद उसके पलंग पे लिटा दिया और नडा खोलकर उसका सलवार खोल दी, फिर रेड कलर की चढ़ि भी उतार दी, ओह क्य्ाआ चूत था, मैने चाटना शुरू कर दिया, चाटते हुए नमकीन लग रहा था बूर मे बाल भी नही था वो तो अपना आँख बंद कर के और मेरा बाल पकड़ पे ऐसा लग रहा था वो मुझे ही अपने बूर मे घुसा देगी, और झटका मरने लगी, मैने भी अपने उंगली डालना शुरू कर दिया फिर मैने अपने लंड निकल के उसके चूत मे पूरा डाल दिया, और 120 की स्पीड मे चुदाई करने लगा उसका चूच उपर नीच उपर नीच हिल रहा था मैं भी झटका पे झटका देके छोड़ रहा थी वो भी गांद उठा उठा के छुड़वाने लगी, करीब 10 मिनिट के बाद हम दोनो शांत हो गये मैने अपना माल उसके बुवर मे ही डाल दिया, फिर कर्बी 10 मिनिट तक एक दूसरे को पकड़ के सोए रहे फिर दोनो उठाकर कपड़े पहने फिर उसे अपने घर लाया. फिर तो हुमलोग कई बार चुदाई की, जब भी मेरी वाइफ मयके जाती है मैं कविता को बुला लेता हू वो दो घंटे के लिए आ जाती है फिर दोनो अपनी लंड और बूर का खेल खेलते है.
आशा करता हू की आपको मेरी ये कहानी अच्छी लगी होगी, आपक कॉमेंट ज़रूर करे प्लीज़