loading...

अपने मामा की जवान लड़की को ब्लू फिल्म में चुदवाकर घर का खर्च चलाया

      Comments Off on अपने मामा की जवान लड़की को ब्लू फिल्म में चुदवाकर घर का खर्च चलाया
loading…


मैं उन दिनों नोएडा में एक छोटी कंपनी में काम कर रहा था।  मेरे मामा ने अपनी लड़की शिखा को मेरे पास कोई प्राइवेट नौकरी ढूंढने के लिए मेरे पास भेज दिया था। शिखा ने बीएससी ऑनर्स किया था। एमएससी भी पूरा हो गया था। वो अभी शादी करने के मूड में नही थी। मेरे मामा एक दर्जी है। उनके 2 लड़के और 3 लड़कियां है।

शिखा अपने पिता यानि अपने पापा को सपोर्ट करना चाहती थी। पर सच्चाई मैं जान गया था। वो अपने कॉलेज में किसी लड़के से प्यार करती थी। उसने 4 5 सालों तक बॉयज हॉस्टल में रात के वक़्त शिखा को ले ले जाकर खूब चोदा। उनकी चुत खोलकर रवां कर दी। ये सब उसने शादी का वादा करके किया था। शिखा उसके प्रेमजाल में फस गयी। और उसने अपने को चुदवाने दिया।

बाद में उसने शादी करने ने मना कर दिया। शिखा से अपने हाथ की नस काट कर सुसाइड करने की कोसिस की थी, पर उसे बचा लिया गया। अब मेरे मामा यानि शिखा के पापा से उनकी अनबन हो गयी। इस समस्या ने निबटने के लिए उसने दिल्ली ncr में आकर अपना करियर बनाने की सोची। इसलिए वो मेरे पास आ गयी। मैं एक प्राइवेट कम्पनी में मार्केटिंग का काम करता था। शिखा मेरे साथ ही मेरे 2 रूम सेट घर में रहने लगी।

उसे नौकरी करके अब आत्मनिर्भर होना चाहती थी। उसको प्यार व्यार से अब बड़ी नफरत हों गयी थी। अब वो पैसे कमाकर अपने पापा की मदद करना चाहती थी। शिखा के लिए मैं भी अपने दोंस्तों से पूछ ताछ करने लगा। पर आथिर्क मंदी आ गयी थी। हर कंपनी अपने कर्मचारियों को निकाल रही यही। शिखा अख़बार के विज्ञापन देख कर नौकरी के लिये जाती , पर काम ना बना। कोई कहता बाद में काल करेंगे। कोई कहता अगले हफ्ते। इस तरह दोंस्तों, 6 महीने निकल गए।

शिखा का भार मुझपर आ गया। दूध, सब्जियां, आटा , किराना, साबुन, क्रीम, सब मुझे जादा जादा लाना पड़ता था। एक दिन मैंने शिखा से कह दिया की अगर एक महीने में उसे काम नही मिले तो अपने पापा के पास लौट जाए।
देव भैया! कोई भी काम मिले तो मैं करने को तैयार हूँ! पर मुझे घर लौटने को मत कहो!  शिखा ने रोकर मुझसे कहा। मेरा दिल पसीज गया।

एक रविवार को मैं बैठा अखबार के विज्ञापन देख रहा था। मेरी नजर एक मसाज विज्ञापन पर गयी। मसाज पार्लर में मसाज करने के लिए लड़की की जरूरत थी। 20 हजार महीना सलरी थी। मैं तुरंत फ़ोन लगा दिया। उन्होंने हमें इंटरव्यू के लिये बुलाया। वो एक बड़ा सा रिहायसी पार्लर था। बाहर कारे पार्क थी। जमीन पर वुडेन फ्लोरिंग थी। बड़ा मॉडर्न पार्लर था। इंटरव्यू के लिये एक जिंदादिल आदमी था।

