Home » Antarvasna Sex Stories » अपनी खूबसूरत मेड को रोजाना बीवी की तरह चोदता हूँ

अपनी खूबसूरत मेड को रोजाना बीवी की तरह चोदता हूँ

आपने कई सारे Maid Servent Sex Story पढ़े होंगे पर आज जो कहानी आपको सूना रहा हूँ वो मेरी hot sexy teen maid sex के बारे में बात करने जा रहा हूँ। यानी एक खूबसूरत जवान सुन्दर कामवाली की चुदाई की कहानी। ये कहानी बहुत ही मस्त है इसलिए इस वेबसाइट पर मैं कहानी को लिख रहा हूँ। ताकि आप भी इस वेबसाइट के फैन हो जाएँ यानी नॉनवेज स्टोरी के फैन हो जाएँ और रोजाना हॉट और सेक्सी चुदाई की कहानियां पढ़ें।

मैं सीधे कहानी पर आना चाहता हूँ। क्यों की मेरा लंड फिर से खड़ा हो रहा है यानी याद करते ही मेरा लंड खड़ा हो जाता है। जब भी में वो पहली रात को जब उसको चोदा था क्या क्या हुआ था और कैसे मैंने उसकी टाइट चूत में अपना मोटा लंड घुसाया था और जबरदस्त तरीके से चोदा था। दोस्तों मैं स्वभाव से चुड़क्कड़ किस्म का इंसान हूँ मुझे चुदाई करना बहुत अच्छा लगता है। मुझे अपने से कम उम्र की लड़की को चोदना पसंद करता हूँ। और सच तो ये भी है की मैं बहुत ही जल्दी किसी को फंसा लेता हूँ और अपनी वासना की आग को बुझाता हूँ।

मेरा नाम पंकज है और मैं चालीस साल का हूँ। मैं अपने परिवार के साथ काफी खुश हूँ मेरी पत्नी मुझे बहुत प्यार करती है मेरे दो बच्चे है वो अच्छे स्कूल में पढाई करते हैं। मैं एक बड़े शहर में रहता हूँ और मेरे साथ एक कामबाली लड़की जो 20 साल की है वो भी रहती है। बहुत ही हॉट और सेक्सी लड़की है बहुत सुन्दर दिखती है रंग उसका स्यामला है पर नैन नक्स बहुत ही कातिलाना है। चूचियां बड़ी बड़ी गांड का उभार बाहर की तरफ यानी परिपूर्ण लड़की है।

मेरे परिवार की तरह ही रहती है मजाक करते रहता हूँ वो कभी भी बुरा नहीं मानती है। बहुत हसमुख लड़की है मेरी पत्नी भी उसको बहुत मानती है यानी वो परिवार का हिस्सा ही समझती है। लड़की का पुष्पा है। पुष्पा के माँ बाप गरीब है वो लोग भी ऐसे ही काम करते है। खुश रहते है। पुष्पा जो पैसे कमाती है उससे वो अच्छे अच्छे कपडे और अपने पर खर्च करती है थोड़ा पैसे ही अपने माँ बाप को देती है।

हमारे परिवार के साथ रहकर वो और भी सुन्दर हो गई है। यानी की वो कामवाली लगती ही नहीं है। बात दरअसल ये हुआ था की मुझे गाँव में घर बनाना था भाइयों से बंटवारा हो गया है। गाँव में भी एक घर की जरुरत थी इसलिए हमलोगों ने निष्कर्ष निकाला की पुष्पा मेरे साथ गाँव चलेगी और मेरी पत्नी और बच्चे दोनों यही रहेंगे। पुष्पा को जब ये बात पूछा गया की तुम गाँव जाओगी ताकि वो मेरी हेल्प कर सके। वो जाने को तैयार हो गई। मैं और पुष्पा दोनों गाँव चले गए घर बनाने के लिए।

गरमा गर्म सेक्स कहानी  लड़की बोली :जोर से मत घुसाना भैया दर्द होता है

जहाँ घर बनाना था वहां एक छोटा से कमरा था हम दोनों उसी में रहने का प्लान किया और घर बनाना शुरू कर दिया। दिन भर काम होता था रात में वो मेरे लिए खाना बनाती थी। मैं बेड पर सोता था वो निचे बिछावन लगा कर सोती थी। गाँव में भाइयों के यहाँ मेरा आना जाना था नहीं इसलिए किसी का आना जाना भी नहीं था। एक दिन की बात है मैं रात में इसी वेबसाइट पर सेक्स कहानिया पढ़ रहा था और वो कहानी था मेड की चुदाई की कहानी कहानी ऐसा लग रहा था जैसे की मेरे और पुष्पा के बिच की ही हो मेरे उम्र का आदमी और पुष्पा के उम्र की कामबाली।

बड़े उत्सुकता से कहानियां पढ़ने लगा। दोस्तों कहानी समाप्त होते ही मेरा नियत बदल गया कमरे में थोड़ा अँधेरा था। मैं निचे झांककर देखा की पुष्पा सोइ या नहीं। मैं हैरान रह गया पुष्पा को लगा मैं सो गया इसलिए वो अपनी चूत को सहला रही थी और अपनी चूचियां मसल रही थी होठ अपने दांतो तले दबात और कभी कभी वो सिहरन महसूस कर रही थी मैं समझ गया वो ख्वाब में अपनी चूचियां दबा रही है चूत सहला रही है।

