लखनऊ वाली भाभी बोली ले लो मुझे मेरा पति नामर्द है


UP Sex Story, Uttar Prdesh Sex Story, Lucknow Sex Kahani, Hindi Bhabhi Sex Story, Bhabhi ki Chudai Story,


जब आपको कोई औरत ऑफर करे चुदाई का तो इससे बढ़िया तोहफा आपके लिए क्या हो सकता है। मुझे ये मौक़ा मिला था जब लखनऊ वाली भाभी खुद ही मेरे से चुदवाने के लिए तैयार हो गई थी और बोली चोद लो पर देखो गांड मरने नहीं दूंगी। मैं बोला कोई बात नहीं मुझे तो आपकी चूत (बूर) चाहिए चोदने के लिए। और एक दिन ऐसा आया की भैया गए गाँव और मैंने पूरी रात उर्मिला भाभी को चोदा अलग अलग तरीके से और उनको संतुष्ट किया। जानते हैं क्या और कैसे हुआ था ये वाक्या आपके सामने मैं नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर सूना रहा हूँ।

बात लखनऊ की है मैं पढाई करता था ऐसे मैं गोरखपुर से हूँ। उर्मिला भाभी कानपूर की रहने वाली है। उसके पति बैंक में जॉब करते हैं वो निचे फ्लोर में रहती है और मैं ऊपर की फ्लोर पर रहता हूँ। भाभी को अभी कोई बच्चा नहीं हुआ है जबकि शादी के दस साल हो गए है। मैं भाभी का बड़ा फैन हूँ क्यों की वो गाना और टिकटोक पर बड़ी ही सेक्सी वीडियो बनाती हैं। कोई भी घायल हो जाये ऊनके नैनो के बाण से। टिकटोक पर पता नहीं कितने लड़के और आदमीं उनको देखकर मूठ करते होंगे क्यों की जब भी वो वीडियो में पोज देती है वो अपना नाभि दिखती है और वो अपनी साडी नाभि के निचे करती है और उसके बाद वो अपनी बूब्स पर इशारा करती और फिर आँख मारती है।


भाभी मुझे काफी पसंद करती थी। उनको लगता था की उनको बच्चा इसलिए नहीं हो रहा है क्यों की उनका पति उनको चोद नहीं सकता है। मैं उनके लिए सेफ थे क्यों की घर एक था मैं अकेला रहता था। क्यों की जब से वो मुझसे ज्यादा घुलने मिलने लगी तब से उनका पहनावा चेंज हो गया था वो मॉडर्न तरीके से रहने लगी थी और ब्यूटी पारलर जाया करती थी। मैं उनके पति से कहते सूना था की क्या बात है आजकल तुम बड़े ही खुश रहती हो सजी धजी रहती हो पर मुझे रात को चोदते समय तुम नखरे दिखाती हो आखिर क्या बात है। मुझे भी लगा था जो भाभी काफी बुझी बुझी रहती थी वो मुझे देखकर काफी खुश हो जाती है आखिर क्या कारन है जब उनके घर में झगड़ा हो रहा था तो मैं समझ गया भाभी मुझे पसंद करने लगी है।

इसे भी पढ़ें  गलतफहमी में भाभी समझ भैया ने मुझे चोद दिया

एक दिन की बात है भैया गाँव गए थे क्यों की उनको अपने भाइयों से जमीन का बटवारा करना था। जाना जरुरी हो गया था। भाभी घर पर अकेली थी। रात के करीब 10 बज रहे थे मैं अपने कमरे में प्रोजेक्ट फाइल्स कम्प्लीट कर रहा था। तब दरवाजे पर किसी ने दस्तक दिया खोला वो भाभी थी और सीधे अंदर आ गई। आकर दरवाजा उन्होंने खुद बंद किया और बोले मुझे एक जरुरी बात करनी है। मैं बोला हां हां ककयों नहीं। …. वो बोली किसी को कुछ नहीं नहीं बताना मैं बोला ठीक है। हम दोनों के जुवान लड़खड़ा रहे थे। आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं।

अचानक वो गाउन खोल दी उनकी चूचियां बड़ी बड़ी तनी हुई.गोरा बदन, पतली कमर, चूत एकदम साफ़ बाल साफ़ की हुई थी। मैं देख कर हैरान रह गया ऐसा लगा रहा था शरीर से की वो २० साल की लड़की रहे। वो बोली तुम्हे मुझे चोदना होगा। और किसी को भी ये बात पता नहीं चलने चाहिए तुम अपने किसी भी दोस्त को नहीं बताओगे। लड़के में यही दिक्कत होती है। उससे कई औरतें फंस सकती है पर इसलिए चुदवाने से डरती है ताकि वो किसी को बता ना दे।

मैं बोला नहीं नहीं ऐसा नहीं होगा ये बात मेरे और आपके बिच ही रहेगा। और भाभी ने हाथ फैला दिया और मैं आगे बढ़कर उनके शरीर से लिपट गया। शरीर की गर्मी मुझे कामुक कर रही थी। भाभी खुद मुझे बोली लेट जाओ मैं लेट गया। उन्होंने मेरे पेंट खोल कर जांघिया उतार दिया। मैं खुद बनियान उतार दिया। वो मेरे लौड़े को चूसने लगी। वो मेरे लौड़े पर थूकती और फिर आराम से पुरे मुँह में लेती और चाटती। दोस्तों वो मेरे छाती पर छोटे निप्पल को भी चाटने लगी, मैं उनके बूब्स को दबाने लगा तो वो बोली इससे कुछ नहीं होगा मेरे निप्पल को सक कर। मैं उनके निप्पल को चूसने लगा. वो आह आह की आवाज निकलने लगी। वो मेरे होठ को चूसने लगी और मैं भी उनके होठ को चूसने लगा.


इसे भी पढ़ें  Porn Story : Friend ki wife ko choda train me

वो फिर लेट गई और पैर फैला दी। मैं उनके चूत को निहारने लगा तभी वो बोली देखने से क्या होगा चाट जाओ। और मैं तुरंत ही लपलपाती जीभ से उनके चूत को चाटने लगा। वो गरम गरम सफ़ेद रंग का झाग अपने चूत से निकाल रही थी और मैं चाट रहा था वो और भी ज्यादा कामुक हो गई। मेरा लौड़ा भी खड़ा हो गया। मैं तुरंत अपने लौड़े के उनके चूत पर सेट किया और जोर से डाल दिया। उनकी चीखें निकल गई। मैंने फिर से बाहर निकाला और फिर जोर से मारा धक्का इस बार वो हाय कि आवाज निकाली। फिर क्या था दोस्तों वो गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी।


मैं उनको पलट पायलट कर चोदा। चूचियां दबाई। चूत चाट किश किया गांड में ऊँगली किया। करीब एक घंटे तक चोदा फिर दोनों शांत हो गए वो मेरे साथ ही सो गई। वो अपना सिर मेरे छाती पर रखकर बातें करने लगी। बोली अब तुमसे आशा करती हूँ जब तक तुम लखनऊ में हो तुम मेरी चुदाई करते रहना। आज मुझे पहली बार चुदाई से संतुष्टि मिली है। मैं बोला आप चिंता नहीं करिये ऐसे भी मैं रोज मूठ मार कर बर्बाद करता हूँ। अगर आपके काम आ जाये और आप माँ बन जाओ इसमें मेरी ख़ुशी होगी और फिर उनके बूब्स सहलाने लगा.