शिखा उसे ठीक लगी। 5 फुट 6 इंच की कद काठी। उसका गोल चेहरा, सपनीली कजरारी आँखे, उभरे हुए वक्ष उसे शिखा के पीकॉक ब्लू सलवार सूट के ऊपर से दिखे। वो इंटरव्यू में पास।हो गयी। उसे बाहर भेज दिया गया। फाई मुझे बुलाया गया।
मिस्टर देव, हमे लड़की पसंद है। हमारे क्लाइंट बहुत रिच है, पर उनको सुन्दर लड़की ही मांगता है। वो टिप भी बड़ी देते है। पर कभी कभी किसी कस्टमर का दिल मसाज करने वाली लड़की पर आ जाता है। ऐसा में हम अपने क्लाइंट को नाराज नही कर सकते। क्योंकि लाखों रुपये वो एनुअल मेम्बरशिप के देते है!  पार्लर मालिक बोला।

अरे, इसकी माँ की, ये तो शिखा को चुदवाने की बात कर रहा है!  मैंने तुरन्त सोचा।
घर पहुँच कर मैं शिखा को बता दिया की काम ठीक नही है। वजह पूछने पर मैंने उसे सब सच सच बता दिया। वो चकित रह गयी। और दूसरी नौकरी ढुंढने लगी। पर वही बदकिस्मती। ठीक ठाक नौकरी का दूर दूर नामोनिशान नही। एक दिन शिखा ने उस पार्लर वाली जॉब के लिए हाँ कर दी और ज्वाइन कर लिया।

बड़े बड़े पैसे वाले बिजनेस मैन वहां आते थे और मैसैज करवाते थे। कोई कोई मैसैज जो सुगन्धित इंपोर्टड तेल से।होती थी उसकी कीमत 15 से 20 हजार तक थी। ये जानकर मैं हैरान था कि कैसे लोग एक दिन में सिर्फ मसाज पर इतने पैसे खर्च कर देते थे। हर क्लाइंट कम से कम 1 हजार की टिप देता था। कोई कोई तो 2 से 5 हजार तक टिप में दे देते थे।
कुछ कस्टमर तो सरीफ होते थे, पर कुछ तो बेहद कमीने होते थे।

मैडम, अपना रेट बतायो रात भर का! पैसो की परवाह नही करना! बस अपना रेट बताओ!  वो शिखा से मुँह पर कहते थे। पर उसे किसी बात पर नाराज नही करना होता था। बस हँस कर बात टालना होता था। शिखा को पार्लर की ऑफिसियल आसमानी साड़ी में ही रहना होता था। जैसा बड़े बड़े 5 स्टार होटलों में होता है। कुछ कस्टमर तो हाथ पकड़ लेते थे।

सुनो मैडम, मैं मसाज वसाज करवाने नही आया हूँ। असल में मैं अपनी बीबी से ऊब चूका हूँ। यही दे दो! जितने का कहो चेक काट दू!  वो कहते थे, पर शिखा हँस कर हाथ छुड़ा लेती थी। उसे ये सिखाया गया था।

इस तरह जिंदगी मजे से कटने लगी। शिखा अब महीना 30 हजार से ज्यादा कमाने लगी। कई कई बार तो 40 हजार । वो हर महीने 10 हाजर अपने पापा यानि मेरे मामा के अकाउंट में लगा देती। जब आती तो पनीर, मिठाईया, बिअर, सिगरेट लती। मैं भी उसकी मुफ्त की।सिगरेट फूंकता। शिखा एक बड़ा 40 इंच lcd टीवी भी खरीद लायी। अगले महीने बड़ा सा फ्रिज ले आयी। लग रहा था हम बड़े आदमी हो गए है। शिखा ने हँसकर मीठी मीठी बात करना सीख लिया था।

कई कस्टमर तो नँगी होकर मसाज करवाते थे। उसे करना पड़ता था। एक साल बड़ा मजे से बिता। ओवन, वाशिंग मशीन, सब कुछ हमारे पास हो गया। फिर अचानक से उसके पार्लर के बगल में एक और पार्लर खुल गया। आधे से ज्यादा कस्टमर उधर चले गए। सुनने में आया की उसकी मसाज करने वाली लड़कियां चुदवा भी लेती है। पार्लर की सेल खत्म हो गयी और शिखा की सैलरी लटक गयी।