मैं चुपके से उठा और बेडशीट जो ओढ़ रखी थी उसको हटा दिया ओह्ह्ह्हह्ह्ह्हह वो अपना पेंटी और सलवार अपने घुटने तक सरकाई हुई थी वो डर गई हैरान रह गयी जल्दी जल्दी वो अपना सलवार और पेंटी ऊपर चढ़ाई और खड़ी हो गई। मेरे से नजर नहीं मिला रही थी चुपचाप कोने में खड़ी थी। मैं उसके पास गया और उसके कंधे पर हाथ रखा वो बोली माफ़ कर दीजिये पता नहीं क्या हो गया था मुझे। आप ये बात दीदी को नहीं बताइयेगा वो गुस्सा करेगी और मुझे काम से भी निकाल देगी।

मैंने उसको अपने तरफ घुमाया और बोलै मैं कुछ नहीं बोलूंगा और तेरे नौकरी मेरे यहाँ से कभी नहीं जाएगी। तुम बहुत सुन्दर और अच्छी लड़की हो। सच तो ये है मैं खुद तुमपर फ़िदा हूँ तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो मैं तुमसे वही रिश्ता रखना चाहता हो मेरे मेरी पत्नी के साथ है। इसलिए मैं तुमको यहाँ लेकर आया हूँ। वो बोली पर ये अच्छी बात नहीं है। तो मैंने कहा तुम खुद अपनी चूत को सहला रही है वो अच्छी बात है। देखो पुष्पा सेक्स करना का मन सबको करता है और मन मार के नहीं रहने चाहिए इसलिए तू अपने इस भूख को मिटा मैं तुम्हे संतुष्ट करूंगा। वो बोली मेरी शादी होगी तो मेरे पति को पता नहीं चलेगा।

गरमा गर्म सेक्स कहानी  रजाई में बेटे ने चूचियाँ दबा दबा कर चोदा

तो मैंने उसको समझाया नहीं चलेगा पता मेरे ऊपर बिस्वास करो। और मैं उसको अपनी तरफ खींच लिया और उसको चूमने लगा। रात बहोत हो गई थी कुत्ते भौकने की आवाज आ रही थी बाहर कही कोई था नहीं एक कमरे में मैं और मेरी कामवाली ओह्ह्ह्हह्ह वो भी जवान और सेक्सी। मैंने तुरंत ही उसके चूचियों पर हाथ रखा और दबाने लगा वो सिहरन सी महसूस करने लगी। वो अंगड़ाइयां लेने लगी। मैं समझ गया वो अपनी अन्तर्वासना में डूब रही है वो कामुक हो गई है मैंने उसके सारे कपडे उतार दिए उसको बेड के ऊपर ले गया और चूचियों पीने लगा उसके होठ काटने लगे चूमने लगे। ओह्ह्ह्हह्हह बहुत ही हॉट और सेक्सी लग रही थी।

मैंने उसको टांगो को अलग अलग किया चूत को चीर कर देखा लाल लग रहा था। जवान वो भी वर्जिन चूत थी चूत के ऊपर छोटे छोटे बाल थे इसवजह से और भी हॉट लग रही थी। मेरा लंड बड़ा और मोटा हो गया था। मैंने अपने कपडे उतार और उसपर लेट गया चूचियां दबाता तो कभी होठ चूमता तो कभी अपना जीभ उसके मुँह में डालता वो उतावली हो गई थी उसको लंड चाहिए था। मैंने अपना लंड उसके मुँह में दे दिया शुरू के वो झिझक रही थी। पर बाद में वो अच्छे से लंड को चूसने लगी अब बारी थी उसके चूत में लंड घुसाने का।

मैंने दोनों टांगो को अलग अलग किया लंड का सुपाड़ा उसके चूत एक छेद पर लगाया और अपनी तरफ खींच लिया और जोर से धक्के दिया पूरा लंड अंदर चला गया पर वो जोर से चिल्ला उठी दर्द हो रहा है दर्द हो रहा है। मैंने उसको बूब्स को सहलाया और उसके होठ पर अपना ऊँगली रखकर बोला चिल्लाओं नहीं कोई सुन लेगा। वो धीरे से बोली दर्द हो रहा है। मैंने कहा अभी ठीक हो जाएगा। और मैं अंदर बाहर अपने लंड को करने लगा।

गरमा गर्म सेक्स कहानी  Gay Story : Pahli baar gaand marwaya

धीरे धीरे उसकी चूत काफी ज्यादा गीली हो गई और सफ़ेद मक्खन भी निकलने लगा। वो अपने गांड को हौले हौले से हिलाते हुए लंड को अंदर ले रही थी। अब उससे दर्द नहीं हो रहा था। मैंने कहा आई लव यू पुष्पा वो भी आई लव यू बोली। मैंने कहा आज के बाद तुम्हे किसी चीज की कमी नहीं होगी आज से तुम मेरी बीवी हो तुम अब मेरा ख्याल रखना और अपना पति मानना। वो बोली मैं बहुत पहले से ही आपको अपना पति मान चुकी थी बस सुहागरात आज मना रही हूँ। ये सुनकर मैं और भी गदगद हो गया।

फिर क्या था दोस्तों मैं उस रात खुद चोदा वर्जिन चूत चुदाई का मजा कुछ और ही होता है। मैंने पुष्पा को अलग अलग तरिके से खूब चुदाई की। उस दिन के बाद से पुष्पा मेरे बेड पर सोने लगी और हम दोनों पति पत्नी के तरह ही रोजाना चुदाई करने लगे। बहुत मजे में मेरी ज़िंदगी कट रही है। मैं जल्द ही आपको और भी सेक्स कहानियां सुनाऊंगा तब तक के लिए आपका शुक्रिया।