Home » Antarvasna Sex Stories » मैं सो रही थी गांड और चूत देखकर बेटे ने लंड घुसा दी

मैं सो रही थी गांड और चूत देखकर बेटे ने लंड घुसा दी

Ma Beta Sex Story, Mother Son Sex Kahani : मेरा नाम मालती है मैं 45 साल की औरत हूं। मेरे घर में मेरे अलावा मेरा एक बेटा रहता है जो कि पढ़ाई करता है। मेरे पति दुबई में नौकरी करते हैं तो वह साल में एक बार आते हैं। मैं मां बेटा दोनों बहुत खुश रहती हूं जिंदगी जीती हूं। किसी तरीके की कोई कमी नहीं है। जब खुशहाल जिंदगी होती है तो चेहरा भी जवान रहता है। जिस औरत को चिंता रहती है उसका चेहरा भी खराब हो जाता है और जवानी में वह बूढ़ी दिखने लगती है। जैसा कि मैंने पहले बताया कि मैं खुश रहती हूं तो मेरा शरीर भी जवान है सुंदर है और मैं स्वस्थ हूं।

मैं बहुत हॉट और सेक्सी औरत हूं अगर किसी चीज की कमी है तो मेरा पति मेरे साथ नहीं रहता है और मैं साल भर लंड का इंतजार करते रहती हूं। और जब मेरा पति आता है तक मेरी चूत की गर्मी शांत होती है। जब तक मेरे पति मेरे साथ नहीं रहते तब मैं रोजाना नॉनवेज स्टोरी पर कहानियां पढ़ती हूं और अपनी चूत को सहला कर अपनी चुचियों को खुद ही दबा कर सो जाती हो। पर मेरे से 1 दिन गलती हो गई एक दिन मैं नॉनवेज पर कहानियां पढ़ कर। अपने चूत को और गांड को सहला कर सो गई। उस दिन मैं बुरा भी नहीं पहनी थी और पहनती भी नहीं पहनी थी अक्सर में रात को ब्रा और पेंटी के बिना ही सोती हूं ताकि अपने जिस्म को अपने अंगों को अपनी उंगलियों से छेड़ सकूं। और आनंद ले सके जब तक कहानियां पढ़ती हो तब तक मैं अपने जिस्म को सहलाते रहती हूँ। तो ऐसा आदत हो गया है।

गलती से मेरा कपड़ा ऊपर ही रह गया मेरी गांड और चूत दोनों खुला ही छूट गया था। जैसा कि आप फोटो में देख रहे हैं। उस दिन मेरा बेटा अपने दोस्त के जन्मदिन के पार्टी में गया था तो वह बोल कर गया कि मैं लेट आऊंगा। और वह मुझे खाना खाकर सो जाने को बोल कर चला गया था शाम को 5:00 बजे ही। मैं रात का खाना खा कर आराम से सो गई जैसा कि मैं पहले बताएं हम अपने जिस्म को शांत करके। मैं मेन दरवाजा खुल कर ही रखी थी ताकि वह जब भी घर में आए तो आराम से आ जाए मुझे उठना नहीं पड़े।

गरमा गर्म सेक्स कहानी  पति से नहीं किसी और से चुदने का मन करता है

रात को मेरा बेटा करीब 1:00 बजे आया था उसने शराब भी पी लिया था। जब वह मेरे बेडरूम में झांक कर देखा तो मैं सो चुकी थी। पर मेरे गांड और चूत दोनों खुला था इसलिए साफ साफ दिखाई दे रहा था। मैं हमेशा कमरे में लाइट जला कर सोती हूं। मेरे बेटे से रहा नहीं गया और उसने अपना लंड निकाल कर मेरे चूत के छेद पर रखा और जोर से धक्का देकर अपना पूरा 9 इंच का लंड मेरी चूत में घुसा दिया। जैसे उसका मोटा लंड में चूत के अंदर गया मैं नींद से एकदम जाग गई और बैठ गई।

मैं अपने बेटे से पूछे तुम यह क्या कर रहे हो कोई अपनी मां को ऐसा करता है क्या मैं नींद में सो रही थी। तो मेरा बेटा बोला तो ऐसी कौन सी मां है जो अपनी चूत और अपनी गांड को खुला छोड़कर सोती है और मोबाइल में देख लो नॉनवेज story.com खुला हुआ है इसका मतलब यह है कि आप कहानियां पढ़ते हो। और आप जब ऐसे गांड और चूत को खुला छोड़ोगे तो किसको बर्दाश्त होगा। अगर मैं नहीं होता कोई और भी होता तो अपना लंड निकाल कर आप के गांड में घुसा देता।