पार्लर मालिक के दबाव देने पर शिखा को कस्टमर से चुदवाने को राजी हो गयी थी। इसका सबसे बड़ा कारण था उसकी महँगी लाइफस्टाइल। वो बड़े महंगे महंगे तेल साबुन, शैम्पू लगाती थी। महंगे कपड़े पहनती थी। बस की जगह ऑटो ने चलती थी। इस कारण वो तैयार हो गयी। अगले दिन जो कस्टमर आया उसने सीधे इसारा किया कि उसे फूल सर्विस चाहिए।
फूल सर्विस का मतलब चुदवाने से ही था।

शिखा अंदर मसाज रूम में गयी। वो कस्टमर एक अंग्रेज था। सारी दुनिया जानती है कि अंग्रेज कितने ठरकी होते है। समय नही देखते कि दिन है या रात है। बस ठुकाई शूरु कर देते है। शिखा ने उससे कपड़े निकलने को कहा तो एक ही सेकंड में उसने अपने सारे कपड़े निकाल दिए।
शो मी योर टिट्स बेबी!! अंग्रेज बोला।
इससे पहले शिखा कुछ समझ पाती, उसने शिखा को खींच लिया। दुबली पतली छरहरी शिखा खुद को असहाय पाने लगी। पर नौकरी तो करनी ही थी।

उसने शिखा को खींच लिया और ऊँठ पिने लगा। अंग्रेज के हाथ शिखा के टिट्स यानि उभारों पर जाने लगे।
ओ ओऊऊ बेबी! यू आर फकिंग हॉट!! अंग्रेज बोला और उसने शिखा की पार्लर वाली आसमानी साड़ी के ऊपर से ही उसकी एक टिट्स कस के दबा दी। अअअअ!!आ आआआ! शिखा की चीख निकल गयी। अंग्रेज बॉडीबिल्डर था। उसकी पकड़ से शिखा छूट ना पायी। इतने में उसने दूसरा टिट्स यानि छाती भी निम्बू की तरह मसल थी।

शिखा को बड़ा बुरा लगा।
बेबी! ओओ ओ बेबी!! नॉव शो मी योर पुसी!!  अंग्रेज बोला और शिखा की पार्लर ड्रेस को नीचे से उठा दिया। शिखा झेप गयी। इससे पहले वो पिछले साल अपने आशिक़ से ही चुदी थी। पर आज तो एक फिरंगी उसे चोदने बजाने वाला था। अंग्रेज ने शिखा की ब्लैक पैंटी को जरा किनारे किया। साफ चिकनी पुसी यानि चुट की झलक उसे मिल गयी।
नाइस बेबी!! वेरी नाइस!! अंग्रेज बोला।

उसने अपना बड़ा सा खीरे जैसा लण्ड निकाला। सच में दोस्तों, ये किसी बड़े साइज़ के खीरे से कम नही थी। आप तो जानते ही होंगे की अंग्रेजो के लण्ड कितने बड़े और मोटे होते है। इसे देखकर तो शिखा की नानी चुद गयी। इतना बड़ा लण्ड कैसी चुट में जाएगा, कहाँ जाएगा, ये सब सोचकर ही शिखा को चक्कर आने लगा।
नॉव सक इट बेबी!! अंग्रेज बोला।
उसने शिखा के मुँह में लण्ड पेल दिया। वो शिखा से चुस्वाने लगा। आपको तो पता ही होगा की अंग्रेज लण्ड चुस्वाने के कितने शौकीन होते है। उनको ये बेहद पसंद होता है।

अंग्रेज से शिखा के सिर को पकड़ लिया और मुँह चोदने लगा। आज पहली बार शिखा इतना बड़ा खीरा यानि लण्ड खाने जा रही थी। सक इट ऑल बेबी!! अंग्रेज पूरा लण्ड अंदर तक चूसने के लिए कहने लगा। शिखा ना चाहते हुए भी लण्ड अपने गले तक लेकर चूसने लगी। उसकी लार अंग्रेज के लण्ड पर चुपड़ गयी। अंग्रेज को मजा आ रहा था। शिखा की सर्विस उसे भा रही थी। अंग्रेज ने शिखा को नंगा कर दिया। शिखा ने करधन पहन रखी थी। सोने की एक पतली चैन थी कमर में।

