दो बहनो की चुदाई वो दोनों थी मेरी मुँहबोली साली दिल्ली में


Two Sister Sex Story, दो बहनों की चुदाई, दो बहनों की सेक्स कहानी : कई बार कुछ रिश्ते बड़े काम कर जाते हैं। आप खुद ही देखिए अलग-अलग रिश्ते का अलग-अलग काम होता है। भाभी का रिश्ता शादी का रिश्ता यह सब मजाक का रिश्ता होता है। और कई बार ऐसा होता है कि जब मजाक लोग करते हैं तो यह हद से ज्यादा हो जाता है। और जब हद से ज्यादा मजाक होता है तो मजाक वासना तक भी पहुंच जाता है। शायद आपके साथ भी ऐसा हुआ होगा। आपकी कोई भाभी होगी कोई साली होगी या आपके कोई जीजा होंगे या आपका कोई देवर होगा। मजाक मजाक में बहुत सारे कुछ कह दी जाती है जो दिल में होता है।


आज मैं कैसे कहानी आप लोगों के सामने पेश कर रहा हूं। जो मेरे जिंदगी के खूबसूरत पलों में से एक है शायद मैं बूढ़ा भी हो जाऊं तो उस पल को कभी नहीं भूलूंगा। वह दिन जब याद करता हूं तो मुझे लगता है विकास में समय को पीछे कर पाता तो मैं उस समय में पहुंच पाता। शायद और ज्यादा मजे लेता। आपके साथ भी ऐसा होता होगा या आज आपको लगता होगा कि कुछ पुरानी बातें कुछ पुरानी यादें जो आपको मौका मिला था चाहे आप आदमी हो या औरत हो लड़का हो या लड़की आपको भी कई सारे ऐसे मौके मिले होंगे जिंदगी में जो आपने उस समय सही से उसका इस्तेमाल नहीं किया था और आज आपको लगता होगा कि का वह समय फिर से आ जाएं तो मजा आ जाए जिंदगी का।

सीधे हम लोग कहानी पर ही आते हैं। यह बात थोड़ी पुरानी जब मैं दिल्ली में रहता था एक छोटे से कस्बे में वहां का माहौल ऐसा होता था घर के बगल वाली आंटी लगते थे भाभी लगती थी वहां पर रिश्ते सारे थे। आपको कभी ऐसा फेल नहीं होगा कि आप अकेले हैं आपको वह सारे रिश्ते वहां पर मिल जाएंगे जो आपको चाहिए बने आप अपने गांव से काफी दूर हूं आप अकेले रहती हूं या आप अपनी पत्नी के साथ रहते हैं हम या पढ़ाई कर रहे हो या काम कर रहे हो। वह सारे रिश्ते आपको वैसे जगह पर मिल जाएंगे। पहले की बात भी कुछ और थी दोस्तों राज की बात कुछ और है।


इसे भी पढ़ें  पति को ड्यूटी भेजकर उस लड़के से चुदवाती थी रोजाना दोपहर में

आजकल काफी कुछ बदल गया है लोग काफी चुपचाप खोए खोए अकेले से रहते हैं। किसी को किसी से कोई मतलब नहीं होता है। जब रिश्ते और अपनापन होता है तभी वहां पर बात बढ़ती है और फिर कुछ तमन्ना भी पूरी होती है। आप ऐसे किसी को कुछ नहीं कहेंगे कि आपको मैं पसंद करता हूं या मैं आपके साथ सेक्स करना चाहता हूं आप ऐसा किसी को नहीं कहेंगे। लेकिन जब आपके साथ किसी का रिलेशन अच्छा होगा चाहे रिश्ते में जो भी लगे कोई फर्क नहीं पड़ता वैसे मैं मौका मिलता है जब आप भावनाओं को बताते हैं।

मैं शादी करके आया था। कंपनी में काम करता था। सैलरी बहुत कम थी इस वजह से मैं अपनी पत्नी को अपने साथ नहीं रख पाता था। मेरी पत्नी गांव में रहती थी और मैं दिल्ली में रहता था और मैंने यह सोच रखा था कि 6 महीने बाद अपनी पत्नी को भी वापस अपने पास ही ले आऊंगा। ऐसा ही हुआ 6 महीने में मेरी पत्नी आ गई और वह 6 महीने यहां रह कर वापस चली भी गई थी क्योंकि वह प्रेग्नेंट हो गई।

धीरे-धीरे वह मेरे बदन को चलाने लगी मेरा हाथ अनायास ही पायल के चुचियों पर पड़ गया दबाने लगा। गोल गोल बड़ी-बड़ी चूचियां। उसके होंठ पर किस करते-करते उसके गाल पर उसके कंधे पर अब दोनों चुचियों को कसकर दबाने लगा उसके ऊपर चढ़ गया। धीरे-धीरे हाथ उसके चूत पर चला गाए। फिर पायल खुद ही पैर को फैला दी और मैं आराम से उसकी चूत को सहलाने लगा। उसने तुरंत ही अपने स्वेटर उतार दिए। फिर मैंने उसको टॉप उतारे। और फिर उसने खुद ब्रा उतार दिया। मैंने तुरंत ही उसको दोनों चुचों को हाथ से मसलते हुए पीने लगा। उसने मेरे लैंड को मेरे पाजामे से निकाल ली।

इसे भी पढ़ें  टिक टॉक वाली लकड़ी की चुदाई खेत में

मैंने तुरंत ही उसके पेंटी तक उतार दिए और फिर हम दोनों एक दूसरे को चूमने लगे सहलाने लगे। हम दोनों की साँसे तेज तेज चलने लगी। मैंने अपना लंड पकड़ कर हिलाया तो पायल पकड़ ली बोली घुसा दो मेरी चूत। मैंने भी देर नहीं किया और दोनों टांगो के बिच चूत पर लंड लगाया और घुसा दिया। तीन झटके दिए और पूरा लंड अंदर। अब चूचियों को मसलते हुए चोदने लगा। यह कहानी आप नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं।


तभी पूजा जाग गयी और रजाई हटाकर हम दोनों को देखने लगी। हम दोनों ने अपना काम जारी रखा। तभी पूजा बेड पर आ गयी और मुझे चूमने लगी अब दोनों बहने मेरे जिस्म के साथ खेल रही थी। तुरंत पूजा भी अपने दी और अपना बूब मुझे पिलाने। लगी थोड़े देर पायल को चोदने के बाद ही पूजा कहने लगी अब मेरी बारी और फिर पूजा निचे लेट गयी और मैं ऊपर चढ़कर चूत में लंड दे दिया। अब्ब दोनों बहनो को बारी बारी से चोदने लगा। जब एक को चोदता उस समय दूसरी की चूत चाटता। ऐसे ही पूरी रात दोनों बहनो को चोदा।


उस दिन के बाद से तो वो दोनों मेरे से सप्ताह में एक दिन चुदवाने लगी। और मेरी ज़िंदगी में अच्छे पल आ गए. फिर हम लोग वहां से शिफ्ट हो गए। बाद में पता चला पायल और पूजा की शादी हो गयी। पर वो यादें आज भी ताज़ी है और हमेशा उन दोनों बहनो को याद करता हूँ।