मैंने भी वही किया आपकी गांड में तो नहीं घुस आया और आपके चूत में अपना मोटा लंड घुसा दिया। मेरा बेटा बोला मम्मी मुझे मत रोको मुझे चोदने दो। आपका रूप आपका फ्रेंड आपका शरीर हॉट और सेक्सी है। आपकी भी जवानी धीरे-धीरे डाल रही है पापा तो 1 साल में आते हैं। आप मुझे खुश किया करो मैं भी आपको खुश किया करूंगा। आप मुझे चूत मारने दो। अगर आप नहीं चूत मारने दोगे तो मैं घर से चला जाऊंगा फिर कभी नहीं आऊंगा। इतना सुनकर मुझे डर लगने लगा कि कहीं मेरा जवान बेटा घर से वापस चला गया और नहीं आया तो मेरी जिंदगी में खुशियां की जगह अंधकार छा जाएगी इस वजह से मैंने उसको नहीं रोका।

गरमा गर्म सेक्स कहानी  मेरी माँ की करतूत मुझे पापा के पास चुदने के लिए भेजा

हाथ पकड़ के उसको बेड पर बैठाया और उसके होंठ को चूमने लगी। मेरा बेटा मेरी नाइटी को ऊपर से निकाल दिया और मेरे चूत को सहलाने हुए मेरे चुचियों को अपने मुंह में लेकर पीने लगा। धीरे-धीरे मेरे मुंह से सिसकारियां निकलने लगी मैं अंगड़ाइयां लेने लगी मैं लेट गई बेड पर चडगया बेड पर दोनों को अलग-अलग करके। मेरी चूत में अपना उंगली डालने लगा और मेरे चुचियों को दबोचते हुए निप्पल को दबाने लगा। इसे मैं और भी ज्यादा काम हो गई और अपने आप को बर्दाश्त नहीं कर पाई मैं तुरंत अपने बेटे का लंड लेकर मुंह में ले ली और चूसने लगी। 9 इंच का है।

करीब 10 मिनट तक मैं उसके लैंड को चुस्ती रही थी। उसके बाद मैंने उसको अपनी चूत में लंड के लिए आमंत्रित की। उसने मेरे दोनों पैर को अलग-अलग गया अपना लंड मेरी चूत के छेद पर लगाया और जोर से घुसा दिया। जैसे ही उसका लंड मेरी चूत के अंदर गया मैं अंगड़ाइयां देने लगे गांड को गोल गोल घुमाने लगी। मेरा बेटा मुझे चोदने लगा मेरी चूचियों को दबाने लगा। लैंड को अंदर बाहर करने लगा।  जिससे मैं और भी ज्यादा कामुक हो गई। और अपने हाथों से खुद चुचियों को पकड़कर मचलने लगी अपने होंठ को अपने दांतों से काटने लगी और अपने बेटे को बाहों में भर के चूतड़ को उछाल उछाल कर चुदवाने लगी।

उसका मोटा लंड जैसे ही मेरी चूत के अंदर तक जाता मेरे अंदर से आग धधक जाती मैं अपने बेटे को कहते जोर से चोदो जोर से चोदो। मेरे मुंह से चोदने की बात सुनकर मेरे बेटे और भी ज्यादा जोर जोर से धक्के दे देकर मुझे चोदने लगा। उसके बाद मैं अपने बेटे को कामसूत्र के 23 पोजीशन बताये। फिर हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए वह मेरी चूत को चाटते था मैं उसके लैंड को चुस्ती थी। फिर मुझे चुदाई करता था। उसने मुझे घोड़ी बनाकर करीब 15 मिनट तक जोर-जोर से 14 मेरे चूतड़ पर जोर जोर से वह थप्पड़ मारता था और अपना लंड अंदर बाहर करता था।

उस समय मेरे दोनों बड़ी-बड़ी चूचियां फुटबॉल की तरह हिलती थी। करीब 2 घंटे तक उसने मुझे चोदा फिर अपना सारा माल मेरे चूत के अंदर ही छोड़ दिया। हम दोनों नंगे ही सो गए एक दूसरे को पकड़कर वह पूरी रात मेरे चूत को मेरे चुचियों को मसलता रहा और मेरे होंठ को चूमता रहा। उस दिन के बाद से हम दोनों के रिश्ते ही बदल गए। अब ना मुझे अपने पति का इंतजार है ना मेरे बेटे को दिन-रात लड़कियों के पीछे भागने की जरूरत है। हम दोनों अपने घर में खुश हैं दुनिया वाले को लगता है हम दोनों मां बेटे बहुत खुश हैं। और हां दोस्तों हम दोनों सच में बहुत खुश हैं हमें वह सब मिल रहा है जिसकी चाहे एक जवान औरत को होती है और एक जवान लड़के को होता है।

गरमा गर्म सेक्स कहानी  पति से चुदाई का मजा नहीं आ रहा था तभी मैंने ये कदम उठाया

मैं दूसरी कहानी जल्द ही नॉनवेज स्टोरी पर लिखने वाले हो तब तक के लिए आपका शुक्रिया मेरी कहानी पढ़ने के लिए।