व्हाट द फ़क इस दिस बेबी!! अंग्रेज करधन के बारे में पूछने लगा।
माय मदर गिवेन मी!  शिखा बोली की उसकी माँ ने उसे दी है। अंग्रेज से सोने की करधन को चूम लिया। शिखा को एक टेबल पर झुकाया। पीछे से चुत का रास्ता खोजा और लगा चोदने।
दोंस्तों, आप तो जानते ही होंगे की अंग्रेज बड़े adventurous होते है। हम इंडियंस की तरह वो औरतों को लिटा के नही चोदते है। कभी खड़े खड़े लेते है कभी बैठाकर। कभी गोद में उठाकर बुर फाड़ते है तो कभी कुतिया बनाकर।

उस अंग्रेज कस्टमर ने बस शिखा को एक टेबल पर हल्का सा झुका दिया और खड़े खड़े बड़े आराम से चोदने लगा। खुदा खैर करे की ये कही शिखा अपने आशिक़ से 4 5 साल कस के चुद चुकी थी। उसका भोसड़ा खुल गया था वरना आज मेरी ममेरी बहन तो मर जी जाती। अंग्रेज बड़े मजे से उसे चोदने लगा। शिखा की गठीली छातियां टेबल पर लटकने लगी जैसे पेड़ में रसीले आम लटकते है। अंग्रेज आँखे बंद किये मेरी ममेरी बहन को चोदे जा रहा था।

आज करीब एक साल बाद खीरा जैसा लम्बा लण्ड खाकर शिखा की चूत का रास्ता अंदर तक बन गया। उसे वो पुराने दिन याद आ गए जब उसका बॉयफ्रेंड उसे रात में बॉयज हॉस्टल ले जाता था और पूरी पूरी रात चोदता था। सुबह जब शिखा चुद्वाकर घर लौटती थी तो उसकी आंख के नीचे काले घेरे पड़ जाते थी। चुदते चुदते 50 मिनट हो गए पर ये बहनचोद अंग्रेज आउट होने का नाम नही ले रहा था। आखिर सवा दो घण्टे बाद अंग्रेज आउट हुआ। वो शिखा की सर्विस से सन्तुष्ट हुआ और 3 हजार टिप एक्स्ट्रा दी।


बदकिस्मती से मालिक ने वो झपट ली और सेल्स न होने का रोना रोने लगा। इसके कई दिनों तक पार्लर में कस्टमर का अकाल पड़ गया। जहाँ पहले 30 से 40 कस्टमर रोज आते थे, अब 2 कभी 3 बहुत हो 5 आने लगे। पार्लर मालिक सैलरी देने में आनाकानी करने लगा। एक दिन शिखा गयी तो उसने उसे ब्लू फिल्म में काम करने का ऑफर दिया। उसी के पार्लर में शूट होना था। पर दो तीन आर्टिस्ट साथ में रहेंगे।

शिखा ने मुझे रात में बताया कि ब्लू फिल्म में काम करने का ऑफर मिला है। एक फिल्म में काम करने से ही इतनी कमाई हो जाएगी की महीने की 20 हजार की सैलरी तुरन्त शूट के बाद मिल जाएगी। मैं कहा कि जो वो समझे करे। अगर दिल नही तो ना करे। उसने हाँ कर दी। मुझे भी बुलाया गया और एस ए केअर टेकर मुझसे कॉन्ट्रैक्ट साइन कराया गया। कॉन्ट्रैक्ट एक अनुसार शिखा को हर महीने एक 5 घण्टों की फिल्म करनी पड़ेगी। एक साल के अंदर वो किसी दूसरी ब्लू फिल्म बनवाने वाली कंपनी में काम नही करेगी।

मैंने कॉन्ट्रैक्ट साइन कर दिया। 2 अर्टिस्ट आये, 3 कैमरामैन। एक बड़े से हाल को पार्लर मालिक ने दे दिया था शूट करने के लिए। रात में ही ऐसे काले काम किये जाते है। रात 10 बजे मैं शिखा को लेकर पंहुचा। असल में मैं अपनी ममेरी बहन को चुदवाने ले गया था। मन में कहीं कसक भी उठ रही थी की ऐसो आराम की जिंदगी जीने के लिये शिखा किस ओर मुड़ गयी है। संसाधनों ने उसे इतना अँधा बना दिया है कि वो भूखे पेट तो जी सकती है पर बस से नही चल सकती।

मैं अपनी ही ममेरी बहन को चुदवाने ले गया था। इससे पहले मैंने कभी ब्लू फिल्म शूट नही देखा था। मेरा दिल धक धक कर रहा था। आखिर हम ऑटो से पार्लर पहुँच गये।
तुम आधे घण्टे लेट हो?? ब्लू फिल्म डायरेक्टर बोला
सॉरी! मैंने कहा । वो सब बड़े प्रोफेशनल थे। हम अंदर गये। हाल में ठंड से बचने के लिये रूम हीटर्स लगा दिए गए थे। कमरा गरम था।
शिखा! Comon!।फ़ास्ट बेबी!! फिल्म डायरेक्टर बोला।

हाल में एक बड़ा कीमती मखमली बेड दाल दिया गया था। इसपर ही परफॉर्म करना था।
गेट नेकेड बेबी!! वेरी फ़ास्ट!! ब्लू फिल्म डायरेक्टर बोला। शूट में कुल 8 लोग थे। 2 आर्टिस्ट थे, 3 कैमरामैन, एक प्रोड्यूसर, एक मैं और शिखा। शिखा ने उस दिन टॉप और जीन्स पहन रखा था। 2 हाई डेफिनिशन कैमरा दो ओर लगा थे जिससे चुदाई के शॉट को अच्छे से कैप्चर किया जा सके। एक कैमरामैन मूविंग कैमरे के साथ था जो चुदाई को पूरे घूमते हुए कैप्चर करेगा।

शिखा ने कभी ये सब नही किया था। उसका दिल काँप रहा था। पर वो गरीबी की बिना पैसो की लाइफ भी नही जीना चाहती थी। उसने अपनी हाई हील्स पहन रखी थी। फिर उसने अपने टॉप को पकड़ा, पर उसका दिल काँप गया। कहीं ये फिल्म उसके पापा ने।देख ली तो कुछ होगा। वो तो उसने नजरे मिलाने काबिल नही रहेगी।
वी आर गेटिंग लेट बेबी!!  ब्लू फिल्म डायरेक्टर बोला।
शिखा ने एक गहरी सांस ली और झटके से टॉप उतार दिया।

उसके बेहद कोमल चुच्चे दिखने लगे जैसे सीप में मोती।। शिखा को थ्रीसम करना था। इसका मतलब उसे एक ही बार में एक लण्ड बुर की फाकों में खाना था और दूसरा गांड में। सारे कैमरा ऑन हो गए। ब्लू फिल्म डायरेक्टर दूर एक कोने में बैठ गया। उसके सपने एक टीवी था जिसमे शूट दिख रहा था। शिखा बेड तक गयी । वो बहुत शर्मा रही थी। उसे पसीना छूट रहा था। नॉनवेज स्टोरी डॉट के पे ऐसी ही सारे कहानियां गरमा गरम और नई होती है. इसलिए दूसरे दिन भी नई कहानियों का मजे लीजिये, याद रखे नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम

पहला आर्टिस्ट आया। उसने शिखा की चिकनी तांग पर हाथ रख दिया। शूट सुरु हो गया। फिल्म में कलाकारों को पहले थोड़ी बात करनी थी, फिर चुदाई करनी थी।
हेलो बेबी!! कैसी हो तुम?? वो कलाकर शिखा की गोरी चिकनी जांघ को सहलाता बोला।
मैं ठीईई ककक! हूँ! शिखा का चेहरा टमाटर जैसा लाल हो गया था। बताओ वो इतनी गिर गयी थी की अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए ब्लू फिल्म में काम करने लगी। शिखा मन ही मन सोच रही थी।

वो पहला कलाकार साउथ इंडियन था। आप लोग तो जानते ही होंगे साउथ इंडियन कितने राक्षस जैसै दिखते है। कहाँ दुबली पतली उत्तर भारतीय शिखा कहाँ तो साउथ इंडियन। वो 7 फुट का था। शिखा की तो माँ चुद गयी!! मैंने मन ही मन सोचा। मैं एक किनारे खड़ा होकर शूट देखने लगा।
बेबी तुम तैयार हो?? साउथ इंडियन बोला
हाँ! सकुचाती शिखा गले से धीरे से बोली
खुलकर शिखा!! खुलकर शॉट दो, वरना इस।फिल्म को कोई नही खरीदेगा  डायरेक्टर बॉला

साउथ इंडियन यानि पहला चुदाई कलाकर ने शिखा को बेड पर गिरा दिया और उसकी ब्रा खोंलने लगा। ब्रा निकल गयी, शिखा के कसे चुचुक खुलकर सामने आ गए। मूविंग कैमरामैन आकर शिखा के बिलकुल बगल आ गया और कैमरा में उनकी छातियां पिने के दृश्य कैद करने लगा। शिखा ने आँख मूँद लिया। 2 फिक्स्ड कैमेरामैन दूर से शॉट ले रहे थे। एक बिलकुल पास आकर। उसका दिल धक धक करने लगा। दूसरा पोर्न यानि चुदाई कलाकर भी आ गया और दूसरी भरी छाती को हपर हपर कर पिने लगा।

loading...

शिखा की धुकधुकी बढ़ गयी। कहीं ये वीडियो उसके भाई बहनों और माँ ने देख लिया तो ना जाने क्या हो जाएगी। शिखा डर गई, उसने आँखे बंद कर ली। कुछ देर में पहले साउथ इंडियन ने उसकी लाल रंग की डिज़ाइनर पैंटी उतार दी। उसके पैर खोल दिए। फिल्म डायरेक्टर के इशारे पर सारे कैमरा शिखा की प्यारी लाल गुलाबी चूत को कवर करने लगे। मूविंग कैमरामैन ने तो चूत के नजदीक कैमरा लगा दिया।

दोनों कलाकर शिखा की गुलाबी चूत को बारी बारी से पिने लगा। कहीं ये फिल्म पापा ने देख ली तो प्रलय आ जाएगी। शिखा सोचने लगी। दोनों साउथ इंडियन बड़े काले थे, चुदाई में ऐसी 30 34 32 के साइज वाली लौण्डिया आज उनको चोदने को मिली थी। दोनों खुश थे। काम का काम मस्ती की मस्ती। शिखा की गुलाबी चूत चाट चाटकर उसकी चूत फूल के कुप्पा हो गयी। जैसे चासनी वाली गुझिया में में चासनी भर जाने से वो फूल जाती है। दोनों साउथ इंडियन चुदाई कलाकर शिखा की कमसिन चूत के ओंठों को बारी बारी से पिने लगा। ऐसे अनेक तहो वाली मखमली चूत  बड़े दिनों बाद उन्होंने देखी थी।

दोनों जीभ चला चला के शिखा की नमकीन रसीली बुर को ऊपर से नीचे चटने लगा। शिखा ने मारे शर्म के अपनी आँखे मूँद ली। उसे पैसे की इतनी लत लग गयी की वो आज ब्लू फिल्म में चुदवाने लग गयी। शिखा खुद को कोसे जा रही थी। पर फिर भी ये गन्दा नग्न काम किये जा रही थी। मूविंग कैमरामैन शिखा की मस्त बुर की एक एक हरकत को रिकॉर्ड कर रहा था।

अच्छी तरह शिखा की चूत चटने के बाद दोनों साउथ इंडियन उसे चोदने की तैयारी करने लगे। पहले साउथ इंडियन का ये 14 इंच लंबा हाथी जैसा लण्ड था। वो मुठ मारके अपने लण्ड पर धार देने लगा। दूसरा पोर्न कलाकर भी धार लगाने लगा। पहला साउथ इंडियन बेड पर लेट गया और लण्ड खड़ा कर लिया। उसने शिखा को अपने लण्ड पर बड़े प्यार से बैठा लिया। शूरु में शिखा को ज़रा सा लण्ड चुभा पर जैसे ही शिखा बैठी लण्ड चाकू की तरह चूत फाड़ता अंदर धंस गया। पहले आर्टिस्ट ने शिखा को जरा अपने ओर झुका लिया। पीछे से शिखा के बेहद गोरे गोरे लाल लाल चुत्तड़ खुल गए। गांड का छेद  तभी दूसरे साउथ इंडियन ने शिखा की गाड़ को एक दो बार चाट लिया।

दूसरे आर्टिस्ट ने अपना बड़ा सा काला लण्ड आगे की ओर झुकी हुई शिखा की गाण्ड के छेद  और धक्का मारा। शिखा की गाण्ड में आधा लण्ड धस गया। उसके चेहरे पर दर्द के भाव उभर आये। फिल्म डायरेक्टर के इशारे पर 2 कैमरा शिखा की गाण्ड में लण्ड जाते हुए इस मंर्मिक दृश्य को कैप्चर करने लगे। मूविंग कैमरामैन शिखा के चेहरे पर उभरे दर्द को रिकॉर्ड करने लगा। यूँ 8 लोगो के बीच इस तरह कलाकरों से खुलकर चुदवाने के लिए बड़ा दिल होना चाहिए।

पर शिखा ने भी साबित कर दिया की उनके अंदर कमाल का प्रोफेशनलिस्म है। गाड़ चोदने वाले कलाकार ने फिर धक्का मारा। 10 इंच का मोटा लण्ड शिखा जिसी फूल सी नाजुक दुबली पतली लड़की की गाण्ड में खुटे की तरह गढ़ गया। मैं एक किनारे खड़ा था। मैं तो घबरा ही गया। फिर दोनों साउथ इंडियन शिखा जैसै नाजुक मॉल को एक ही साथ उसकी चुत मारने लगे और गाण्ड चोदने लगे। एक कैमरा शिखा की मलाईदार चूत को चुदते रिकॉर्ड करने लगा। दूसरा कैमरा उसकी गाण्ड की चुदाई रिकॉर्ड करने लगा।

जबकि हाथ में कैमरा लेकर जो कैमरामैन चल रहा था, वो शिखा के चेहरे को रिकॉर्ड करने लगा। 10 मिनट में उन दोनों चुदाई कलाकरों ने 100 की रफ्तार पकड़ ली। गचागच! पटापट शिखा को 100 की रफ्तार में चोदने लगे। उसे दर्द हो रहा था पर पैसे के लिए वो कुछ भी कर सकती थी। दोनों कलाकरों के लण्ड शिखा की चूत और गांड में अंदर 2 पाइप की तरह टकरा रहे थे। बड़ी कमाल की यादगार चुदाई थी। करीब एक घण्टे तक दोनों साउथ इंडियन एक साथ शिखा की गाण्ड और बुर चोदने के बाद झड़ गये।

अब एक ब्रेक लिया गया। एक स्पॉटबॉय शिखा के लिए बिसलरी पानी लाया। और टॉवल से उनका पसीना पोछने लगा। सब के लिए चाय आयी। सुबह 5 बजे शूट खत्म हुआ। ब्लू फिल्म कलाकरों ने हर एंगल से शिखा को पलट पलट के चोदा। शूट खत्म होने के बाद पार्लर मालिक को 30 हाजर।का।चेक दिया गया। उसने तुरंत शिखा को 20 हाजर के चेक दे दिया। एक बार फिर से खर्चीली शिखा की जिंदगी चल पड़ी।

[Total: 777    Average: 3.4/5]
loading...